Chandrayaan-2 की लैंडिंग का गवाह बनने वाली लखनऊ की बेटी PM मोदी से पूछेगी ये सवाल

चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) की चंद्रमा पर लैडिंग के ऐतिहासिक पल की गवाह लखनऊ की बेटी राशि वर्मा भी बनेगी. वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के साथ बेंगलुरू में इसरो (ISRO) से चंद्रयान-2 की लाइव लैडिंग का नजारा देखेगी. राशि ने इस पल के लिए विशेष तैयारी भी कर रखी है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 6, 2019, 4:50 PM IST
Chandrayaan-2 की लैंडिंग का गवाह बनने वाली लखनऊ की बेटी PM मोदी से पूछेगी ये सवाल
चंद्रयान 2 चंद्रमा पर लैडिंग के ऐतिहासिक पल की गवाह बनेगी लखनऊ की बेटी राशि वर्मा.
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 6, 2019, 4:50 PM IST
लखनऊ. चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) की चंद्रमा पर लैडिंग के ऐतिहासिक पल की गवाह लखनऊ की बेटी राशि वर्मा भी बनेगी. वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के साथ बेंगलुरू में इसरो (ISRO) से चंद्रयान-2 की लाइव लैडिंग का नजारा देखेगी. राशि ने इस ऐतिहासिक पल के लिए विशेष तैयारी भी कर रखी है. उसने विशेष तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए सवालों की लिस्ट तैयार की है.

न्यूज़ 18 से खास बातचीत में राशि ने बताया जब स्कूल में इस ऑनलाइन एग्जाम के बारे में बताया गया तो वह इस एग्जाम को लेकर कुछ खास इंटरेस्टेड नही थी. लेकिन जब स्कूल में इसरो, नासा सैटेलाइट पर बनी डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई तो इसमें मेरी रुचि जगी ओर मैंने इस ऑनलाइन क्विज़ परीक्षा को देने का फैसला किया. राशि बताती हैं कि इसके लिए मैंने 4 दिन अलग से खूब पढ़ाई की और परीक्षा में जटिल प्रश्न होते हुए भी 6 मिनट में परीक्षा खत्म कर दी.

परीक्षा तो अच्छी हुई थी और रिजल्ट आया तो मेरा सेलेक्शन हो गया था. वह काफी खुशी थी ये खुशी और दोगुनी हो गई जब पता चला कि पीएम नरेंद्र मोदी से सीधे रूबरू होने का मौका मिल जाएगा. उसे इसकी उम्मीद बिल्कुल नहीं थी. सात सितंबर को 1:55 बजे चंद्रयान-2 मिशन की चंद्रमा पर लैडिंग होगी. जिसकी तैयारी राशि ने पूरी कर ली है. राशि अपने पिता राजकुमार वर्मा के साथ बैंगलोर के लिए रवाना हो गई हैं.
राजधानी लखनऊ के जानकीपुरम में रहने वाली राशि वर्मा यहां दिल्ली पब्लिक स्कूल की कक्षा 10वीं की छात्रा हैं. ऑनलाइन परीक्षा में कक्षा नौ से 12 तक के 150 बच्चों ने हिस्सा लिया था, जिसमें राशि भी शामिल थी. स्पेस से जुड़े सवाल पूछे गए थे.

बाद में इसरो ने ईमेल भेजकर राशि को सिलेक्शन की जानकारी दी. पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन थी. दस मिनट में 20 प्रश्नों के जवाब देने थे. सभी प्रश्न स्पेस से जुड़े थे. राशि ने इन्हें आसानी से 6 से 7 मिनट में हल कर दिया था. राशि को लगता था कि प्रतियोगिता में चयन के बाद सिर्फ सर्टिफिकेट मिलेगा, अब सीधे पीएम से मुलाकात के साथ चंद्रयान-दो की सफलता का भी गवाह बनने का मौका मिलेगा, इसको लेकर राशि बेहद खुश है.

परिवार में भी खुशी का माहौल है. राशि अपने माता-पिता की इकलौती बेटी है. पिता राजकुमार वर्मा किसान हैं. मां सीमा देवी उत्तर प्रदेश सरकार के बेसिक शिक्षा विभाग के प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक हैं. भविष्य में राशि आईएएस बनकर देश व समाज की सेवा करना चाहती है. राशि यह भी बताती है कि अगर उन्हें पीएम मोदी से मिलने के दौरान सवाल पूछने का मौका मिला तो वह उनसे सवाल करेंगी कि आप इतना सारा काम कैसे करते हैं? और आप इतना फिट कैसे रहते हैं? वह प्रधानमंत्री जी से टाइम मैनेजमेंट के बारे में भी पूछना चाहेंगी. राशि का मानना है कि PM की फिटनेस से उनकी उम्र का सही अंदाजा नहीं लगता है.

(रिपोर्ट: प्रशांत पांडेय)
Loading...

ये भी पढ़ें:

Chandrayaan-2 की चांद पर लैंडिंग: PM मोदी के साथ लखनऊ की ये बेटी भी बनेगी ऐतिहासिक पल की गवाह

सपा सांसद आज़म खान और उनकी पत्नी पर बिजली चोरी का केस दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2019, 11:28 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...