Facebook कैसे जानता है आपने आखिरी बार कब किया Sex, रिपोर्ट में खुलासा

News18Hindi
Updated: September 11, 2019, 4:23 PM IST
Facebook कैसे जानता है आपने आखिरी बार कब किया Sex, रिपोर्ट में खुलासा
फेसबुक (Facebook) को यह पता है कि आपने आखिरी बार कब सेक्स किया या फिर कब गर्भनिरोधक का इस्तेमाल किया. जानें ऐसा कैसे है....

फेसबुक (Facebook) को यह पता है कि आपने आखिरी बार कब सेक्स किया या फिर कब गर्भनिरोधक का इस्तेमाल किया. जानें ऐसा कैसे है....

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 11, 2019, 4:23 PM IST
  • Share this:
सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (Social Media Platform) के ज़रिए हमें अपनी ज़िन्दगी के कई कामों में मदद तो मिलती है, मगर इससे हमारी प्राइवेसी (Privacy) भी खतरे में रहती है. अगर फेसबुक (Facebook) की बात करें कि वह आपके सीक्रेट्स किस हद तक जानता है, तो आप हैरान रह जाएंगे. ऐसा इसलिए क्योंकि फेसबुक को यह पता है कि आपने आखिरी बार कब सेक्स किया या फिर कब गर्भनिरोधक का इस्तेमाल किया.

हाल ही में आई स्टडी में खुलासा हुआ है कि फेसबुक ट्रैकर ऐप्लिकेशन फेसबुक से आपका सारा सेंसिटिव डेटा शेयर कर रहा है. बज़फीड पर छपी रिपोर्ट के मुताबिक, प्राइवेसी इंटरनेशनल की हाल में की गई एक रिसर्च में पाया गया कि महिलाओं के पीरियड को ट्रैक करने वाले दो सबसे पॉपुलर ऐप Maya और MIA ने फेसबुक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट किट के ज़रिए थर्ड पार्टी ऐप्स और वेबसाइट्स के साथ अपने यूज़र्स की निजी जानकारियों को शेयर किया है.



ये पीरियड ट्रैकर ऐप्स महिलाओं को उनके  Period साइकल ट्रैक करने में मदद करते हैं. इन ऐप्स को महिलाएं गर्भ धारण करने का सही समय जानने के लिए भी इस्तेमाल करती हैं.

यूज़र्स का डेटा
रिसर्चर्स ने बताया कि इन ऐप्स के डेवलपर्स फेसबुक के सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट किट के ज़रिए ऐप्स के कुछ खास फीचर्स को अपडेट करते हैं, जिससे वह यूज़र्स का डेटा इकट्ठा करते थे. वह इससे कलेक्ट किए गए डेटा को फेसबुक के साथ शेयर करते थे ताकि वह उन यूजर्स को टारगेट कर विज्ञापन दिखा सकें.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इन ऐप्स में जैसे ही यूज़र अपनी निजी जानकारियां इंटर करते, वैसे ही उनकी सभी डिटेल्स को सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट किट के ज़रिए सीधे फेसबुक को भेजी जा रही थी.
Loading...

(News18/Mir Suhail)


 यूजर्स के मूड के हिसाब से ऐड
बज़फीड में ये भी बताया गया है कि Maya ऐप कथित तौर पर यूज़र्स के प्राइवेसी पॉलिसी के लिए एग्री किए जाने से पहले ही उनकी डिटेल फेसबुक के साथ शेयर कर रहा था. इसमें मौजूद कुछ फीचर्स के ज़रिए यूज़र के मूड का भी अंदाजा लगाया जा रहा था, फिर उसे फेसबुक के साथ शेयर किया जा रहा था. इसके बाद यूजर्स को उनके मूड के हिसाब से ऐड दिखाए जाते थे. रिपोर्ट में कहा गया है कि इससे कंपनियों को यूजर्स तक टारगेट ऐड पहुंचाने में मदद मिलती थी.

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि माया ऐप को गूगल प्ले स्टोर से 50 लाख बार और मिआ ऐप को 20 लाख बार डाउनलोड किया जा चुका है.

यह भी पढ़ें- 

नए iPhone पर मलाला ने भी लिए मज़े, किया ये ट्वीट...
Xiaomi की इस टेक्नोलॉजी से 4000mAh बैटरी 25 मिनट में हो जाएगी 50% चार्ज
ये हैं Apple के तीनों नए iPhone के खास फीचर्स, जानिए क्या है कीमत?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 2:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...