लाइव टीवी

Episode 2: जेफ़ बेज़ोस के संग उन्नति और विकास के नए रंग

News18Hindi
Updated: February 28, 2020, 10:46 AM IST
Episode 2: जेफ़ बेज़ोस के संग उन्नति और विकास के नए रंग
संभव में Infosys के सह संस्थापक नागवार रामाराव नारायाणमूर्ति और Future Group के संस्थापक किशोर बियानी जैसे बहुत से दिग्गज और अनुभवी उद्योगपतियों ने भाग लिया.

संभव में Infosys के सह संस्थापक नागवार रामाराव नारायाणमूर्ति और Future Group के संस्थापक किशोर बियानी जैसे बहुत से दिग्गज और अनुभवी उद्योगपतियों ने भाग लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2020, 10:46 AM IST
  • Share this:
भारत e-commerce के क्षेत्र में एक उभरता हुआ बाजार है।एक रिपोर्ट के अनुसार भारतीय e -commerce की वार्षिक विकास दर 51 प्रतिशत है. अगले पांच सालों में करोड़ों नए उपभोक्ता e commerce की इस दुनिया से जुड़ जायेंगे. इस नयी तकनीकी क्रांति से SMEs को लाभान्वित करने के  लिए Amazon ने दिल्ली में दो दिनों तक चलने वाला एक भव्य कार्यक्रम आयोजित किया. CNBC आवाज़ के ज़रिये आपने देखा की किस तरह संभव नामक इस आयोजन में लघु, मध्यम और सुष्म उद्योगों के व्यवसायियों को तकनीकी  उपयोग की जानकारी दी गयी. संभव में Infosys के सह संस्थापक नागवार रामाराव नारायाणमूर्ति और Future Group के संस्थापक किशोर बियानी जैसे बहुत से दिग्गज और अनुभवी उद्योगपतियों ने भाग लिया. इस जमावड़े में  सबसे बड़ा नाम था अमेज़न के संस्थापक जेफ़ बेज़ोस का.

News18 India  के इस अंक का मुख्य केन्द्र बनी Amazon भारत के प्रमुख अमित अग्रवाल के साथ  अमेज़न के संस्थापक जेफ़ बेज़ोस की Fireside chat.

बेज़ोस ने इस बात पर ज़ोर दिया की असफलता किसी भी उद्योग की प्रगति का एक महत्वपूर्ण अंग है. उन्होंने Amazon के शुरुआती दिनों के बारे में भी बात की और  बताया कि इस यात्रा के दौरान उन्होंने क्या सबक सीखे. एक नीली भारतीय जैकेट पहने हुए जेफ़ बेज़ोस जब मंच पर आइये तो दर्शकों में धूम मच गयी.



बेज़ोस ने  कहा की भारत में आकर उन्हें एक नयी स्फूर्ति का एहसास होता है. उन्होंने वह दिन सबसे सांझे किये जब उन्होंने Amazon  की शुरुआत ही की थी. उन्होंने बताया की  किस तरह किसी भी छोटे उद्यमी की तरह  वह सामान की पैकिंग से लेकर डाक खाने जाने तक का काम भी खुद ही करते थे.



अमित ने जब उनसे पूछा की क्या Amazon नए प्रयास करने के लिए एक बेहतरीन प्रयोगशाला है तो बेज़ोस ने कहा की जब किसी बात का परिणाम निश्चित हो तब वह प्रयोग नहीं होता. इसीलिए आपको हर दिन, हर हफ्ते, हर माह, हर साल  कुछ नया करते रहना चाहिए. अगर बिना असफलता की परवाह किये आप ऐसा करते हैं तभी नए परिणाम सामने आते हैं. उन्होंने कहा, "अमित और मैं दो दशक से साथ काम कर रहे हैं और कितनी ही बार हम एक साथ असफल हुए हैं पर हमें ज्ञात है की यह भी कुछ नया सीखने का ही एक मार्ग है".

इस रोचक वार्ता  के दौरान जेफ़ बेज़ोस ने अंतरिक्ष यात्रा  में अपनी गहन रूचि के बारे में भी लम्बी बात चीत की और Blue Origin में अपने कार्य का भी ज़िक्र किया.

उन्होंने कहा, “मानव सभ्यता के सरंक्षण के लिए हमें पृथ्वी का सरंक्षण करना होगा. ऐसा करने के लिए हमें सौर मंडल की ऊर्जा और अंतरिक्ष के साधनों की मदद से एक गतिशील, अत्याधुनिक  और उद्यमी समाज की स्थापना करनी होगी. Blue origin अंतरिक्ष तक जाने के मूल्य को कम  करना चाहता है और भविष्य में ऐसा करने के लिए हम पुनः प्रयोज्य या reusable राकेट इस्तेमाल करेंगे."

बेज़ोस ने ये भी कहा की Amazon एक sustainable दुनिया  की रचना में  सहभागी बनने के लिए वचनबद्ध  है. उन्होंने वादा किया की  Amazon २०३० तक बिजली के मामले में शत प्रतिशत सतत् हो जायेगा. जून २०२० तक Amazon India  सभी तरह की प्लास्टिक पैकेजिंग को रद्द करेगा और इन सभी लक्ष्यों को प्राप्त करने में Amazon के सहभागी बहुत मदद कर रहे हैं.



अंत में बेज़ोस ने भारत के लोकतंत्र और यहाँ के उद्यमियों की ऊर्जा और कार्यकुशलता की दिल खोल कर प्रशंसा की और कहा की देश के नागरिक सदैव आत्मसुधार और उन्नति में व्यस्त नज़र आते हैं. उन्होंने भविष्यवाणी करते हुए कहा की इक्कीसवीं सदी भारत की सदी होगी और सबसे महत्वपूर्ण साझेदारी भारत और अमेरिका के बीच होगी. ऐसा होना स्वाभाविक ही है क्योंकि यह दोनों ही विश्व  के सबसे बड़े लोकतान्त्रिक देश हैं.

(पार्टनर्ड कंटेंट)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मोबाइल-टेक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 27, 2020, 5:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading