Microsoft ने माना, Skype और Cortana पर चोरी-छिपे सुनी जाती है आपकी बात

Microsoft ने फिर एक बार माना है कि थर्ड-पार्टी कॉन्ट्रैक्टर्स Skype और Virtual assistant Cortana पर की गई आपकी बातचीत को सुन रहे हैं.
Microsoft ने फिर एक बार माना है कि थर्ड-पार्टी कॉन्ट्रैक्टर्स Skype और Virtual assistant Cortana पर की गई आपकी बातचीत को सुन रहे हैं.

Microsoft ने फिर एक बार माना है कि थर्ड-पार्टी कॉन्ट्रैक्टर्स Skype और Virtual assistant Cortana पर की गई आपकी बातचीत को सुन रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 16, 2019, 2:20 PM IST
  • Share this:
प्रिवेसी को लेकर खतरें से जुड़ी लगातार आती खबरों के बीच अब माइक्रोसॉफ्ट ने फिर एक बार माना है कि थर्ड-पार्टी कॉन्ट्रैक्टर्स स्काइप और वर्चुअल असिस्टेंट कोर्टाना पर की गई आपकी बातचीत को सुन रहे हैं. मदरबोर्ड वेबसाइट ने बताया कि थर्ड-पार्टी कॉन्ट्रैक्टर्स दोनों ही सेवाओं के ऑडियो सुन रहे हैं. माइक्रोसॉफ्ट के प्रवक्ता ने मदरबोर्ड को बताया, 'हाल ही में उठे सवालों की वजह से हमें यह महसूस हुआ कि हम यह बताकर बेहतर काम कर सकते हैं कि कभी कभी इसकी रिव्यू किया जाता है.'

प्रवक्ता ने आगे कहा, 'हमने अपने प्रिवेसी स्टेटमेंट और प्रोडक्ट एफएक्यू को अपडेट किया है ताकि और अधिक स्पष्टता लाई जा सके और आगे भी सुधार के अवसरों की जांच करते रहेंगे.' उन्होंने कहा कि इस रिव्यू का उपयोग कंपनी आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) सिस्टम्स को सुधारने, ट्रेनिंग देने और बनाने में करती है.  (ये भी पढ़ें- Jio यूज़र्स ध्यान दें! अब My Jio App में मिलेगी ये खास सर्विस, काम होंगे आसान)

स्काइप ट्रांसलेटर के नए एफएक्यू में कहा गया, 'इसमें माइक्रोसॉफ्ट कर्मचारियों या वेंडर्स द्वारा ऑडियो रिकॉर्डिंग का ट्रांसक्रिप्शन किया जा सकता है, जो यूजर्स की प्रिवेसी की सुरक्षा के लिए यूरोपीय कानून और अन्य जगहों पर निर्धारित प्रिवेसी मानक के आधार पर डिजाइन की गई प्रक्रियाओं के अधीन है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज