Home /News /tech /

पाकिस्तान के 69% लोगों को नहीं पता, आखिर क्या बला है इंटरनेट: सर्वे

पाकिस्तान के 69% लोगों को नहीं पता, आखिर क्या बला है इंटरनेट: सर्वे

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

इस सर्वे में केवल पाकिस्तान ही नहीं, बल्कि कई दूसरे एशियाई देशों में भी इंटरनेट जागरूकता में कमी की बात सामने आई है.

    पाकिस्तान में 15 से लेकर 65 साल की उम्र के 69 फीसदी लोगों को यह नहीं पता कि इंटरनेट क्या बला होती है. सूचना-संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) आधारित एक ताज़ा सर्वे यह बात कही गई है. दरअसल पाकिस्तानी अखबार डॉन ने श्रीलंकाई थिंक टैंक लिरनेएशिया की तरफ से कराई गई सर्वे रिपोर्ट छापी है. लिरनेएशिया के मुताबिक, इस सर्वे में पाकिस्तान के 2,000 परिवारों को शामिल किया गया.

    इस सर्वे की सैम्पलिंग मेथड को 15 से 65 आयु वर्ग की 98 प्रतिशत आबादी का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने के लिए डिजाइन किया गया था. इसमें पता चला कि 15-65 आयु वर्ग की आबादी में केवल 30 प्रतिशत लोग ऐसे हैं, जिन्हें इंटरनेट के बारे में जानकारी है.

    ये भी पढ़ें- इस गरीब टीचर को इंटरनेट ने बनाया 2.71 लाख करोड़ का मालिक!

    ये भी पढ़ें- पहला ईमेल, फेसबुक अकाउंट और ट्वीट, इंटरनेट पर कब क्या हुआ

    यह सर्वे 2017 में अक्टूबर से दिसंबर के बीच किया गया था और इससे यह जानने में मदद मिली कि कितने यूजर्स आईसीटी सेवाओं का इस्तेमाल करते हैं और कितने नहीं. रिपोर्ट में बताया गया कि बेहतर सिम रजिस्ट्रेशन सिस्टम के बावजूद पाकिस्तान टेलिकम्युनिकेशन अथॉरिटी (पीटीए) वेबसाइट पर 152 मिलियन ऐक्टिव सेल्युलर सब्सक्राइबर की जानकारी दी गई है.

    इस सर्वे में केवल पाकिस्तान ही नहीं, बल्कि कई दूसरे एशियाई देशों में भी इंटरनेट जागरूकता में कमी की बात सामने आई है. रिपोर्ट के मुताबिक इंटरनेट का इस्तेमाल न करने के पीछे इसके बारे में जागरूकता का अभाव ही मुख्य वजह है. सर्वे के मुताबिक, पुरुषों के मुकाबले पाकिस्तानी महिलाएं इंटरनेट का 43 प्रतिशत कम इस्तेमाल करती हैं. हालांकि, यह भारत में यह अंतर 57 प्रतिशत और बांग्लादेश में 62 प्रतिशत है.

    Tags: Internet users, Manpower survey, Pakistan, Tech news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर