• Home
  • »
  • News
  • »
  • tech
  • »
  • शशि थरूर के नेतृत्व वाली संसदीय समिति ने Google और Facebook को किया तलब, जानें क्या है मामला

शशि थरूर के नेतृत्व वाली संसदीय समिति ने Google और Facebook को किया तलब, जानें क्या है मामला

यह बैठक कल यानी मंगलवार शाम चार बजे होगी.

दोनों कंपनियों को सोशल मीडिया के दुरुपयोग और नागरिकों के अधिकारों की रक्षा के मुद्दे पर चर्चा के लिए बुलाया गया है. सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय से जुड़ी संसद की स्थायी समिति ने इन दोनों दिग्गज सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म को समिति के सामने बुलाया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कांग्रेस नेता शशि थरूर की अध्यक्षता वाली आईटी मामलों की संसदीय समिति ने फेसबुक इंडिया और गूगल इंडिया को तलब किया है. दोनों कंपनियों को सोशल मीडिया के दुरुपयोग और नागरिकों के अधिकारों की रक्षा के मुद्दे पर चर्चा के लिए बुलाया गया है. सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय से जुड़ी संसद की स्थायी समिति ने इन दोनों दिग्गज सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म को समिति के सामने बुलाया है, जहां फेसबुक और गूगल के विचारों को सुना जाएगा. यह बैठक कल यानी मंगलवार शाम चार बजे होगी.

    यह बैठक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के कथित दुरुपयोग और सरकार के ट्विटर के साथ जारी खींचतान की पृष्ठभूमि में हो रही है. इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने ट्विटर की ओर से केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद का अकाउंट एक घंटे के लिए बंद किए जाने के बाद शुक्रवार को कहा कि उनके साथ भी ऐसा हुआ और अब संसद की स्थायी समिति इस माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट से इसको लेकर स्पष्टीकरण मांगेगी.

    रविशंकर प्रसाद ने किया था ट्टिट
    दरअसल, रविशंकर प्रसाद ने ट्वीट कर अपने अकाउंट को अस्थायी रूप से बंद किए जाने की जानकारी दी. उन्होंने कहा कि दोस्तो! आज कुछ बहुत ही अनूठा हुआ. ट्विटर ने संयुक्त राज्य अमेरिका के डिजिटल मिलेनियम कॉपीराइट अधिनियम (डीएमसीए) के कथित उल्लंघन के आधार पर लगभग एक घंटे तक मेरे अकाउंट तक पहुंच को रोका और बाद में उन्होंने मुझे अकाउंट के उपयोग की अनुमति दी.

    ये भी पढ़ें -  Paytm पर LPG Cylinder डिलिवरी को कर सकेंगे ट्रैक, LPG बुकिंग पर मिलेगा 900 रुपये का कैशबैक, जानें तरीका

    इस विषय पर होगी बात
    समिति ने अब फेसबुक और गूगल को नए आईटी नियमों को लेकर ट्विटर के अधिकारियों से बातचीत के 10 दिन बाद समन जारी किया गया है. इस मीटिंग के दौरान यूजर्स की ओर से प्लेटफॉर्म पर अपलोड की जाने वाली सामग्री और भारत में लागू कानूनों को लागू करने को लेकर बात की जाएगी. इससे पहले ट्विटर की टीम ने संसदीय समिति के सामने पेश होकर कहा था कि वह अपनी नीतियों का ही पालन करता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज