35 साल पुराने Super Mario ने तोड़ा रिकॉर्ड! 85 लाख से ज़्यादा कीमत में बिकी सील्ड कॉपी

35 साल पुराने Super Mario ने तोड़ा रिकॉर्ड! 85 लाख से ज़्यादा कीमत में बिकी सील्ड कॉपी
Super Mario Bros की एक सील्ड कॉपी 85 लाख से ज़्यादा कीमत में बिकी है.

1985 में रिलीज़ हुए Super Marip गेम के US वर्जन की एक रेयर सील्ड कॉपी को हेरिटेज नीलामी में 114,000 डॉलर (करीब 85,72,267 रुपये) में बेचा गया.

  • Share this:
Super Mario Bros गेम लॉन्च होने के करीब 35 साल बाद भी रिकॉर्ड तोड़ रहा है. 1985 में रिलीज़ हुए इस गेम के US वर्जन की एक रेयर सील्ड कॉपी को हेरिटेज नीलामी (Heritage Auctions) में 114,000 डॉलर (करीब 85,72,267 रुपये) में बेचा गया. पिछले साल एक और Super Mario Bros गेम की कॉपी 100,150 डॉलर (करीब 75,30,629 रुपये) में बिकी थी. इस तरह नए ऑक्शन में बिके गेम की कीमत पिछले के मुकाबले करीब 14,000 डॉलर (10.5 लाख रुपये) ज्यादा लगाई गई है.

नीलामी में लगाई गई इस रिकॉर्ड तोड़ बोली के बारे में गेम जर्नलिस्ट क्रिस कोहलर ने लिखा कि उन्होंने पाया कि इस नीलामी में सिंगल गेम की सेल का नया रिकॉर्ड सेट किया गया है. क्रिस कोहलर के मुताबिक ये अब तक का सबसे महंगा गेम है.

(ये भी पढ़ें- एक बार चार्ज होकर 40 घंटे चलेगी Motorola के इस फोन की बैटरी, कीमत 15 हज़ार रु से भी कम!)



दरअसल ये गेम पूरी तरह ओरिजनल पैकिंग में सील्ड और परफेक्ट कंडीशन में है और इसकी ग्रेडिंग 10 में से 9.4 की गई है. शायद यही वजह है कि ये पहले से ज़्यादा कीमत में बिका है. साथ ही ये US रिटेल एडिशन का एक विशेष वर्जन भी है.
ये भी है खासियत
द वर्ज के मुताबिक जैसे-जैसे Nintendo ने अपनी कंपनी को अमेरिका में स्थापित करना शुरू किया, उनकी पैकेजिंग को लगभग लगातार अपडेट किया गया. मारियो के इस सील्ड गेम के बॉक्स में प्लास्टिक के अंदर कार्ड बोर्ड हैंगटैब लगाए गए थे. इसका मतलब है कि ये कॉपी Nintendo के बनाए गए बिल्कुल शुरुआती वेरिएंट्स में से एक है. इसके बाद कंपनी ने गेम को सील करने के लिए स्टिकर्स की जगह रैपर का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था.

(ये भी पढ़ें- सावधान! आपके फोन के लिए खतरनाक हैं ये 11 ऐप्स, गूगल ने हटाया, आपको भी फौरन डिलीट करने की सलाह)

सभी चीज़ों को देखने के बावजूद क्या इस गेम की कीमत 114,000 डॉलर सही है? हम पूरी तरह से निश्चित नहीं हो सकते हैं, क्योंकि नीलामी विजेता अनाम रहता है. आमतौर पर ये खरीदार बहुत अमीर होते हैं, जो इस तरह से अनाम रहना पसंद करते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading