आसान है किसी भी मैसेजिंग ऐप की Group Chat को Signal ऐप पर मूव करने का तरीका, जानें स्टेप्स

WhatsApp यूजर्स अब Signal App की तरफ शिफ्ट हो रहे हैं.

WhatsApp यूजर्स अब Signal App की तरफ शिफ्ट हो रहे हैं.

Signal ने एक गाइड शेयर कर बताया है कि कैसे यूज़र अपने किसी मैसेंजर के ग्रुप को Signal ऐप में ग्रुप लिंक से कर सकते है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 11, 2021, 12:26 PM IST
  • Share this:
WhatsApp यूज़र्स को नई Terms of services को ऐक्सेप्ट करने के लिए एक पॉप-अप आ रहा है, जिसे एक्सेप्ट करना ज़रूरी है कहा गया. हालांकि अभी इसपर ‘Not Now’ का ऑप्शन दिया जा रहा है, जिसे फरवरी तक स्किप किया जा सकता है. लेकिन यूज़र्स को इसे 8 फरवरी तक Accept करना ज़रूरी है, जिसके बगैर वॉट्सऐप का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है. नए Terms of services के मुताबिक WhatsApp यूज़र्स के डेटा पर पहले से ज्यादा निगरानी रखेगा और इसे फेसबुक अपनी दूसरी सर्विस के साथ भी शेयर करेगा.

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी से कुछ यूज़र्स नाखुश हैं, जिसकी वजह से वह सिग्नल और टेलिग्राम जैसी ऐप पर शिफ्ट हो रहे हें. ऐसे में यूज़र्स का मानना है कि उनके लिए उनकी प्राइवेसी ज़्यादा ज़रूरी है, जिसके चलते वह वॉट्सऐप को छोड़ने के लिए तैयार हैं. Signal ने गुरुवार को ट्वीट करके बताया कि ज़्यादा नए यूज़र्स की वजह से वेरिफिकेशन कोड आने में देरी हो रही है. कंपनी ने एक गाइड भी शेयर किया है, जिसमें बताया गया है कि कैसे यूज़र अपने किसी मैसेंजर के ग्रुप को Signal ऐप में ग्रुप लिंक से कर सकते है.

(ये भी पढ़ें-  बेहद सस्ता हो गया Nokia का ये बजट स्मार्टफोन, मिलेंगे 4 दमदार कैमरे और 6GB RAM)


ध्यान देने वाली बात ये है कि यूज़र अपनी चैट को एक ऐप से दूसरे ऐप में मूव नहीं कर सकते है. Signal ने जो फीचर शेयर किया है उससे बस यूजर एक मैसेंजर से दूसरे में जा सकता है.

अगर आप भी जानना चाहते हैं कि कैसे दूसरी ऐप की ग्रुप चैट को Signal में लाया जा सकता है तो आपको कुछ स्टेप्स को फॉलो करना होगा. हम आपको बता रहे है कि कैसे ग्रुप चैट को WhatsApp या किसी मैसेंजर ऐप से Signal ऐप में लाने का पूरा तरीका.

>>इसके लिए सबसे पहले Signal पर एक ग्रुप क्रिएट करें.



>> Group Setting पर टैप करके ग्रुप लिंक पर क्लिक करें.

>> ग्रुप लिंक के लिए toggle ऑन करके शेयर पर टैप करें.

>> इसे अपने पुराने मैसेंजर में शेयर करें.

Youtube Video


(ये भी पढ़ें- BSNL का धांसू प्रीपेड प्लान! सिर्फ 398 रुपये के रिचार्ज में पाएं अनलिमिटेड डेटा और वॉइस कॉलिंग, जानें वैलिडिटी)

Signal ऐप ने ग्रुप माइग्रेशन लिंक के सिक्योरिटी पर कमेंट करते हुए कहा है ‘लिंक्स ऑप्शनल है जिसे कभी भी रोटेट या डिसेबल किया जा सकता है. नए मेंबर को जॉइन होने से पहले ग्रुप एडमिन का अप्रूवल चाहिए.’

ग्रुप बन जाने के बाद कुछ नए ऑप्शन्स Enable हो जाएंगे. जानें किन स्टेप्स को फॉलो करना हैं.

>> शेयर आइकॉन पर टैप करके लिंक को दूसरे यूज़र को फॉरवार्ड कर सकते हैं.

>> शेयर लिंक का इस्तेमाल करके ग्रुप में नए मेंबर को अप्रूव करने का टॉगल ऑन या ऑफ किया जा सकता है.

>>अगर यूज़र को लगता है कि लिंक ज्यादा शेयर हो गई है तो वो लिंक को रिसेट भी कर सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज