ISD इनकमिंग कॉल टर्मिनेशन रेट घटकर हुआ 30 पैसे

टेलीकॉम रेगुलेटर ट्राई ने शुक्रवार को इंटरनेशनल इनकमिंग कॉल टर्मिनेशन रेट को घटाकर 30 पैसे प्रति मिनट कर दिया है. पहले यह रेट 53 पैसे था.

News18Hindi
Updated: January 12, 2018, 7:22 PM IST
ISD इनकमिंग कॉल टर्मिनेशन रेट घटकर हुआ 30 पैसे
ट्राई ने इंटरनेशनल इनकमिंग कॉल टर्मिनेशन रेट को घटाकर 30 पैसे कर दिया है. पहले यह रेट 53 पैसे था.
News18Hindi
Updated: January 12, 2018, 7:22 PM IST
टेलीकॉम रेगुलेटर ट्राई ने शुक्रवार को इंटरनेशनल इनकमिंग कॉल टर्मिनेशन रेट को घटाकर 30 पैसे प्रति मिनट कर दिया है. पहले यह रेट 53 पैसे था. ट्राई ने एक आधिकारिक बयान में कहा है कि ग्रे रूट्स पर लगाम कसने के लिए यह कदम उठाया गया है. नए रेट्स 1 फरवरी 2018 से प्रभावी होंगे. ट्राई ने एक बयान में कहा है, 'अथॉरिटी ने किसी इंटरनेशनल लॉन्ग डिस्टेंस ऑपरेटर (ILDO) द्वारा एक्सेस प्रोवाइडर को दिए जाने वाले टर्मिनेशन चार्जेज को 0.53 पैसे मिनट से घटाकर 0.30 प्रति मिनट कर दिया है.'

सिक्योरिटी के लिए खतरा, रेवेन्यू का भी नुकसान
टेलीकॉम कंपनियां उस ऑपरेटर पर टर्मिनेशन चार्ज लगाती हैं, जिसके नेटवर्क से कॉल की गई है. ट्राई ने कहा है कि नया नियम एक फरवरी 2018 से प्रभावी होगा. इससे पहले, एक बैकग्राउंड नोट में ट्राई ने जिक्र किया था कि ग्रे मार्केट में भारत को की जाने वाली ISD कॉल गैरकानूनी VoIP (वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल) गेटवेज के जरिए की जाती हैं, जिसे खत्म किए जाने की जरूरत है. ट्राई ने कहा था कि ग्रे रूट देश की सिक्योरिटी के लिए गंभीर खतरा है. साथ ही, इससे रेवेन्यू का भी नुकसान हो रहा है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर