PUBG Mobile Tips and Tricks: इन पांच तरीकों से मिलिट्री बेस पर कर सकते हैं कब्ज़ा

PUBG Mobile Tips and Tricks in Hindi: चूंकि गेम में Erangel सबसे पुराना और पॉपुलर मैप है इसलिए हम आपको टिप्स बताएंगे कि मिलिट्री बेस पर कैसे 'हेलफायर' गिराएं.

News18.com
Updated: June 25, 2019, 2:44 PM IST
PUBG Mobile Tips and Tricks: इन पांच तरीकों से मिलिट्री बेस पर कर सकते हैं कब्ज़ा
मई 2019 तक एंड्रॉयड और iOS प्लेटफॉर्म्स पर इसके करीब 40 करोड़ डाउनलोड्स हो चुके हैं.
News18.com
Updated: June 25, 2019, 2:44 PM IST
PUBG आजकल भारत में काफी मशहूर होता जा रहा है. फ्रंटलाइन और एपेक्स लीजेंड्स गेम के बावजूद इसने अपनी जगह बनाने में सफलता पा ली है. इसकी सफलता का पता इसी बात से लगता है कि मई 2019 तक एंड्रॉयड और iOS प्लेटफॉर्म्स पर इसके करीब 40 करोड़ डाउनलोड्स हो चुके हैं. चूंकि गेम में Erangel सबसे पुराना और पॉपुलर मैप है इसलिए हम आपको टिप्स बताएंगे कि मिलिट्री बेस पर कैसे 'हेलफायर' गिराएं. तो जायकेदार चिकन का डिनर खोजने वालों के लिए Pochinki, Georgopol और Yasnaya Polyana के अलावा मिलिट्री बेस दूसरा हॉट-स्पॉट है. यहां हम आपको कुछ ऐसी टिप्स बता रहे हैं जिनसे आप आसानी से मिलिट्री बेस पर बम गिरा सकते हैं-

बिल्डिंग को अपने फायदे के लिए यूज़ करना-
बिल्डिंग में घुसने के कई तरीके हैं. पहला तरीका है छत से अंदर जाने का. लेकिन ऐसा करने में छत पर पहुंचते ही आपको छिपने के लिए तुरंत कोई जगह खोजनी होगी. अगर आप बाहर से सीधा घर के अंदर घुसना चाहते हैं तो बेहतर है कि झाड़ियों का सहारा लें. ऐसा करने से आपको अच्छा कवर मिल जाएगा. लेकिन इस बात का खास ध्यान रखना होगा कि दरवाज़े से अंदर जाते वक्त काफी सतर्क रहें. खिड़की के रास्ते भी आप अंदर घुस सकते हैं. ऐसा करने के लिए बेहतर है आप छत पर जाकर छज्जे पर कूद जाएं और उसके बाद खिड़की से अंदर घुसें. इस तरीके से घुसने से दुश्मन से बचने में आसानी होगी क्योंकि उसे इस बात की उम्मीद नहीं होगी कि खिड़की से कोई अंदर घुस सकता है.

PUBG Mobile Erangel मैप में मिलिट्री बेस
PUBG Mobile - Erangel मैप में मिलिट्री बेस


कवर ज़रूर लें-
कवर के साथ चलना हमेशा आपको खतरे से बचाता है और दुश्मन आपको देख नहीं पाता. हमेशा कॉशन के हिसाब से ही चलें क्योंकि आपको पता नहीं होता कि कब किसकी नज़र आपके ऊपर बनी हुई है. अंदर घुसनें पर आपको काफी मशीनें मिल जाएंगी जिसके पीछे आप छिप सकते हैं. हालांकि, मेन डोर यानी मुख्य दरवाजे के पीछे छिपना काफी अच्छा ऑप्शन हो सकता है. लेकिन, इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि यहां छिपते वक्त आपके हाथों में कोई हथियार न हो क्योंकि यहां से राइफल कुछ हिस्सा बाहर दिख सकता है. अगर हथियार हाथों में नहीं होगा तो दीवार होने की वजह से दुश्मन दायीं ओर नहीं मुडेंगें.

छिपकर हमला करना-
छिपकर हमला करने के लिए दीवारों में बनी डिज़ाइन का फायदा उठा सकते हैं. इसके अलावा दीवार के सहारे कमरे के अंदर झांक सकते हैं. ऐसा करके आप आगे बढ़कर गोली चला पाएंगे. दुश्मन को स्पॉट करने का एक दूसरा तरीका है कि दरवाज़ा खोलकर उसके ऊपर चढ़ जाने का. इससे पता लग जाता है कि दुश्मन कहां छिपा हुआ है. फिर आप कमरे के अंदर जाकर गोली चला सकते हैं या ग्रेनेड फेंक सकते हैं.

अकेले के बजाय टीम वर्क हमेशा अच्छा होता है-
अगर आपके पास टीम नहीं है तो भी सीखते वक्त जो इंटरएक्टिविटी मिलती है उसे यूज़ करना काफी अच्छा होता है. मिलिट्री बेस को खत्म करते वक्त किसी टीम का पार्ट होना आपको कई फायदे दिलाता है. लेकिन ये बात यहीं तक सीमित नहीं है. जब आप छत से जमीन पर कूद रहे हैं उस वक्त भी आप अपने टीममेट का साथ ले सकते हैं जिससे घायल हुए बिना कम्फर्टेबल लैंडिंग कर सकते हैं.

ध्यान रखें कि आप कहां गिर रहे हैं-
ध्यान देने वाली बात है कि मिलिट्री बेस में 70 फीसदी मौतें खिड़कियों से या छिपने वाली जगहों से होती हैं. बिल्डिंग के टॉप पर उतरना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है क्योंकि इससे आपको हथियारों का अच्छा एक्सेस मिल जाता है. जैसे ही आपको हथियार मिलते हैं उन्हें लेकर खिड़की की तरफ जाएं और देखें कि आपके कितने दोस्त खुले में हैं. दूसरे लैंडिंग स्पॉट्स की तुलना में मिलिट्री बेस में काफी खुला स्थान है जिससे दुश्मन आपको आसानी से स्पॉट कर लेता है.

हालांकि, अगर आप किसी ओपन एरिया में उतरते हैं और अपने आपको बचाने के लिए दौड़ रहे हैं तो जंप करके दौड़िए क्योंकि इससे दुश्मन के लिए आपको निशाना बनाने में मुश्किल होगी. खुले मैदान में पड़े हुए बॉक्स और कंटेनर्स भी आपकी सहायता कर सकते हैं जिसके पीछे छिपकर आप अगले कदम की प्लानिंग कर सकते हैं.

पुरुषों के लिए एक खास प्रोडक्ट ला रहा है Xiaomi, आज 12 बजे होगा लॉन्च
Gmail अकाउंट हैक होने पर आसानी से रिकवर कर सकते हैं आप, अपनाएं ये 8 स्टेप्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...