लाइव टीवी

भारत में शुरू हुई iPhone XR की मैन्युफैक्चरिंग, तो क्या सस्ता हो जाएगा फोन!

News18Hindi
Updated: October 22, 2019, 12:34 PM IST
भारत में शुरू हुई iPhone XR की मैन्युफैक्चरिंग, तो क्या सस्ता हो जाएगा फोन!
कई हफ्तों के ट्रायल के बाद iPhone XR की मैन्युफैक्चरिंग भारत में आधिकारिक रूप से शुरू हो गई है.

भारत स्मार्टफोन की दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी मार्केट है. इसलिए कंपनी (Apple) अपने बिज़नेस को यहां बढ़ाना चाहती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 22, 2019, 12:34 PM IST
  • Share this:
Apple ने अपने काफी पॉपुलर फोन आईफोन एक्सआर (iPhone XR) का प्रोडक्शन भारत में शुरू कर दिया है. भारत स्मार्टफोन की दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी मार्केट है. इसलिए कंपनी अपने बिज़नेस को यहां बढ़ाना चाहती है. चूंकि भारत में तमाम सस्ते फोन की कंपनियों ने भी पैर जमा रखा है इसलिए ऐप्पल को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है.

भारत में फोन को एसेंबल करने से कंपनी को दो फायदे होंगे. एक तो आयात (Import) करने पर भारी ड्यूटी से छूट मिलेगी, दूसरा भारत में अपना रिटेल स्टोर खोलने के लिए जरूरी लोकल आउटसोर्सिंग नॉर्म्स को पूरा करने में भी मदद मिलेगी.

कहा जा रहा है कि ऐप्पल के एक्सआर मॉडल का प्रोडक्शन चेन्नई में हो रहा है. ऐप्पल ने कन्फर्म किया है कि कंपनी अपने प्रोडक्ट्स की कीमत नहीं बढ़ाएगी. ऐप्पल ताईवान, वियतनाम, मेक्सिको, इंडोनेशिया और मलेशिया जैसे देशों में भी मैन्युफैचरिंग प्लांट लगाने की तैयारी में है.

लाइवमिंट की खबर के मुताबिक सोमवार को देश के कुछ इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट रिटेलर के पास "Assembled in India" टैग के साथ iPhone XR के बॉक्स दिखे. सैमसंग (Samsung) और वन प्लस (OnePlus) के साथ कॉम्पटीशन को देखते हुए कंपनी ने iPhone XR की कीमत में कटौती कर दी है.

दरअसल, iPhone XR को पिछले साल iPhone XS और iPhone XS Max के साथ ही लॉन्च किया गया था. इसमें भी बाकी के फीचर्स वैसे ही हैं लेकिन स्क्रीन का रिज़ोल्यूशन तुलनात्मक रूप से कम है. इसमें OLED के बजाय LCD का प्रयोग किया गया था. लॉन्च के वक्त इसकी कीमत 76,900 रुपये थी लेकिन इस वक्त इसकी कीमत 44,900 रुपये है.

कुछ रिपोर्ट के मुताबिक ऐप्पल iPhone 11 सीरीज़ की भी मैन्युफैक्चरिंग शुरू कर सकता है. कयास लगाए जा रहे हैं कि इससे आईफोन की कीमत कम हो सकती है. लेकिन ऐसा ज़रूरी नहीं है क्योंकि यहां के बने हुए फोन को सिर्फ इंडिया में ही नहीं बेचा जाएगा बल्कि एक्सपोर्ट भी किया जाएगा.

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी की भी कोशिश है कि दक्षिण एशिया की तीसरी सबसे बड़ी इकोनमी भारत को स्मार्टफोन मैन्युफैक्चरिंग का हब बनाना चाहते हैं. बता दें कि कंपनियां भी भारत को अपना एक्सपोर्ट हब बनाना चाहती हैं क्योंकि चीन के साथ जिस तरह का ट्रेड वॉर चल रहा है उसके प्रभाव को भी कम करने के लिए कंपनियां भारत को एक बड़े मार्केट के रूप में देखती हैं.
Loading...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गैजेट्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 12:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...