Home /News /tech /

चार्ज से लेकर प्रोसेस तक, यहां जानें मोबाइल नंबर पोर्ट के नए नियम की हर डिटेल...

चार्ज से लेकर प्रोसेस तक, यहां जानें मोबाइल नंबर पोर्ट के नए नियम की हर डिटेल...

MNP से जुड़े नए नियम के बाद अब सिम पोर्ट कराने के लिए कितने चार्जेज़ देने होंगे और प्रोसेस में कितने दिन का समय लगेगा. यहां जानें सारी जानकारी...

MNP से जुड़े नए नियम के बाद अब सिम पोर्ट कराने के लिए कितने चार्जेज़ देने होंगे और प्रोसेस में कितने दिन का समय लगेगा. यहां जानें सारी जानकारी...

MNP से जुड़े नए नियम के बाद अब सिम पोर्ट कराने के लिए कितने चार्जेज़ देने होंगे और प्रोसेस में कितने दिन का समय लगेगा. यहां जानें सारी जानकारी...

    टेलिकॉम रेगुलेटरी ऑथेरिटी ऑफ इंडिया (Telecom Regulatory Authority of India) ने मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (Mobile Number Portability) के नए नियम जारी कर दिए हैं. ये नए नियम पिछले हफ्ते (16 दिसंबर) से लागू हो चुके हैं. पहले के मुकाबले अब नियम आसान हो गए हैं. साथ ही काम में भी तेजी लाने के लिए प्राथमिकता दी गई है.

    MNP के नए नियमों के मुताबिक, ग्राहक अपना नंबर बदले बिना एक नंबर ऑपरेटर से दूसरे ऑपरेटर पर पोर्ट हो जाएंगे. इस पूरे प्रोसेस में अब सिर्फ तीन दिन (3 वर्किंग डेज) का समय लगेगा. वहीं पहले इसके लिए 7 दिन तक का समय लगता था. इसके साथ ही एक सर्कल से दूसरे सर्कल में नंबर पोर्ट करने के लिए किए 5 दिन का समय लगेगा.

    (ये भी पढ़ें-Jio का धमाकेदार प्लान आज से शुरू, सिर्फ इतने के रिचार्ज पर पूरे साल पाएं अनिलिमिटेड सर्विस)

    16 दिसंबर से एमएनपी से संबंधित नियम बदल गए हैं.
    16 दिसंबर से एमएनपी से संबंधित नियम बदल गए हैं.


    नए नियम के तहत नंबर पोर्ट करने के लिए Unique Porting Code (UPC) जेनरेट करने की जरूरत पड़ेगी. UPC कुछ जगहों को छोड़कर सभी एरिया के लिए 4 दिन वैलिड रहेगा. पहले यह 15 दिन के लिए वैलिड रहता था. UPC जम्मू कश्मीर, असम और उत्तर पूर्व राज्यों में 30 दिन तक वैलिड रहेगा.

    TRAI के मुताबिक पोर्टिंग रिक्वेस्ट के लिए ट्रांजैक्शन फी 6.46 रुपये देना होगा. कोई भी ग्राहक 1900 पर SMS भेजकर अपनी पोर्टिंग रिक्वेस्ट वापस ले सकता है.

    (ये भी पढ़ें- 31 दिसंबर से इन स्मार्टफोन में बंद हो रहा है WhatsApp, लिस्ट में देखें आपका फोन भी तो नहीं...)

    TRAI ने प्रोर्टिंग रिक्वेस्ट के लिए कुछ नियम बनाए हैं. आइए जानें पूरी डिटेल.
    --पोस्टपेड मोबाइल कनेक्शन को पोर्ट करने से पहले सब्सक्राइबर को अपने मौजूदा ऑपरेटर के सभी बकायों को खत्म करना होगा.



    --पोस्टपेड नंबर को वही यूज़र पोर्ट कर सकेंगे, जो मौजूदा ऑपरेटर की सर्विस के साथ 90 दिनों से जुड़े हों.

    --अगर आपने अपने मोबाइल नंबर के ओनर को बदलने का अनुरोध किया है तो आपके मोबाइल नंबर पोर्टिबिलिटी रिक्वेस्ट को रद्द कर दिया जाएगा.

    --यूजर को सर्विस छोड़ने से पहले ऑपरेटर द्वारा तय किए गए सभी नियम व शर्तों को पूरा करना होगा जो नंबर लेते वक्त सब्सक्राइबर अग्रीमेंट में दिए गए थे.

    (ये भी पढ़ें- Nokia ला रहा है 3 कैमरे वाला सस्ता स्मार्टफोन, 27 दिसंबर को होगा लॉन्च)

    Tags: Mobile Phone, TRAI

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर