सबसे ज्यादा पापुलर गेम पर भी भारत में लगा बैन, 19 करोड़ हैं मंथली एक्टिव यूजर्स

सबसे ज्यादा पापुलर गेम पर भी भारत में लगा बैन, 19 करोड़ हैं मंथली एक्टिव यूजर्स
बैन किया गया ये सबसे ज्यादा खेला जानें वाला गेम

लॉकडाउन के दौरान देश में सबसे ज्यादा खेले जानें वाला गेम Ludo All Star और Ludo World- Ludo SuperStar पर भी लगा बैन.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2020, 12:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 59 चाइनीज ऐप पर प्रतिबंध लगाने के बाद भारत सरकार ने 118 विदेशी ऐप पर बैन लगा दिया है. भारत में एक बार फिर से बैन किए ऐप में सबसे बड़ा नाम PUBG Mobile का है. इस गेम के लाइट वर्जन को भी भारत में ब्लॉक कर दिया गया है. PUBG के बाद देश में सबसे ज्यादा खेले जानें वाला गेम Ludo All Star और Ludo World- Ludo SuperStar पर भी रोक लगा दी गई है. लॉकडाउन के दौरान Ludo सबसे ज्यादा पॉप्युलर गेम रहा. बैन किए गए 118 ऐप्स में कई पॉप्युलर नाम शामिल हैं. चीन की कंपनियों से संबंधित जिन ऐप पर भारत में प्रतिबंध लगाया गया है, उनकी संख्या बढ़कर अब 224 हो गई है. मई 2020 में Ludo king के 189 मिलियन से ज्यादा मंथली एक्टिव यूजर्स और 51 मिलियन से ज्यादा डेली एक्टिव थे.

इसलिए किए गए 118 विदेशी ऐप बैन
इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय का कहना है कि इन ऐप्स के खिलाफ विभिन्न स्रोतों से कई शिकायतें प्राप्त हुई हैं. जिनमें चोरी के लिए एंड्रॉइड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कुछ मोबाइल ऐप के दुरुपयोग, यूजर्स के डेटा को अनधिकृत तरीके से उपयोगकर्ताओं को प्रसारित करना शामिल है.

इस चाइनीज चैटिंग ऐप पर भी लगा बैन
SuperClean क्लीनर और फोन बूस्टर से लेकर, Applock और AppVault जैसे यूटिलिटी ऐप्स पर भी अब बैन लगा दिया गया है. ZAKZAK के चैटिंग और विडियो स्ट्रीमिंग ऐप्स को भी अब भारतीय यूजर्स इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. MV Master विडियो और फोटो एडिटिंग टूल के अलावा डेटिंग ऐप Tantan और Alipay से जुड़े ऐप्स भी बैन किए गए ऐप्स की लिस्ट में शामिल हैं. पॉप्युलर LivU चैटिंग ऐप भी अब भारत में बैन कर दिया गया है.





फोन में मौजूद रहेंगे प्रतिबंधित ऐप्‍स, खुद करना होगा डिलीट
तकनीकी विशेषज्ञों का कहना है कि बैन होने के बाद भी ये ऐप्‍स आपके फोन में मौजूद रहेंगे. इसलिए आपको इन्‍हें खुद ही डिलीट करना है. पहले भी देखा गया था कि जब टिकटॉक पर रोक लगाई गई तो कुछ लोगों ने इसे इस्‍तेमाल करने के लिए अलग-अलग जुगाड़ ढूंढ लिए थे. कोई इसे APK फाइल से डाउनलोड कर रहा था तो कोई VPN के जरिये ऐप को एक्सेस करने की कोशिश कर रहा था. हालांकि, लेकिन ज्‍यादातर तरीके काम नहीं कर रहे थे. इसी बीच वाट्सऐप पर एक apk फाइल का लिंक वायरल हुआ, जिससे टिकटॉक डाउनलोड हो रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज