TRAI ने नए एसएमएस नियमों को 7 दिन के लिए किया सस्‍पेंड, जानें ग्राहकों को क्‍या हो रही थी परेशानी

TRAI ने नए एसएमएस नियमों को एक सप्‍ताह के लिए सस्‍पेंड कर दिया है.

TRAI ने नए एसएमएस नियमों को एक सप्‍ताह के लिए सस्‍पेंड कर दिया है.

टेलीकॉम रेग्‍युलेटर ट्राई (TRAI) ने कमर्शियल टैक्स मैसेज के लिए नए नियमों (New Regulations) को एक हफ्ते के लिए निलंबित (Suspend) कर दिया है. दरअसल, यूजर्स को वन टाइम पासवर्ड (OTP) देरी से मिलने के कारण कई सेवाओं के इस्‍तेमाल में दिक्‍कतें आ रही थीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 9, 2021, 11:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. टेलीकॉम रेग्‍युलटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने ग्राहकों की दिक्‍कतों को ध्‍यान में रखते हुए कॉमर्शियल टैक्स मैसेज के लिए लागू किए नए नियमों (New SMS Regulations) को एक सप्‍ताह के लिए निलंबित कर दिया है. दरअसल, ग्राहकों को बैंकिंग, डिजिटल पेमेंट और दूसरे ट्रांजैक्शन के लिए एसएमएस व ओटीपी (SMS and OTP Issues) मिलने में रुकावटों की वजह से काफी परेशानी हो रही थी. नए एमएसएमएस नियमों को सोमवार से ही लागू किया गया था और मंगलवार को ही उन पर रोक लगानी पड़ गई. इनके अस्थायी निलंबन से कॉमर्शियल यूनिट्स को ग्राहकों को मैसेज और ओटीपी भेजने के लिए नई जरूरतों का पालन करने का ज्यादा समय मिल गया है.

Co-WIN App पर भी लोगों को झेलनी पड़ी दिक्‍कत

एसएमएस सर्विसेज में मंगलवार यानी 9 मार्च 2021 को तकनीकी खामी के चलते कई यूजर्स को काफी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ रहा था. इसके चलते बैंक या ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स के लिए ओटीपी मिलने में देरी हो रही थी. इससे न सिर्फ डेबिट कार्ड ट्रांजैक्शंस में दिक्कत आ रही थी, बल्कि कोरोना वैक्‍सीनेशन रजिस्‍ट्रेशन के लिए लॉन्‍च किए गए Co-WIN App पर भी लोगों को दिक्‍कत हो रही थी. टू-फैक्टर अथेंटिकेशन वाले खातों में भी परेशानी आई. इसमें दूसरे फेज के ऑ‍थेंटिकेशन के लिए ओटीपी डालना होता है. बता दें कि कि नए एसएमएस नियम धोखाधड़ी रोकने के लिए लाए गए हैं. इसके तहत अब यूजर्स के पास मैसेज आने से पहले उसे वेरिफाई किया जाएगा कि यह स्पैम तो नहीं है.

ये भी पढ़ें- अप्रैल 2021 में घट सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम, केंद्र सरकार ने बनाई अचूक रणनीति
टेलीकॉम कंपनियां लागू कर रही हैं स्‍क्रबिंग पॉलिसी

टेलीकॉम कंपनियां ट्राई के निर्देशों के मुताबिक स्क्रबिंग प्रॉसेस लागू कर रही हैं. स्क्रबिंग प्रक्रिया के तहत हर एसएमएस को यूजर्स के पास पहुंचने से पहले रजिस्टर्ड टेंप्लेट से वेरिफाई किया जाता है. इस प्रक्रिया को लागू करने से लोगों को काफी समस्या झेलनी पड़ी है. हालांकि, ये समस्या सभी यूजर्स को नहीं हो रही है. ऑपरेटर्स ने न्यू डिस्ट्रीब्यूटेड लेजर टेक्नोलॉजी (DLT) प्रॉसेस को लागू करना शुरू किया है. इसके चलते पुश नोटिफिकेशंस प्रभावित हुए हैं. डीएलटी ब्लॉकचेन पर आधारित एक रजिस्ट्रेशन सिस्टम है और ट्राई ने सभी टेलीमार्केटर्स के लिए डीएलटी प्लेटफॉर्म पर रजिस्‍ट्रेशन अनिवार्य कर दिया है. इसका उद्देश्य टेलीमार्केटर्स की तरफ से एसएमएस स्पैम पर लगाम कसना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज