नहीं चला महंगे फोन का जादू, लोगों ने सबसे ज़्यादा खरीदा इस कंपनी का स्मार्टफोन!

जानें किस कंपनी के फोन को सबसे ज़्यादा पसंद किया गया...

News18Hindi
Updated: May 29, 2019, 1:42 PM IST
नहीं चला महंगे फोन का जादू, लोगों ने सबसे ज़्यादा खरीदा इस कंपनी का स्मार्टफोन!
File Photo
News18Hindi
Updated: May 29, 2019, 1:42 PM IST
स्मार्टफोन की वैश्विक बिक्री वर्ष 2019 की पहली तिमाही में 2.7 प्रतिशत घटी है. इस वर्ष कुल 37.3 करोड़ यूनिट की ब्रिकी हुई और अमेरिका में अपनी अनुपस्थिति के बावजूद हुआवे ने स्मार्टफोन विक्रेता के रूप में वैश्विक स्तर पर नंबर-2 की रैंकिंग बनाए रखी है. 'गार्टनर डॉट कॉम' के मुताबिक, हुआवे ने इसी के साथ पहले पायदान पर काबिज सैमसंग के साथ अपने अंतर को भी कम किया. इस साल की पहली तिमाही में सैमसंग ने बाजार में 19.2 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करते हुए वैश्विक स्मार्टफोन की बिक्री में शीर्ष स्थान बनाए रखा जबकि हुआवे ने दुनिया की शीर्ष पांच कम्पनियों में साल में सबसे अधिक वृद्धि हासिल की.

हुआवे के कुल 5.84 करोड़ स्मार्टफोन बिके और उसने 44.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की. गार्टनर के सीनियर रिसर्च डायरेक्टर अंशुल गुप्ता ने कहा, ‘बेसिक स्मार्टफोन्स की तुलना में प्रीमियम स्मार्टफोन्स की डिमांड कम रही, जिससे सैमसंग और एप्पल जैसे ब्रांड प्रभावित हुए, जिनकी हाई-एंड स्मार्टफोन्स में अधिक हिस्सेदारी है’.  (ये भी पढ़ें-WhatsApp पर जिससे चाहें, उससे छुपाएं अपनी फोटोज़-वीडियोज़, यहां देखें पूरा तरीका)

गुप्ता ने कहा कि इसके अलावा, यूटिलिटी स्मार्टफोन्स की मांग घट गई क्योंकि फीचर फोन से स्मार्टफोन में अपग्रेड करने की दर धीमी हो गई. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि 4G फीचर फोन यूजर्स को कम कीमत पर बेहतरीन फायदे देते हैं.

सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बेचने वाले दो देश अमेरिका और चीन में 2019 की पहली तिमाही में बिक्री में कमी आई है. दोनों देशों में क्रमश: 15.8 और 3.2 फीसदी की गिरावट देखी गई. हालांकि, इन सभी क्षेत्रों में हुआवे के स्मार्टफोन की बिक्री बढ़ी है. गुप्ता ने कहा कि हुआवे ने अपने दो सबसे बड़े क्षेत्रों, यूरोप और ग्रेटर चीन में विशेष रूप से अच्छा प्रदर्शन किया जहां उसके स्मार्टफोन की बिक्री में क्रमश: 69 प्रतिशत और 33 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.   (ये भी पढ़ें- आपका Gmail किसी और के फोन में तो नहीं है Login, वीडियो में देखे कैसे करें पता)

गुप्ता ने बताया, ‘सैमसंग ने अपना फ्लैगशिप गैलेक्सी S10 स्मार्टफोन पोर्टफोलियो लॉन्च किया जिसे अच्छी प्रतिक्रिया मिली थी. हालांकि, इसका प्रभाव सीमित था क्योंकि सैमसंग ने पहली तिमाही के अंत में केवल S10 की शिपिंग शुरू की थी. उन्होंने कहा, सैमसंग ने 'A', 'J' और 'M' सीरीज के साथ अपने मिड-टायर और एंट्री-टायर के स्मार्टफोन रेंज को भी मजबूत किया, लेकिन चीनी निर्माताओं की आक्रामक प्रतिस्पर्धा के कारण इसका प्रभाव कम रहा.

एप्पल के iPhone की ब्रिकी में 17.6 प्रतिशत की कमी आई है. पहली तिमाही में एप्पल कुल 4.46 करोड़ फोन ही बेच पाया.  गुप्ता ने कहा कि बाजारों में iPhone की कीमत में हुई कटौती ने मांग को बढ़ाने में मदद की, लेकिन पहली तिमाही में यह ब्रिकी को बढ़ाने में कामयाब नहीं हो पाई. एप्पल फिलहाल, लंबे रिप्लेसमेंट साइकल का सामना कर रहा है क्योंकि उपभोगताओं को अपने मौजूदा iPhone को बदलने का कोई खास वजह नजर नहीं आ रही है.

-WhatsApp पर टाइप नहीं, बोलकर भेजें किसी को भी Message, ये है तरीका
Loading...

जियो SIM यूज़र्स के लिए मुफ्त है ‘Hello Jio’ सर्विस, देखें कैसे करती है काम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गैजेट्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 29, 2019, 1:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...