भारत के पहले इंटरनेट टाइकून बनना चाहते हैं RIL चेयरमैन मुकेश अंबानीः रिपोर्ट

TRAI के अनुसार पिछले साल नवंबर में भारत में मोबाइल कस्टमर बेस 1.17 बिलियन पहुंच चुका है जिसमें से अकेले Jio के 28 करोड़ सब्सक्राइबर हैं.

News18Hindi
Updated: January 25, 2019, 5:48 PM IST
भारत के पहले इंटरनेट टाइकून बनना चाहते हैं RIL चेयरमैन मुकेश अंबानीः रिपोर्ट
TRAI के अनुसार पिछले साल नवंबर में भारत में मोबाइल कस्टमर बेस 1.17 बिलियन पहुंच चुका है जिसमें से अकेले Jio के 28 करोड़ सब्सक्राइबर हैं.
News18Hindi
Updated: January 25, 2019, 5:48 PM IST
Jio को ऊंचाई पर पहुंचाने और 28 करोड़ यूजर्स हासिल करने के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी अब भारत के पहले इंटरनेट टाइकून बनना चाहते हैं. The Economist की रिपोर्ट के अनुसार जियो की सर्विस के साथ उन्होंने टेलिकॉम इंडस्ट्री में बड़ी क्रांति लाई है और अब वे भारत के जेफ बेजोस या जैक मा बनना चाहते हैं.

इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि मुकेश अंबानी पैसे कमाने के लिए टेक टाइकून नहीं बनना चाहते हैं. रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले से ही कंटेंट क्रिएशन में इन्वेस्ट कर चुका है और क्रिकेट मैच और डिज्नी की फिल्म्स को 'Jio TV' प्लेटफॉर्म पर दिखाने के लिए राइट खरीद चुका है. "वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट 2019" को 18 जनवरी को संबोधित करते हुए मुकेश अंबानी ने ऐलान किया कि रिलायंस अगले 10 सालों में अपन इन्वेस्टमेंट और एम्पलॉयमेंट नंबर को दोगुना कर देगी.



ये भी पढ़ें: लॉन्च हुआ 25 मेगापिक्सल वाला Honor View 20, जानें कीमत और फीचर्स

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से ''डेटा औपनिवेशीकरण'' के खिलाफ लड़ाई लड़ने के बारे में निवेदन करते हुए कहा कि रिलायंस जियो और रिलायंस रिटेल छोटे रिटेलर्स के लिए नया कॉमर्स प्लेटफॉर्म लॉन्च करेगी. यह एक बड़ा मिशन है जिसको सबसे पहले गुजरात और फिर देश के अन्य जगहों पर लॉन्च किया जाएगा.

रिलायंस जियो अक्टूबर-दिसंबर 2018 में 65 प्रतिशत का मुनाफा कमाया है जिसके बारे में कंपनी ने पिछले हफ्ते जानकारी दी. वित्त वर्ष 2018-19 के तीसरे तिमाही में कंपनी को 831 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ वहीं इसके पहले अक्टूबर-दिसंबर 2017-18 में कंपनी को 504 करोड़ का मुनाफा हुआ था.

ये भी पढ़ें: 9 फीट ऊपर से गिराने के बाद भी नहीं टूटा 48 मेगापिक्सल वाला Redmi Note 7, देखें VIDEO

बता दें कि टेलिकॉम रेग्यूलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अनुसार पिछले साल नवंबर में भारत में मोबाइल ग्राहकों की संख्या 1.17 बिलियन पहुंच चुकी है. वहीं ब्रॉडबैंड यूजर्स की बात करें तो वह 500 मिलियन से ज्यादा है जिसमें से 97 प्रतिशत लोग वायरलेस कनेक्शना का इस्तेमाल कर रहे हैं. इसमें से अकेले जियो के 28 करोड़ सब्सक्राइबर हैं.
Loading...

(डिस्क्लेमर: न्यूज़18 हिंदी रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...