लाइव टीवी

इंटरनेशनल कॉल चार्जेज़ के रेगुलेशन को लेकर ट्राई ने शुरू की चर्चा, 9 दिसंबर तक मांगी राय

News18Hindi
Updated: November 9, 2019, 2:13 PM IST
इंटरनेशनल कॉल चार्जेज़ के रेगुलेशन को लेकर ट्राई ने शुरू की चर्चा, 9 दिसंबर तक मांगी राय
TRAI

ट्राई ने अंतरराष्ट्रीय कॉल टर्मिनेशन शुल्क की नियमन नियमन व्यवस्था को लेकर समीक्षा के बारे में उद्योग जगत के स्तर पर शुक्रवार को चर्चा की शुरुआत की...

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2019, 2:13 PM IST
  • Share this:
भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने अंतरराष्ट्रीय कॉल टर्मिनेशन शुल्क (Internal call termination fee) की नियमन व्यवस्था को लेकर समीक्षा के बारे में उद्योग जगत के स्तर पर शुक्रवार को चर्चा की शुरुआत की. यह शुल्क पिछले साल घटाकर 30 पैसे प्रति मिनट कर दिया गया था. ट्राई ने कॉल को जोड़ने, उसे पूरी करने पर लगने वाले शुल्क की समीक्षा (fee review) के बारे में जारी परामर्शपत्र में कहा कि अंतरराष्ट्रीय इनकमिंग कॉल पर शुल्क को आखिरी बार 2018 में संशोधित किया गया था.

पिछले साल किए गए संशोधन में यह शुल्क 53 पैसे प्रति मिनट से घटाकर 30 पैसे प्रति मिनट कर दिया गया था. संशोधित शुल्क एक फरवरी 2018 से प्रभावी हुआ था. इसमें 43 प्रतिशत की कटौती की गई थी. यह शुल्क अंतरराष्ट्रीय आपरेटर, जिसके नेटवर्क से कॉल आती है, द्वारा स्थानीय नेटवर्क आपरेटर को दी जाती है जिसके नेटवर्क पर कॉल आती है.



ट्राई ने एक बयान में कहा कि भारत के साथ ही वैश्विक स्तर पर दूरसंचार बाजार की परिस्थितियां तेजी से बदल रही हैं. कहा गया कि घरेलू बाजार की संरचना वॉयस केंद्रित से डेटा केंद्रित में बदल रही हैं. शुल्क भी अब वॉयस, डेटा और मैसेज के लिए अलग-अलग न होकर बंडल में होने लगा है.

ट्राई ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय रोमिंग के मामले में भी कंपनियां बंडल पैकेज की पेशकश कर रही हैं. ट्राई ने इस मामले में संबंध पक्षों से नौ दिसंबर तक राय देने को कहा है.
(इनपुट-भाषा से)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गैजेट्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 2:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...