ये iOS ऐप्स कर रहे हैं यूजर्स के फोन की रिकॉर्डिंग, कहीं आप तो नहीं कर रहे हैं इस्तेमाल?

ऐसे कई iOS ऐप्स के बारे में पता चला है कि वे यूजर्स के फोन की स्क्रीन रिकॉर्ड कर रहे हैं और इसे कंपनियों को भेज रहे हैं

News18Hindi
Updated: February 8, 2019, 11:23 AM IST
ये iOS ऐप्स कर रहे हैं यूजर्स के फोन की रिकॉर्डिंग, कहीं आप तो नहीं कर रहे हैं इस्तेमाल?
फाइल फोटो
News18Hindi
Updated: February 8, 2019, 11:23 AM IST
अपने डेटा को इम्प्रूव करने और बेहतर ऐड्स दिखाने के लिए कई मोबाइल ऐप्स अपने यूजर्स का डेटा कलेक्ट करती हैं. ऐप की ओर से डेटा कलेक्ट करने के इस प्रोसेस को कई जगहों पर सामान्य भी माना जाता है लेकिन टेक की खबरें देने वाली वेबसाइट TechCrunch की ओर से की गई इन्वेस्टिगेशन में एक ऐसी बात सामने आई है जो iOS यानी iPhone यूजर्स को परेशान कर सकती है.

TechCrunch के अनुसार कई ऐसे iOS ऐप्स के बारे में पता चला है कि वे यूजर्स के फोन की स्क्रीन रिकॉर्ड कर रहे हैं. ये ऐप्स iPhone के हर एक्शन को कैप्चर करता है और इसमें वे एक्शन भी शामिल हैं जिसकी परमिशन यूजर्स द्वारा नहीं दी जाती है. चलिए जानते हैं कौन से हैं वो एप्स जो यूजर्स के फोन की स्क्रीन रिकॉर्डिंग कर रहे हैं...

ऐसे हो रही है स्क्रीन रिकॉर्डिंग
App Analyst से मिली जानकारी के अधारा पर TechCrunch ने पाया कि Expedia, Canada Airlines, Hotels.com और Singapore Airlines जैसी पॉपुलर कंपनियां अपने सेशन रिप्लाई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करती हैं. इसकी मदद से वे एक स्वाइप से लेकर कीबोर्ड एंट्री, बटन प्रेस और स्क्रीनशॉट तक iPhone/iPad में होने वाले सभी एक्शन को कैप्चर करती हैं. इसके अलावा कुछ मामलों में कंपनियों ने सेशन रिप्लाई को लगाने और यूजर्स को मॉनिटर करने के लिए Glassbox जैसे थर्ड पार्टी एनालिटिक प्लेटफॉर्म का भी इस्तेमाल किया.

ये भी पढ़ें: Motorola G7 सीरीज के 4 स्मार्टफोन हुए लॉन्‍च, जानें कीमत और फीचर्स



रिकॉर्ड करने के बाद एनालिसिस के लिए भेजा डेटा
सेशन को रिकॉर्ड करने के बाद ये ऐप्स एनालिसिस के लिए इसे कंपनी के सर्वर पर ट्रांसफर कर देती हैं. इसमें ध्यान देने वाली बात यह है कि इसमें ऐप की ओर से कैप्चर की गई सारी जानकारी होती है जिसमें पर्सनल और फाइनेंशियल जैसे क्रेडिट कार्ड आदि की जानकारी शामिल है. फर्म्स के अनुसार सेशन रिप्लाई डेवलपर्स को यह समझने में मदद करता है कि यूजर्स ऐप को कैसे इस्तेमाल करते हैं और उसके अनुसार वे चीजों को इम्प्रूव करते हैं.
Loading...

इस तरह की रिकॉर्डिंग खड़े करती है कई सवाल
चाहे भले ही यूजर्स का डेटा निकालना कंपनियों के लिए आम बात हो लेकिन इस तरह की रिकॉर्डिंग iPhone यूजर्स की प्राइवेसी को लेकर कई सवाल खड़े करती है. इसमें ध्यान देने वाली बात यह भी है कि कोई भी ऐप इस तरह के स्क्रीन रिकॉर्डिंग और प्राइवेसी पॉलिसी के बारे में यूजर्स को कोई जानकारी नहीं देती हैं. वे यूजर्स उनके रियल टाइम एक्टिविटी को रिकॉर्ड करने को लेकर कोई परमिशन भी नहीं लेती हैं.

ये भी पढ़ें: Jio के इस ऐप से सेकेंड्स में ट्रांसफर करें फोटो और वीडियो, जानें कैसे कर सकते हैं इस्तेमाल

इसके अलावा TechCrunch ने अपने इन्वेस्टिगेशन में यह भी पाया कि कुछ ऐप्स सर्वर पर डेटा भेजते वक्त लोगों की जानकारी को एक्सपोज भी कर रहे हैं. एक ऐसा ही मामला Air Canada को लेकर सामने आया था जिसमें ऐप रिकॉर्डेड सेशन की मास्किंग नहीं कर पा रहा था और लोगों की जानकारी जैसे पासपोर्ट नंबर, क्रेडिट कार्ड नंबर आदि को सभी सेशन रिप्लाई में एक्सपोज कर दे रहा था. इस मामले को लेकर अभी तक एप्पल की ओर से कोई टिप्पणी नहीं की गई है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर