भारत में गूगल प्ले स्टोर पर नंबर-1 फ्री ऐप बना Signal, पढ़िए Whatsapp के सबसे बड़े विकल्प की पूरी कुंडली

WhatsApp यूजर्स अब Signal App की तरफ शिफ्ट हो रहे हैं.

WhatsApp यूजर्स अब Signal App की तरफ शिफ्ट हो रहे हैं.

व्हाट्सऐप (WhatsApp) को पीछे छोड़ इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप सिग्नल (Signal) में स्विच कर रहे हैं. अब ये ऐप भारत समेत कई देशों में टॉप फ्री ऐप बन गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 11, 2021, 12:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दुनिया में सबसे ज्यादा यूज किए जाने वाले इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप (WhatsApp) ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट किया है. ये प्राइवेसी पॉलिसी 8 फरवरी से लागू हो जाएगी. वॉट्सऐप की नई पॉलिसी से बहुत से यूजर्स नाखुश हैं, जिसकी वजह से यूजर्स व्हाट्सऐप के विकल्प को खोजने लगे हैं. अब लोग प्राइवेसी फोकस्ड इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप सिग्नल (Signal) में स्विच कर रहे हैं. अब ये ऐप भारत समेत कई देशों में टॉप फ्री ऐप बन गया है.

एलन मस्क ने किया ट्वीट

टेस्ला के सीईओ और दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क ने ट्वीट करके अपने फॉलोअर्स को सिग्नल ऐप यूज करने की सलाह दी है. मस्क के इस ट्वीट ने सोशल मीडिया पर सनसनी मचा दी है. 2.7 लाख से ज्यादा लोग इस ट्वीट को लाइक कर चुके हैं और 32 हजार से ज्यादा रीट्वीट हो चुके हैं.


2014 में लॉन्च हुआ था सिग्नल ऐप

फेसबुक के हाथों बिकने के बाद वॉट्सऐप के को-फाउंडर ब्रायन एक्टन ने सिग्नल फाउंडेशन बनाया. सिग्नल ऐप का स्वामित्व सिग्नल फाउंडेशन और सिग्नल मैसेंजर एलएलसी के पास है. साल 2014 में इसे लॉन्च किया गया था. फिलहाल सिग्नल ऐप के सीईओ मॉक्सी मार्लिनस्पाइक (Moxie Marlinspike) हैं. इस ऐप की टैगलाइन ‘Say Hello to Privacy’ है.

Youtube Video




Signal और WhatsApp में क्या है अंतर

सिग्नल ऐप यूजर का किसी भी तरह डाटा कलेक्ट नहीं करता जबकि व्हाट्सऐप ने अब यूजर डाटा कलेक्ट करना शुरू कर दिया है. सिग्नल ऐप सिर्फ यूजर का मोबाइल नंबर लेती है, वहीं वॉट्सऐप फोन नंबर, कॉन्टैक्ट लिस्ट, लोकेशन, मैसेज सारे डाटा कलेक्ट करती है.

क्या है WhatsApp की नई पॉलिसी, जिसे नहीं मानने से अकाउंट होगा डिलीट?

व्हाट्सऐप ने जो नई पॉलिसी पेश की है, उसे यूजर्स को 8 फरवरी 2021 तक एक्सेप्ट करना होगा. इसके लिए आप वॉट्सऐप के हेल्प सेंटर पर जा कर पॉलिसी में एग्री और नॉट नाउ का विकल्प चुन सकते हैं. जिसमें लिखा है कि हमारी सर्विसेज को ऑपरेट करने के लिए आपके वॉट्सऐप कंटेंट को फेसबुक और इंस्टाग्राम के साथ शेयर किया जाएगा. यूजर्स के पास नई पॉलिसी का पॉपअप आएगा, जिसे उन्हें एक्सेप्ट करना होगा. इसके लिए आप एग्री पर टैप करते हैं तो आप कंपनी की नई पॉलिसी को अपनी सहमति देंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज