Google ने कुछ यूं मनाया उमर खय्याम का 971वां जन्मदिन

उमर खय्याम ने अल्जेब्रा में भी प्रमुख योगदान दिया. उन्होंने पास्कल के ट्राइएंगल और बियोनमियस कोइफीसिएंट के ट्राइएंगल अरे की भी खोज की.

News18Hindi
Updated: May 18, 2019, 10:21 AM IST
Google ने कुछ यूं मनाया उमर खय्याम का 971वां जन्मदिन
गूगल डूडल
News18Hindi
Updated: May 18, 2019, 10:21 AM IST
Google ने शनिवार को अपने Doodle के जरिये प्रसिद्ध फ़ारसी गणितज्ञ, दार्शनिक, कवि और खगोलशास्त्री उमर खय्याम का 971 वां जन्मदिन मनाया. पूर्वोत्तर ईरान के निशापुर में 18 मई, 1048 को जन्मे उमर खय्याम कई गणितीय और वैज्ञानिक खोजों के लिए जाने जाते हैं. वह क्यूबिक इक्वेशन्स को सॉल्व करने के लिए एक सामान्य तरीका बनाने वाले पहले व्यक्ति थे, जहां उन्होंने कॉनिक्स के इंटरसेक्शन के जरिए जियोमेट्रिक सल्यूशन दिए.

इसके साथ ही उमर को जलाली कैलेंडर के लिए भी जाना जाता है, जिसे उन्होंने करीब-करीब 33-वर्ष के इंटरकैलेशन साइकल के साथ तैयार किया है. यह बाद में कई अन्य कैलेंडर का आधार बन गया.



यह भी पढ़ें: Google के सबसे सस्ते स्मार्टफोन्स पर मिल रहा है 21 हज़ार रुपये का डिस्काउंट, यहां है सेल

उमर खय्याम अपनी कविता और छंदों के लिए भी प्रसिद्ध थे. उन्होंने एक हजार से अधिक 'रुबैये' या छंद लिखे. एडवर्ड फिजराल्ड़ द्वारा अनुवादित कार्य का एक खंड 'उमर खय्याम का रुबैये' उमर की मौत के बाद फेमस हुए. अपने समय के सबसे प्रसिद्ध विद्वानों में से एक, ख्यायम ने खुरासान प्रांत में मलिक शाह I के सलाहकार और ज्योतिषी के रूप में काम किया.

खय्याम ने अल्जेब्रा में भी प्रमुख योगदान दिया. उन्होंने पास्कल के ट्राइएंगल और बियोनमियस कोइफीसिएंट के ट्राइएंगल अरे की भी खोज की. उन्होंने संगीत और अल्जेब्रा पर एक किताब 'प्रॉब्लम्स ऑफ अर्थमैटिक ’भी लिखी.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार