Microsoft ने एंड्रॉयड फोन यूजर्स को दी चेतावनी, जानिए क्या है मामला

टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट
टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट

अमेरिकी टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने एक नए रैनसमवेयर (Ransomware) का पता लगाया है जो एंड्रॉयड स्मार्टफोन (Android Smartphone) को टारगेट कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 10:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिकी टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने एंड्रॉयड यूजर्स (Android Users) को बड़ी चेतावनी दी है. कंपनी ने एक नए रैनसमवेयर (Ransomware) का पता लगाया है जो एंड्रॉयड स्मार्टफोन (Android Smartphone) को टारगेट कर रहा है. यह रैनसमवेयर मैलिशस एंड्रॉयड ऐप्स में छिपा रहता है और ऑनलाइन फोरम और वेबसाइट के जरिए फैल रहा है. कंपनी ने कहा है कि किसी वेबसाइट से ऐप्स डाउनलोड करते समय सावधानी बरतें.

स्क्रीन को कर देता है लॉक
कंपनी ने बताया कि यह रैनसमवेयर एंड्रॉयड यूजर्स को फोन स्क्रीन को ऐक्सिस करने से रोकता है. यह डिवाइस को इनक्रिप्ट नहीं करता. यह स्क्रीन को एक संदेश के साथ फ्रीज कर देता है. यह 'कॉल' नोटिफिकेशन का फायदा उठाते हुए इनकमिंग कॉल के समय सक्रिय हो जाता है. इसके अलावा यूजर जब होम बटन या रीसेंट ऐप बटन दबाता है तो स्क्रीन लॉक हो जाती है.

ब्लॉक कर देता है डिवाइस का एक्सिस
माइक्रोसॉफ्ट ने कहा, ''ज्यादातर एंड्रॉयड रैनसमवेयर से अलग यह नया थ्रेट फाइल्स को इनक्रिप्ट करके उनके एक्सिस को ब्लॉक नहीं करता. बल्कि यह रैनसमवेयर स्क्रीन पर मैसेज के साथ डिवाइस का एक्सिस ही ब्लॉक कर देता है. यह स्क्रीन हर विंडो में दिखती है, यानी यूजर फोन में कुछ और कर ही नहीं सकता. स्क्रीन पर एक थ्रेट मैसेज होता है और रैनसम को पैसे चुकाने के दिशा-निर्देश रहते हैं.''



माइक्रोसॉफ्ट ने दी थी चेतावनी, हैकर्स के निशाने पर है अमेरिकी चुनाव
हाल ही में माइक्रोसॉफ्ट ने एक चेतावनी जारी कर कहा था कि रूस, चीन और ईरान से संबंध रखने वाले हैकर्स अमेरिका में आगामी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं. कंपनी के मुताबिक, ये हैकर्स चुनावी प्रक्रिया से जुड़े लोगों और समूहों की जासूसी कर रहे हैं. माइक्रोसॉफ्ट का दावा है कि साल 2016 के राष्ट्रपति चुनावों में चुनाव प्रचार को प्रभावित करने वाले रूसी हैकर्स ग्रुप एक बार फिर से एक्टिव हो गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज