Twitter विवाद के बीच KOO की लोकप्रियता बढ़ी, 30 लाख के पार हुई यूजर्स की संख्या

कू को देसी ट्विटर कहा जा रहा है.

कू को देसी ट्विटर कहा जा रहा है.

आईटी मंत्रालय और पीयूष गोयल जैसे कुछ मंत्रियों ने लोगों से कू (KOO) को अपनाने की अपील की, जिसके चलते इसके यूजर्स की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है.

  • भाषा
  • Last Updated: February 18, 2021, 10:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) को लेकर बढ़ते विवाद के बीच स्वदेशी सोशल मीडिया ऐप कू (KOO) को केंद्र सरकार के मंत्रियों और सरकारी विभागों का समर्थन मिलने के चलते उसके यूजर्स की संख्या तेजी से बढ़ रही है. कू ऐप के डाउनलोड इस हफ्ते 10 गुना बढ़ गए हैं और अब इसके 30 लाख से अधिक यूजर्स हो गए हैं.

आईटी मंत्रालय ने ट्विटर के बारे में अपना रुख बताने के लिए कू का इस्तेमाल किया है. मंत्रालय ने ट्विटर से कई कथित भड़काऊ सामग्री को वापस लेने का आदेश दिया था, जिसका ट्विटर ने अभी पूरी तरह पालन नहीं किया. आईटी मंत्रालय और पीयूष गोयल जैसे कुछ मंत्रियों ने लोगों से कू को अपनाने की अपील की, जिसके चलते इसके यूजर्स की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है.

ये भी पढ़ें- Exclusive: Paytm में जुड़ा नया फीचर, क्रेडिट कार्ड बिल पेमेंट करना हुआ और आसान

30 लाख का आंकड़ा पार
कू के को फाउंडर मयंक बिदावत ने बताया, ''हमारे पास लगभग 15 लाख सक्रिय यूजर्स सहित कुल 20 लाख से अधिक यूजर्स थे. अब हमने 30 लाख का आंकड़ा पार कर लिया है.'' बता दें कि ट्विटर के 1.75 करोड़ यूजर्स हैं.

दिलचस्प बात यह है कि कू के को फाउंडर अप्रमेय राधाकृष्ण ने इस प्लेटफॉर्म की बढ़ती लोकप्रियता के बारे में बताने के लिए ट्विटर का इस्तेमाल किया और लिखा, ''हमारे सिस्टम पहले से अधिक लोड का सामना कर रहे हैं. हम पर भरोसा रखने के लिए धन्यवाद. हमारी टीम इसे ठीक करने के लिए काम कर रही है.''

अप्रमेय राधाकृष्ण और मयंक बिदावत ने शुरू की थी KOO



अप्रमेय राधाकृष्ण और मयंक बिदावत ने पिछले साल कू की शुरुआत की थी, ताकि यूजर्स को अपनी बात कहने और भारतीय भाषाओं के प्लेटफॉर्म के साथ जुड़ने का अवसर मिल सके. यह हिंदी, तेलुगु और बंगाली सहित कई भाषाओं में उपलब्ध है.

ये भी पढ़ें- तैयार हो गया देश का पहला CNG ट्रैक्टर, कल होगा लॉन्च, किसानों की होगी 50 फीसदी तक बचत

KOO में मोहनदास पई ने किया है निवेश

कू इंफोसिस के पूर्व कार्यकारी टीवी मोहनदास पई द्वारा समर्थित है. इसने पिछले हफ्ते एक्सल, कलारी कैपिटल, ब्लूम वेंचर्स एंड ड्रीम इनक्यूबेटर और थ्रीवनफोर कैपिटल से 41 लाख अमरीकी डॉलर जुटाए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज