लॉकडाउन के बीच फोन पर बढ़ गया है हैकिंग का खतरा! इन तरीकों से फोटो-वीडियो को रखे सेफ

लॉकडाउन के बीच फोन पर बढ़ गया है हैकिंग का खतरा! इन तरीकों से फोटो-वीडियो को रखे सेफ
File Photo

जानें उन तरीकों के बारें बता रहे हैं जिससे आपका स्मार्टफोन सेफ रहेगा और उसपर हैकिंग और वायरस का खतरा कम करने में भी मदद मिलेगी...

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 17, 2020, 5:56 AM IST
  • Share this:
स्मार्टफोन (smartphones) हमारी जिंदगी की अहम हिस्सा है, खासतौर पर उस समय में जब पूरे देश में लॉकडाउन है और हम सब घर पर बैठे हैं. फोन में हमारे पर्सनल (personal) से लेकर प्रोफेशनल (professional data) तक कई तरह का डेटा रहता है. ऐसे में हर कोई अपने स्मार्टफोन को सेफ और सुरक्षित रखना चाहता है, लेकिन कई बार जरा सी लापरवाही के चलते हम अपने स्मार्टफोन का ख्याल नहीं रख पाते हैं.

आज हम आपको उन तरीकों के बारें बता रहे हैं जिससे आपका स्मार्टफोन सेफ रहेगा और उसपर हैकिंग और वायरस का खतरा कम करने में भी मदद मिलेगी...

(ये भी पढ़ें- क्या 3 मई तक बढ़ेगी आपके प्रीपेड प्लान की वैलिडिटी? ट्राई ने बताया पूरा प्लान)



--आप भूलकर भी कभी अपने फोन को अनप्रोटेक्टेड और पब्लिक Wi-Fi से कनेक्ट न करें.  साथ ही दूसरे के USB से फोन चार्ज करने से बचें. इसके अलावा फोन में आने वाले अनजान लिंक्स को कभी क्लिक ना करें. ऐसा करने पर आपका फोन हैक हो सकता है. हैकर्स सबसे ज़्यादा इस तरीके का इस्तेमाल करते हैं, जिससे यूज़र आसानी से उनके जाल में फस जाता है.
-- पब्लिक Wi-Fi इस्तेमाल करते वक्त ऑटोमैटिक कनेक्शन को स्विच ऑफ कर दें, यहां सिर्फ मैनुअल सेटिंग को चुने. पब्लिक वाई-फाई में ऑनलाइन खरीददारी ना करें, ट्रांजैक्शन और पैसे ट्रांसफर से बचें, एंटी-वायरस का इस्तेमाल करें.

(ये भी पढ़ें- WhatsApp ने इन यूज़र्स को दी ज़रूरी सलाह- इसलिए फौरन अपडेट कर लें अपना वॉट्सऐप) 

 --आजकल हैकर्स दुनियाभर में इस्तेमाल की जाने वाली सिग्नलिंग सिस्टम SS7 को भी क्रैक कर देते हैं. ऐसा करके वो यूज़र्स के फोन से पर्सनल चैट, फोन कॉल और डॉक्यूमेंट्स चुरा रहे हैं. Signalling System No 7 एक ऐसा सिस्टम है जिसके जरिए एक मोबाइल के नेटवर्क को दूसरे से जोड़ा जाता है. ये सबसे पहले 1975 में डेवलप हुआ था.

(ये भी पढ़ें- हैकर्स के निशाने पर आई Zoom App, वीडियो कॉन्फ्रेंस के लिए ये ऐप्स भी हैं बढ़िया ऑप्शन) 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज