• Home
  • »
  • News
  • »
  • tech
  • »
  • KOO APP FULFILLS ALL REQUIREMENTS OF INTERMEDIARIES GUIDELINES AHEAD OF SCHEDULE KNOW EVERYTHING ACHS

Koo App ने तय समय से पहले पूरा कीं केंद्र की इंटरमीडियरीज गाइंडलाइंस की सभी जरूरतें, जानें सबकुछ

कू ऐप ने केंद्र की ओर से सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स के लिए जारी किए गए दिशानिर्देशों को समयसीमा से पहले पूरा कर लिया है.

भारतीय माइक्रो-ब्‍लॉगिंग प्‍लेटफॉर्म कू (Koo) के मुताबिक, केंद्र सरकार (Central Government) ने 25 फरवरी 2021 को नए सोशल मीडिया दिशानिर्देश जारी किए थे. इनका अनुपालन 25 मई 2021 तक करना था, जो उसने समय से पहले ही कर लिया है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. भारतीय माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म 'कू' (Koo) ने कहा कि उसने सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय (IT Ministry) की ओर से तय की गई 25 मई 2021 की समयसीमा (Deadline) से पहले ही नए मध्यस्थ दिशानिर्देशों (Intermediary Guidelines) के तहत सभी जरूरतों को पूरा कर लिया है. मंत्रालय ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को इंफॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी (इंटरमीडियरी गाइडलाइंस एंड डिजिटल मीडिया एथिक्‍स कोड) रूल्‍स, 2021 का पालन करने के लिए कहा था. साथ ही कहा था कि इसमें चूक होने पर प्‍लेटफॉर्म के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. कू ने कहा कि इसके करीब 60 लाख डाउनलोड हैं, जो इसे एक प्रमुख सोशल मीडिया मध्यस्थ बनाते हैं.

    कू ने यूजर्स की शिकायतों के समाधान के लिए बनाया सिस्‍टम
    Koo के सह-संस्थापक और सीईओ अप्रमेय राधाकृष्ण के मुताबिक, केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से 25 फरवरी 2021 को प्रकाशित नए सोशल मीडिया दिशानिर्देशों का अनुपालन स्पष्ट रूप से दिखाता है कि भारतीय सोशल मीडिया प्लेयर्स का देश में फलना-फूलना क्यों महत्वपूर्ण है. कू की प्राइवेसी पॉलिसी, इस्‍तेमाल की शर्तें और कम्‍युनिटी गाइडलाइंस से स्‍पष्‍ट होता है कि बाकी बड़े सोशल मीडिया इंटरमीडियरीज की ही तरह उसने भी सभी नियम लागू किए हैं. यही नहीं, कू ने मुख्य अनुपालन अधिकारी, नोडल अधिकारी और शिकायत अधिकारी के जरिये शिकायत निवारण तंत्र की व्‍यवस्‍था भी लागू की है.

    ये भी पढ़ें- Tata Steel ने दिखाया बड़ा दिल! कोरोना से हुई कर्मचारी की मौत तो परिवार को रिटायरमेंट तक हर महीने मिलता रहेगा वेतन

    कू के पास नए दिशानिर्देशों को लागू करने के लिए थे 3 महीने
    कू के सह-संस्थापक मयंक बिदावत्‍का (Mayank Bidawatka) ने बताया कि हमारे पास नए दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए 3 महीने का समय था. ऐसे में हमने कैंडिडेट्स का इंटरव्‍यू लिया और अपनी टीम में से ही अनुभवी सहयोगियों की पहचान कर उन्‍हें जिम्‍मदारियां दीं. वे पहले से ही हमारी मौजूद प्रणालियों से परिचित हैं. वे भविष्‍य की योजनाओं को लागू करने के लिए सबसे बेहतर व्‍यक्ति साबित होंगे. मंत्रालय ने 25 फरवरी 2021 को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के लिए नए मध्यस्थ दिशानिर्देश नियमों के मसौदे की घोषणा की थी. नए नियमों के मुताबिक, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को सरकार के निर्देश या कानूनी आदेश के बाद 36 घंटे के अंदर आपत्तिजनक कंटेंट हटाना होगा. साथ ही सोशल मीडिया इंटरमीडियरीज को यूजर्स से शिकायतें मिलने पर उनका समाधान करने के लिए शिकायत निवारण तंत्र बनाना होगा.