यूजर्स डेटा हैक पर Paytm मॉल ने कहा- हमारा डेटा सुरक्षित, सिक्योरिटी में कोई चूक नहीं

यूजर्स डेटा हैक के दावों पर पेटीएम ने स्पष्टीकरण दिया है.

एक अमेरिकी डेटा रिसर्च फर्म Cyble द्वारा पेटीएम मॉल (Paytm Mall) के डेटाबेस के खतरे के दावे के बाद कंपनी ने इसपर बयान दिया है. पेटीएम मॉल ने जांच के बाद कहा कि हमारी सिक्योरिटी में चूक नहीं हुई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. मोबाइल वॉलेट कंपनी पेटीएम की ई-कॉमर्स यूनिट पेटीएम मॉल  (Paytm Mall) ने कहा है कि सिक्योरिटी को लेकर कोई चूक नहीं हुई है. कंपनी ने डेटा हैक (Data Hack) के दावों की जांच के बाद यह बयान दिया है. कंपनी की तरफ यह स्पष्टीकरण तब आया है, जब अमेरिका की एक साइबर रिसर्च फर्म Cyble ने कहा था कि 'John Wick' नाम का एक हैकर ग्रुप की पहुंच पेटीएम की डेटाबेस तक थी.

    पेटीएम मॉल के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, 'हम अपने सभी यूजर्स को सुनिश्चित करना चाहते हैं कि कंपनी की डेटा पूरी तरह से सकुशल एवं सुरक्षित हैं...हम डेटा हैक के संभावित जांच कर रहे थे और हमें सुरक्षा में सेंध की अब तक कोई जानकारी नहीं मिली है.

    पेटीएम का दावा- हमार डेटा सुरक्षित
    प्रवक्ता ने आगे यह भी कहा कि कंपनी डेटा सिक्योरिटी (Data Security) पर बहुत निवेश करती है और हमारे पास बग बाउंटी प्रोग्राम (Bug Bounty Program) भी है. इस प्रोग्राम के तहत अगर सिक्योरिटी रिस्क के बारे में जानकारी देता है तो हम उन्हें रिवॉर्ड भी करते हैं. प्रवक्ता ने कहा कि हम सिक्योरिटी रिसर्च कम्युनिटी (Security Research Community) के साथ मिलकर गहनता से काम करते हैं और सुरक्षित तरीके से ऐसी गड़बड़ियों को ठीक करते हैं.

    यह भी पढ़ें: TikTok डाउनलोड करने के लिए आपको भी आया है ये मैसेज तो रहें सावधान, हो सकती है मुश्किल

    क्या था Cyble का दावा
    Cyble ने एक ब्लॉग में कहा था, '...ऐसा लगता है हैकर को प्रोडक्शन डेटाबेस तक पहुंच थी और संभावित तौर पर इससे पेटीएम मॉल से जुड़ी सभी जानकारी और अकाउंट्स को प्रभावित करेगा.' Cyble ने यह बात अपने पास उपलब्ध जानकारी के आधार पर कही है. Cyble ने कहा कि यह पेटीएम मॉल के किसी इनसाइडर की वजह से हुआ होगा. हांलाकि, इसकी पुष्टि नहीं हुई है.

    Cyble ने कहा, 'हमारे सूत्रों ने भी इस संबंध में एक मैसेज भेजा है जहां हैकर ने दावा किया है कि उसे पेटीएम मॉल की तरफ से रैंसम पेमेंट भी मिला है. कई साइबर ग्रुप्स हैकर्स की मांग पूरा न होने की वजह से डेटा लीक कर देते हैं. इसमें रैंसमवेयर ऑपरेटर्स भी शामिल होते हैं.'

    यह भी पढ़ें: बारिश में फोन भीग जाए तो भूलकर भी ना करें ये गलतियां, हमेशा के लिए हो सकता है फोन!

    10 इथेरियम मांगने का दावा
    इस ब्लॉग में दावा किया गया है कि हैकर ने कथित तौर पर 10 ETH (इथेरियम) की मांग की थी. 10 इथेरियम की कीमत करीब 4,000 डॉलर है. इथेरियम एक टेक्नोलॉजी है, जिसकी मदद से किसी व्यक्ति को क्रिप्टोकरंसी भेजी जाती है. Cyble ने कहा है कि उसने बयान के लिए पेटीएम से संपर्क किया है और उसे जवाब का इंतजार है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.