अपना शहर चुनें

States

PM मोदी ने की मोबाइल टेक्नोलॉजी की तारीफ, कहा- Covid 19 वैक्सीनेशन में होगा इसका इस्तेमाल

मोबाइल टेक्नोलॉजी से गरीबों और समाज के वंचित तबकों तक मदद पहुंचाने में  मिला सहारा
मोबाइल टेक्नोलॉजी से गरीबों और समाज के वंचित तबकों तक मदद पहुंचाने में मिला सहारा

PM मोदी ने कहा, मोबाइल टेक्नोलॉजी की मदद से ही हम दुनिया के सबसे बड़े Covid 19 वैक्सीनेशन की दिशा में आगे बढ़ेगें. हालांकि, उन्होंने इस बारे में अधिक ब्यौरा नहीं दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 8, 2020, 1:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी पर काबू पाने के लिये टीका जल्द ही उपलब्ध होने की बढ़ती संभावनाओं के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि कोविड 19 वैक्सीनेशन (Covid-19 Vaccination) अभियान में मोबाइल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जायेगा. पीएम मोदी ने तीन दिन तक चलने वाली मोबाइल इंडिया कांग्रेस (India Mobile Congress 2020) का उद्घाटन करते हुये कहा कि मोबाइल टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से अरबों डालर के लाभ को उनके सही लाभार्थियों तक पहुंचाने में सफलता मिली है.

कोरोना महामारी के दौरान भी इस तकनीक से गरीबों और समाज के वंचित तबकों तक मदद पहुंचाने में काफी सहारा मिला है. मोदी ने कहा, मोबाइल प्रौद्योगिकी की मदद से ही हम दुनिया के सबसे बड़े कोविड 19 टीकाकरण की दिशा में आगे बढ़ेगें. हालांकि, उन्होंने इस बारे में अधिक ब्यौरा नहीं दिया.

जल्द हो सकती है वैक्सीनेशन की शुरुआत
देश में तीन प्रमुख कंपनियों फाइजर, एस्ट्राजेनेका और भारत बायोटेक ने कोविड-19 के आपातकालिक प्रयोग की अनुमति मांगी है. इन कंपनियों के अपने टीके के इस्तेमाल के बारे में आवेदन किये जाने के साथ उम्मीद है कि देश में जल्द ही बड़े पैमाने पर टीकाकरण की शुरुआत हो सकती है. देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 95 लाख से अधिक है. हालांकि, इसमें से 91 लाख से अधिक लोग ठीक भी हो चुके हैं.
ये भी पढ़ें : IMC 2020: PM मोदी इंडिया मोबाइल कांग्रेस को आज करेंगे संबोधित, कई देश होंगे शामिल



पीएम मोदी ने की मोबाइल टेक्नोलॉजी की तारीफ
मोदी ने अपने उद्घाटन संबोधन में कहा, हमें दूरसंचार क्षेत्र में 5जी प्रौद्योगिकी के समय पर शुरुआत की दिशा में मिलकर काम करने की जरूरत है ताकि बेहतर भविष्य की दिशा में आगे बढ़ा जा सके और करोड़ों भारतीयों को इसका लाभ मिल सके. पीएम ने इस अवसर पर भारत को दूरसंचार उपकरणों, डिजाइन, विकास और विनिर्माण के क्षेत्र में बड़ा केन्द्र बनाने पर भी जोर दिया. उन्होंने कहा कि मोबाइल प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से ही आज भारत करोड़ों डालर की मदद को उनके सही लाभार्थियों तक पहुंचाने में मदद मिली है.

मोबाइल दूरसंचार सेवा कंपनियों के मंच सीओओई द्वारा दूसरसंचार विभाग के सहयोग से आयोजित तीन दिन के सम्मेलन के उद्धाटन संत्र में मोदी ने कहा, 'यह मोबाइल प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से ही संभव हो पाया है कि हम देख रहे हैं कि अरबों रुपये का नकदी रहित लेनदेन संभव हो सका है और इससे बेहतर व्यवसथा और पारदर्शिता को बढ़ावा मिला है. मोबाइल प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से ही अब टोल नाकाओं पर बिना संपर्क में आये वाहनों की आवाजाही हो पा रही है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज