Lenovo का स्मार्ट माउस, वॉइस रिकग्निशन के साथ करेगा रियल टाइम ट्रांसलेशन

स्मार्ट माउस का वॉइस इनपुट चाइनीज और इंग्लिश को सपॉर्ट करता है. अगर ट्रांसलेशन की बात करें तो स्मार्ट माउस इंग्लिश ट्रांसलेशन, चाइनीज टू इंग्लिश, फ्रेंच, जापानीज, जर्मन और दूसरी 26 लैंग्वेज को सपॉर्ट करता है.

News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 6:34 PM IST
Lenovo का स्मार्ट माउस, वॉइस रिकग्निशन के साथ करेगा रियल टाइम ट्रांसलेशन
यह स्मार्ट माउस वॉइस इनपुट, रियल टाइम ट्रांसलेशन और वॉइस कंट्रोल को सपोर्ट करता है.
News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 6:34 PM IST
चीन की कंपनी लेनोवो ने अपने एक नए प्रोडक्ट के बारे में घोषणा की है. यह प्रोडक्ट एक स्मार्ट माउस है जिसमें वॉइस कंट्रोल फीचर है. यह स्मार्ट माउस वॉइस इनपुट, रियल टाइम ट्रांसलेशन और वॉइस कंट्रोल को सपोर्ट करता है. इस माउस की कीमत 299 युआन यानी करीब 3000 रुपये है.

कई भाषाओं को करता है सपोर्ट-
स्मार्ट माउस का वॉइस इनपुट चाइनीज और इंग्लिश को सपॉर्ट करता है. अगर ट्रांसलेशन की बात करें तो स्मार्ट माउस इंग्लिश ट्रांसलेशन, चाइनीज टू इंग्लिश, फ्रेंच, जापानीज, जर्मन और दूसरी 26 लैंग्वेज को सपॉर्ट करता है. इसके फीचर आपको वॉइस इनपुट, इंग्लिश ट्रांसलेशन, वॉइस कंट्रोल और दूसरे फंक्शंस में मदद करते हैं. लेनोवो का यह स्मार्ट माउस आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस क्लाउड सर्विस प्लैटफॉर्म के साथ साथ स्मार्ट माउस डीप लर्निंग का भी इस्तेमाल करता है. इसकी मदद से यह रिकग्निशन एक्यूरेसी, एप्लीकेशन फील्ड और कंट्रोल फंक्शन को बेहतर बनाता है. (ये भी पढ़ें-सावधान! फोन अपडेट करने का दावा कर ये Fake ऐप मांग रही है पैसे, 1 करोड़ लोगों ने किया डाउनलोड)



लकड़ी, ग्लास जैसे किसी भी सरफेस पर कर सकते हैं इस्तेमाल-
इस माउस को लकड़ी, ग्लास, क्लाथ और दूसरे सरफेस पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है. इसमें ब्लू लाइट पोजिशनिंग टेक्नॉलजी का इस्तेमाल किया गया है. ट्रेडिशनल फोटोइलेक्ट्रिक और लेजर टेक्नॉलजी के मुकाबले इसमें कहीं बेहतर ट्रैकिंग और पोजिशनिंग इफेक्ट हैं. इस स्मार्ट माउस का साइज 110x61x32mm है. इस माउस की बाहरी केसिंग ABS मैटीरियल की बनी है. इसमें मेटल टेक्स्चर और स्किन फ्रैंडली कोटिंग दी गई है.

(ये भी पढ़ें- बिना टाइप किए फोन में WhatsApp नंबर करें Save, आया नया तरीका)
Loading...

(ये भी पढ़ें-सावधान! फोन अपडेट करने का दावा कर ये Fake ऐप मांग रही है पैसे, 1 करोड़ लोगों ने किया डाउनलोड)
First published: July 6, 2019, 6:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...