• Home
  • »
  • News
  • »
  • tech
  • »
  • PORN WEBSITE LUSCIOUS SHARE 1 LAKH USERS DATA INCLUDES EMAIL ID COUNTRY ACTIVITY ON ADULT WEBSITE

इस पॉर्न साइट से लीक हुआ लाखों यूज़र्स का पर्सनल डेटा, लिस्ट में भारत के इतने यूज़र्स

लुशियस नाम की अडल्ट वेबसाइट ने 1 लाख यूज़र्स का डेटा शेयर कर दिया है.

रिपोर्ट के मुताबिक एडल्ट वेबसाइट (Adult website) ने 1 लाख यूज़र्स का डेटा सार्वजनिक कर दिया है, जिसमें छह हजार भारतीय यूजर्स भी शामिल हैं.

  • Share this:
    डेटा लीक (Data Leak) को लेकर आए दिन खबरें आती रहती हैं. अब एक पॉर्न साइट से यूज़र्स का डेटा लीक होने की खबर है. द नेक्स्ट वेब पर छपी रिपोर्ट के मुताबिक लुशियस (Luscious) नाम की एडल्ट वेबसाइट (Adult website)  ने 1 लाख यूज़र्स का डेटा सार्वजनिक कर दिया है. ये एक ऐसी साइट है, जो यूज़र्स को अपनी पहचान छुपाकर पॉर्न फोटोज़ और एनिमेशन अपलोड करने का ऑप्शन देती हैं.

    vpnMentor के रिसर्चर्स ने इस खामी का पता लगाया है. इस लीक को लेकर vpnMentor ने कहा कि गड़बड़ी के चलते लीक हुए डेटा में यूज़र्स के ईमेल्स (emails), उनके जेंडर (gender) और उनकी नागरिकता जैसी जानकारियां शामिल हैं. कुछ ईमेल आइडी में तो यूज़र्स के पूरे नाम तक रिवील हो गए हैं.

    रिपोर्ट में बताया गया कि यूज़र्स का डेटा अनसिक्योर्ड और अनएनक्रिप्टेड फॉरमेट में होने की वजह से साइट पर उनके कमेंट्स, लाइक्स, अपलोड्स और ब्लॉग पोस्ट जैसी एक्टिविटी भी आसानी से ऐक्सेस की जा रही थी.



    vpnMentor ने कहा कि यह जानकारी साइट के यूज़र्स के लिए बड़ा सिक्यॉरिटी रिस्क हो सकती है. फर्म ने कहा कि यूज़र्स के ईमेल और देश जानने के बाद उन्हें फिशिंग, डॉक्सिंग या वसूली जैसे स्कैम्स का शिकार आसानी से बनाया जा सकता है. इसके अलावा यूज़र्स की ऐक्टिविटी की मदद से उन्हें परेशान भी किया जा सकता है, क्योंकि थर्ड पार्टी पता कर सकती थी कि यूज़र किस तरह का कंटेंट लाइक या अपलोड कर रहे हैं.

    नेक्स्ट वेब की जारी की गई लिस्ट


    नेक्स्ट वेब ने एक लिस्ट भी जारी की है, जिसमें उन्होंने इमेल एड्रेस से अनुमान लगाया है कि किस देश के कितने यूज़र्स हैं, जिनके डेटा लीक हुए हैं. लिस्ट के मुताबिक इनमें छह हजार भारतीय यूजर्स का डेटा भी लीक हुआ है. रिसर्चर्स ने इस ब्रीच को पहली बार 15 अगस्त को स्पॉट किया था और अगले दिन साइट को इसकी सूचना दी. उनकी रिपोर्ट के मुताबिक फिर इसे फिक्स यानी कि ठीक कर दिया गया था.
    First published: