लाइव टीवी

चीन ने बच्चों में ऑनलाइन गेमिंग की लत छुड़ाने के लिए उठाया ये कदम


Updated: November 8, 2019, 2:46 PM IST
चीन ने बच्चों में ऑनलाइन गेमिंग की लत छुड़ाने के लिए उठाया ये कदम
रात 10 बजे के बाद और सुबह 8 बजे के पहले ऑनलाइन वीडियो गेम (Online Video Games) खेलने पर पूरी तरह प्रतिबंध (Online Video Games Banned in China)रहेगा. यह नियम इसी हफ्ते लागू कर दिया गया है.

रात 10 बजे के बाद और सुबह 8 बजे के पहले ऑनलाइन वीडियो गेम (Online Video Games) खेलने पर पूरी तरह प्रतिबंध (Online Video Games Banned in China)रहेगा. यह नियम इसी हफ्ते लागू कर दिया गया है.

  • Last Updated: November 8, 2019, 2:46 PM IST
  • Share this:
बीजिंग. ऑनलाइन गेमिंग (Online Gaming) और इंटरनेट (Internet Games) की बढ़ती लत (Addiction) से परेशान चीन  ने नया कानून लागू (New Rule in China) किया है. इसके तहत अब चीन में 16 साल से कम उम्र के बच्चे दिन में 90 मिनट यानी डेढ़ घंटे से ज्यादा ऑनलाइन वीडियो गेम (Online Video Games) नहीं खेल सकते. बच्चों के लिए यह 90 मिनट इस्तेमाल करने का समय भी सुबह 8 से रात 10 बजे तक निश्चित किया गया है. रात 10 बजे के बाद और सुबह 8 बजे के पहले ऑनलाइन वीडियो गेम (Online Video Games) खेलने पर पूरी तरह प्रतिबंध (Online Video Games Banned in China)रहेगा. यह नियम इसी हफ्ते लागू कर दिया गया है.



चीन दुनिया के सबसे बड़े ऑनलाइन गेमिंग बाजारों (Online Games Market) मे से एक है. चीनी अधिकारियों के मुताबिक ऑनलाइन गेमिंग पर (Side Effects of Online Gaming) बच्चों के खर्च की भी राशनिंग की  गई है. 16 साल से कम उम्र के बच्चों को हर महीने 29 डॉलर यानी 2030 रुपए तक ही ऑानलाइन गेमिंग पर खर्च कर सकते हैं. जबकि 16 से 18 आयुवर्ग के किशोरों के लिए यह राशि हर महीने 4060 रुपए के बराबर तय की गई है.

नए कानून के मुताबिक बच्चों को ऑनलाइन गेमिंग के लिए अपने असली नाम से रजिस्ट्रेशन कराना होगा. बच्चों को चीनी सोशल मीडिया वीचैट पर अपने अकाउंट, फोन नंबर और पहचान पत्र की पूरी जानकारी दर्ज करनी होगी. यही नहीं सरकार ने ऑनलाइन गेमिंग कंपनियों को भी अपने गेम कंटेंट और नियमों में सुधार करने के निर्देश जारी किए हैं.

पबजी में चीटिंग किए जाने की बातें पिछले कुछ दिनों से सामने आ रही हैं. ऐसा देखा गया है कि पबजी गेम के अंदर चीटिंग, हैकिंग और गलत तरीके का प्रयोग करके गेम को जीतने की कोशिश की जाती है. इसी समस्या से निपटने के लिए गेम डेवलपर्स ने नया टूल डेवलप किया है.
16 साल से कम उम्र के बच्चों को हर महीने 29 डॉलर यानी 2030 रुपए तक ही ऑानलाइन गेमिंग पर खर्च कर सकते हैं.


अधिकारियों का दावा है कि ऑनलाइन गेमिंग की लत बच्चों के स्वास्थ पर सीधा असर ढाल रही है. इससे बच्चों की पास की नजर लगातार कमजोर होती जा रही है. वीडियो गेम्स का नौजवानों पर पड़ने वाले असर को लेकर चीन लगातार इसका विरोध करता रहा है. 2018 में चीन सरकार ने गेमिंग रेगुलेटर का गठन किया था. इसी रेगुलेटर की अनुशंसा पर बच्चों के खेल के समय और उम्र संबंधी पाबंदियां लगाई गईं हैं.

ऑनलाइन गेमिंग के बाजार में चीन दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मार्केट है. रिसर्च एजेंसी न्यूज़ू के अनुसार ऑनलाइन गेमिंग उद्योग में अमेरिका ने कमाई के मामले में चीन को पछाड़ दिया है.
Loading...

ये भी पढे़ें:

TikTok पर #PurpleShampoo की दीवानी हो रहीं हैं दुनिया भर की महिलाएं

फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन जैसे सोशल मीडिया का रंग नीला क्यों है?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मोबाइल-टेक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2019, 8:59 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...