• Home
  • »
  • News
  • »
  • tech
  • »
  • TWITTER HITS PAUSE ON ITS VERIFICATION PROGRAM A LITTLE OVER A WEEK AFTER RELAUNCHING IT TECH NEWS AMDM

Twitter ने लॉन्चिंग के कुछ हफ्तों में ही बंद किया वेरिफिकेशन प्रोग्राम! जानें वजह

नए वेरिफिकेशन प्रोग्राम के साथ शुरू होगा

ऐसा माना जा रहा है कि माइक्रोब्लॉगिंग साइट ने हैंडल की जाने वाली रिकवेस्ट से ज्यादा एप्लीकेशन्स रिसीव कर लीं. हालांकि, भविष्य में इसे दोबारा खोला जाएगा तब आप चाहें तो फिर से अपने अकाउंट को वेरीफाई करने के लिए रिकवेस्ट भेज सकते हैं.

  • Share this:

    नई दिल्ली. सोशल मीडिया दिग्गज ट्विटर (Twitter) ने 20 मई को आधिकारिक तौर पर दूसरी बार शुरू किए वेरिफिकेशन प्रोग्राम (verification program) को चंद हफ्तों में ही दोबारा बंद कर दिया. कंपनी का कहना है कि इसके पीछे की वजह उन्हें अपेक्षा से ज्यादा रिकवेस्ट प्राप्त हुए और कंपनी चाहती है कि नई रिकवेस्ट स्वीकार करने से पहले वर्तमान रिकवेस्ट की समीक्षा करना. 20 मई को जब ट्विटर ने इसे दोबारा शुरू किया था उसके साथ ही यूजर्स से अपने अकाउंट को वेरीफाई करवाने के लिए एप्लीकेशन्स मांगी थी.


    ऐसा लग रहा है कि माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ने हैंडल की जाने वाली रिकवेस्ट से ज्यादा एप्लीकेशन्स रिसीव कर ली. हालांकि भविष्य में इसे दोबारा खोला जाएगा तब आप चाहे तो फिर से अपने अकाउंट को वेरीफाई करने के लिए रिकवेस्ट भेज सकते है. मालूम हो ट्विटर नवंबर 2017 में अपने  सार्वजनिक वेरिफिकेशन प्रोग्राम (verification program) को तीन साल पहले रोक दिया था, क्योंकि उसे प्रतिक्रिया मिली थी कि कई लोगों को यह मनमाना और भ्रमित करने वाला लगा. हालांकि, ट्विटर ने विशेष मामलों में खातों को ब्लू टिक देने जारी रखे.


    नया वेरिफिकेशन प्रोग्राम जल्द
    ट्विटर का कहना है कि नया वेरिफिकेशन प्रोग्राम ज्यादा स्पष्टता प्रदान करेगा और प्रामाणिक उल्लेखनीय और सक्रिय खातों को ब्लू बैज देगा. वैरीफाइड होने के लिए आपके खाते को छह मानदंडों में से एक में फिट होना चाहिए. इसमें सरकार, कंपनियां, ब्रांड और संगठन, समाचार संगठन और पत्रकार, मनोरंजन, खेल और गेमिंग और कार्यकर्ता आयोजक के साथ अन्य प्रभावशाली व्यक्ति. 


    ये भी पढ़ें - Instagram वेब में जल्द जोड़ेगा Reels! शॉर्ट वीडियो के एक्सेस के लिए होगा डेडिकेटेड बटन


    ट्विटर का अड़ियल रवैया जारी; मंत्रालय को नहीं दिया ब्यौरा
    सरकार की तरफ से जारी किए गए नए आईटी नियम प्रभाव में गए हैं. रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि गूगल (Google), फेसबुक (Facebook) और व्हाट्सऐप (WhatsApp) समेत कई बड़ी कंपनियों ने आईटी मंत्रालय के साथ जानकारी साझा कर दी है, जबकि ट्विटर (Twitter) ने अभी तक सरकार को मुख्य अनुपालन अधिकारी की जानकारी उपलब्ध नहीं कराई है. खास बात यह है कि सरकार और ट्विटर के बीच जुबानी विवाद लगातार गहराता जा रहा है.सूत्रों ने जानकारी दी है कि गूगल, फेसबुक, व्हाट्सऐप, कू, शेयरचैट, टेलीग्राम और लिंकडिन जैसे बड़ी प्लेटफॉर्म्स ने नए नियमों के तहत सरकार के साथ जानकारी साझा की है, जबकि ट्विटर ने अभी तक ऐसा नहीं किया है.

    Published by:Amit Deshmukh
    First published: