लाइव टीवी

राजनीतिक विज्ञापनों पर ट्विटर लगाएगा रोक, फेसबुक पर बढ़ा दबाव

News18Hindi
Updated: October 31, 2019, 11:16 AM IST
राजनीतिक विज्ञापनों पर ट्विटर लगाएगा रोक, फेसबुक पर बढ़ा दबाव
सोशल नेटवर्किंग साइट (Social Networking Site) ट्विटर ने फैसला किया है कि 22 नवंबर से सभी राजनीतिक विज्ञापनों पर रोक लगा दी जाएगी.

ट्विटर (Twitter) के इस कदम के बाद इस बात कि चर्चा बढ़ गई है कि क्या फेसबुक (Facebook) ऐसा कदम उठाएगा. हालांकि, फेसबुक ने ऐसा कोई भी फैसला फिलहाल लेने से इनकार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2019, 11:16 AM IST
  • Share this:
आने वाले दिनों में ट्विटर (Twitter) पर आपको राजनीतिक विज्ञापन (Political Advertisements) दिखने बंद हो सकते हैं. सोशल नेटवर्किंग साइट (Social Networking Site) ट्विटर ने फैसला किया है कि 22 नवंबर से सभी राजनीतिक विज्ञापनों पर रोक लगा दी जाएगी. इस बात की जानकारी देते हुए ट्विटर से सीईओ जैक डोर्सी ने कहा, 'इंटरनेट पर विज्ञापन बहुत ताकतवर और प्रभावी होते हैं, कॉमर्शियल ऐड्स तक ठीक है लेकिन यही ताक़त राजनीति में बहुत बड़ा जोख़िम भी लाती है.' ट्विटर के मुख्य वित्तीय अधिकारी नेड सेगल ने कहा कि इससे कंपनी के रेवेन्यू पर फर्क आएगा, लेकिन यह फैसला सिद्धांतों पर आधारित है न कि पैसे पर.

ट्विटर के इस कदम के बाद इस बात कि चर्चा बढ़ गई है कि क्या फेसबुक ऐसा कदम उठाएगा. हालांकि, फेसबुक ने ऐसा कोई भी फैसला फिलहाल लेने से इनकार किया है. ज़करबर्ग ने कहा, 'पॉलिटिकल ऐडवर्टाइजिंग रेवेन्यू का बड़ा सोर्स नहीं है, लेकिन मेरा मानना है कि सभी को उनकी बात कहने का अधिकार होना चाहिए. पॉलिटिकल ऐड को बैन करना जो लोग सत्ता में हैं उनका पक्ष लेने जैसा है.'

विल्सन सेंटर फेलो के नीना जैंकोविक्ज़ ने इस कदम की सराहना करते हुए कहा कि इससे अमीर कैंडिडेट्स द्वारा चुनाव जीतने में जो आसानी होती थी, उसे रोकने में मदद मिलेगी. साथ ही पूरी दुनिया में इस नियम के लागू होने से इसका अच्छा प्रभाव दिखेगा.

बता दें कि ट्विटर के इस फैसले के बाद अमेरिका में राजनीतिक पार्टियां दो धड़ों में बंट गई हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के चुनावी प्रचार के मैनेजर ब्रेड पास्कल ने कहा कि यह ट्रंप और कंज़रवेटिव्स को ख़ामोश करने की कोशिश है. उन्होंने कहा, 'ट्विटर को इससे लाखों डॉलर का नुकसान होगा. यह काफी खराब फैसला है. क्या ट्विटर पक्षपाती लिबरल मीडिया आउटलेट से आने वाले ऐड्स पर भी रोक लगाएगा.

वहीं, राष्ट्रपति ट्रंप के प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन के प्रवक्ता बिल रूसो ने ज़ोर देकर कहा है कि इससे लोकतंत्र की जीत होगी. इसके बाद डेमोक्रेटिक पार्टी के नेताओं ने फेसबुक से भी सभी पॉलिटिकल ऐड्स को हटाने का दबाव बनाना शुरू कर दिया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मोबाइल-टेक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 10:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...