लाइव टीवी

TRAI ने स्पेक्ट्रम की कीमत को ठहराया सही, कहा- नीलामी में हिस्सा लेना, न लेना कंपनी की मर्जी

News18Hindi
Updated: February 13, 2020, 8:11 AM IST
TRAI ने स्पेक्ट्रम की कीमत को ठहराया सही, कहा- नीलामी में हिस्सा लेना, न लेना कंपनी की मर्जी
ई ने बुधवार को कहा कि उसने इंडस्ट्री से मिले रिएक्शन के आधार पर कीमतों में अपनी अंतिम राय बनाई है.

ट्राई का यह विचार काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि भारती एयरटेल ने इससे पहले इसी महीने साफ किया था कि यदि स्पेक्ट्रम का आधार मूल्य 492 करोड़ रुपये प्रति मेगाहर्ट्ज ही रखा जाता है तो वह आगामी स्पेक्ट्रम नीलामी में नहीं भाग लेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 13, 2020, 8:11 AM IST
  • Share this:
नयी दिल्ली: भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने स्पेक्ट्रम कीमतों पर अपनी सिफारिशों का बचाव किया है. इनमें 5जी स्पेक्ट्रम भी शामिल है. ट्राई ने बुधवार को कहा कि उसने टेलीकॉम इंडस्ट्री से मिले रिएक्शन के आधार पर कीमतों में अपनी अंतिम राय बनाई है. ट्राई ने इसके साथ ही कहा है कि यह व्यक्तिगत रूप से अलग-अलग पक्षों को तय करना है कि वह नीलामी में शामिल होना चाहते हैं या नहीं.

ट्राई का यह विचार काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि भारती एयरटेल ने इससे पहले इसी महीने साफ किया था कि यदि स्पेक्ट्रम का आधार मूल्य 492 करोड़ रुपये प्रति मेगाहर्ट्ज ही रखा जाता है तो वह आगामी स्पेक्ट्रम नीलामी में नहीं भाग लेगी. ट्राई ने अगली स्पेक्ट्रम नीलामी के लिए इसी आधार मूल्य की सिफारिश की है.

दूरसंचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री संजय धोतरे ने पिछले हफ्ते राज्यसभा को सूचित किया था कि स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए कैबिनेट नोट का मसौदा तैयार किया जा रहा है. फिलहाल इस दस्तावेज पर विभाग में विचार विमर्श चल रहा है.  ट्राई के चेयरमैन आर एस शर्मा ने बुधवार को कहा, 'मैं प्राइवेट कंपनियों के फैसलों पर प्रतिक्रिया नहीं देता. ट्राई ने रिज़र्व प्राइस का सुझाव विभिन्न स्टेक होल्डर्स से मिली राय के आधार पर दिया है. इसे सरकार को भेजा गया है. सरकार ने रिज़र्व्ड प्राइस पर सिफारिशों को स्वीकार कर लिया है. अब नीलामी कब होनी है यह सरकार को तय करना है.'

शर्मा ने एक्सपेरी कॉरपोरेशन और इंडिया सेल्युलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (आईसीईए) द्वारा ‘डिजिटल रेडियो विजन फॉर इंडिया’ विषय पर आयोजित ज्वाइंट वर्कशॉप के मौके पर अलग से बातचीत में कहा कि नीलामी के समय पर सरकार को फैसला करना है. नीलामी में भाग लेना है या नहीं यह संबंधित पक्षों को तय करना है.' उनसे एयरटेल के हालिया बयान के बारे में पूछा गया था. सरकार अगले दौर की स्पेक्ट्रम नीलामी इस साल अप्रैल-मई में आयोजित करने की तैयारी में है. इस नीलामी में 5जी स्पेक्ट्रम भी बिक्री के लिए रखा जाएगा.

डिजिटल संचार आयोग (डीसीसी) ने ट्राई की आरक्षित मूल्य पर सिफारिशों को स्वीकार कर लिया है. लेकिन इसे अंतिम मंजूरी के लिए मंत्रिमंडल के समक्ष रखा जाएगा. शर्मा ने बताया कि दूरसंचार विभाग ने अभी तक नए स्पेक्ट्रम बैंड पर सिफारिशों के लिए नियामक से संपर्क नहीं किया है. यह पूछे जाने पर कि क्या नियामक से 5जी बैंड के बारे में संपर्क किया गया है, शर्मा ने कहा, 'अभी तक ऐसा नहीं है लेकिन जब भी हमसे संपर्क किया जाएगा, हम विचार विमर्श की प्रक्रिया के लिए तैयार हैं.'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मोबाइल-टेक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 6:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर