Home /News /tech /

4 जनवरी 2022 से नहीं चलेंगे ये स्मार्टफोन, जानें कौन से हैं वह फोन और क्या है वजह

4 जनवरी 2022 से नहीं चलेंगे ये स्मार्टफोन, जानें कौन से हैं वह फोन और क्या है वजह

ब्लैकबेरी फोन के लिए सपोर्ट बंद कर रही है.

ब्लैकबेरी फोन के लिए सपोर्ट बंद कर रही है.

अभी तक ब्लैकबेरी के पुराने स्मार्टफोन पर कंपनी अभी तक सपोर्ट दे रही थी, लेकिन अब कंपनी अपने पुराने स्मार्टफोन पर सपोर्ट देना बंद कर रही है. अब कंपनी अपने पुराने सॉफ्टवेयर पर चलने वाले स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को चेतावनी जारी किया है कि जो अभी भी उन सॉफ्टवेयर पर स्मार्टफोन पर चला रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

    भले ही आज iPhone को स्टेटस सिंबल की तरह देखा जाता हो, लेकिन 2000 की शुरुआत में कुछ ऐसा ही धाक ब्लैकबेरी के स्मार्टफोन का था. उस समय शायद ब्लैकबेरी ही सबसे अच्छा स्मार्टफोन माना जाता था जो किसी को भी मिल सकता था. हालांकि अभी तक ब्लैकबेरी (Blackberry) के पुराने स्मार्टफोन पर कंपनी अभी तक सपोर्ट दे रही थी, लेकिन अब कंपनी अपने पुराने स्मार्टफोन पर सपोर्ट देना बंद कर रही है. अब कंपनी अपने पुराने सॉफ्टवेयर पर चलने वाले स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को चेतावनी जारी किया है कि जो अभी भी उन सॉफ्टवेयर पर स्मार्टफोन पर चला रहे हैं. हम आपको बताएंगे कि कंपनी ने किन किन मॉडल्स पर सपोर्ट देना बंद कर दिया है.

    इन मॉडल्स पर बंद हो जाएगा सपोर्ट: कंपनी ने गुरुवार को आधिकारिक रूप से घोषणा करते हुए कहा कि कंपनी अब ब्लैकबेरी OS, 7.1 OS, प्लेबुक ओएस 2.1 सीरीज और ब्लैकबेरी 10 पर चलने वाले स्मार्टफोन पर सपोर्ट को बंद करने जा रही है. इसके साथ ही कंपनी ने इन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स को चेतावनी दी है कि इन सॉफ्टवर्स के लिए अब अपडेट देना बंद कर रही है.

    (ये भी पढ़ें- पहले से भी सस्ता मिल रहा है Xiaomi का 6000mAh बैटरी वाला पावरफुल फोन, मिलेगी 6GB RAM)

    ताकि इन डिवाइस का कैरियर या वाई-फाई अभी भी फंक्शनल रहे. जिसके चलते शायद इन स्मार्टफोन पर कॉल्स, सेलुलर डेटा, SMS और इमरजेंसी कॉल जैसे बेसिक फंक्शन भी कम करना बंद कर दे. कंपनी इन मॉडल्स पर आधिकारिक तौर पर 4 जनवरी 2022 से सपोर्ट बंद कर देगी.

    क्या होगा ब्लैकबेरी एंड्रायड डिवाइस का…
    हालांकि कंपनी ने ये साफ कर दिया कि उसके डिवाइस जो एंड्रायड पर काम करते हैं. वो आगे से सपोर्ट प्राप्त करते रहेंगे. कंपनी ने बिना एंड्रायड डिवाइस यूज़र्स के लिए एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि, एक रिमाइंडर के तौर पर हम बता रहे हैं कि कुछ बेसिक सर्विसेज जैसे कि ब्लैकबेरी ओएस, 7.1 ओएस, प्लेबुक ओएस 2.1 सीरीज और ब्लैकबेरी 10 पर आगे से सपोर्ट बंद कर रही है, जिससे कि इन डिवाइस के जरिए कॉल, SMS, इमरजेंसी कॉल जैसी सुविधाएं बंद हो सकती है.

    क्या Apple ने ब्लैकबेरी को पीछे धकेला
    जब 2007 में ऐपल ने निश्चित रूप से स्मार्टफोन इंडस्ट्री को बदल दिया था, कई स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों को विश्वास नहीं था कि ऐपल स्मार्टफोन इंडस्ट्री पर इतना प्रभाव डालेगा. खुद रिम जो कि ब्लैकबेरी को मैन्युफैक्चर करती है, उनके अधिकारियों ने ये कहते हुए टच स्मार्टफोन का मजाक उड़ाया था कि कस्टमर इतना जल्दी बिना की-पैड और वर्चुअल कीबोर्ड वाले स्मार्टफोन पर विश्वास नहीं जताएंगे.

    (ये भी पढ़ें- Apple, सैमसंग से लेकर OnePlus तक, 2022 में आने के लिए तैयार है ये बेहतरीन स्मार्टफोन, देखें लिस्ट)

    नवंबर 2007 में ब्लैकबेरी के संस्थापक माइक लेज़रिडिस ने iPhone पर कहा था कि, ‘आप ऐपल iPhone के टचस्क्रीन पर वेब कीबोर्ड पर टाइप करने का प्रयास करें. ये एक चुनौती है, क्योंकि आप ये नहीं देख सकते कि आप टाइप क्या कर रहे है’.

    टचस्क्रीन स्मार्टफोन ने बदल दी दुनिया
    लेकिन हुआ इसके उलट जल्दी ही यूजर्स ने टचस्क्रीन स्मार्टफोन को अपनाना शुरू किया और iPhone दुनिया भर में छा गई. iPhone के शुरुवात के बाद ही ब्लैकबेरी की मार्केट वैल्यू काफी कम हो गई और अंत में कंपनी ने अपनी प्रासंगिकता खो दी.

    जब दूसरे ब्रांड जैसे कि सैमसंग और आदि ने मार्केट में बने रहने के लिए टचस्क्रीन स्मार्टफोन पर स्विच हुए, लेकिन ब्लैकबेरी अपने पुराने स्मार्टफोन के साथ ही मार्केट में बने रहने का सोचा और तब तक वापसी के लिए काफी देर हो चुकी थी. अगर आप एंड्रायड ब्लैकबेरी स्मार्टफोन का भी इस्तेमाल कर रहे है तो जल्दी ही अपने फोन के डेटा का बैकअप ज़रूर ले लें.

    Tags: Apple, Black, Iphone, Redmi, Xiaomi, Xiaomi Redmi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर