CEO का अकाउंट हैक होने के बाद ट्विटर ने बंद की टेक्स्ट से ट्वीट करने की सुविधा

News18Hindi
Updated: September 5, 2019, 3:52 PM IST
CEO का अकाउंट हैक होने के बाद ट्विटर ने बंद की टेक्स्ट से ट्वीट करने की सुविधा
डोर्सी पिछले हफ्ते ‘सिम स्वैप’ के शिकार हो गये थे. हैकर इस तकनीक का इस्तेमाल करके यूज़र के फोन पर कंट्रोल पा लेते हैं.

डोर्सी पिछले हफ्ते ‘सिम स्वैप’ के शिकार हो गये थे. हैकर इस तकनीक का इस्तेमाल करके यूज़र के फोन पर कंट्रोल पा लेते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2019, 3:52 PM IST
  • Share this:
सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जैक डोर्सी का खाता हैक हो जाने के बाद फोन से टेक्स्ट भेजकर ट्वीट करने की सुविधा पर बुधवार को रोक लगा दी है. डोर्सी पिछले हफ्ते ‘सिम स्वैप’ के शिकार हो गये थे. हैकर इस तकनीक का इस्तेमाल करके यूज़र के फोन पर कंट्रोल पा लेते हैं. इससे हैकर के पास सोशल मीडिया खाता समेत बैंक खाता तथा अन्य संवेदनशील जानकारियों का कंट्रोल हो जाता है. दरअसल, स्विम स्वैप के ज़रिए जब हैकर्स को आपके फोन का ऐक्सेस मिल जाता है तो वे आपके यूज़रनेम का प्रयोग करके टेक्स्ट कर सकते हैं.

ट्विटर की सपोर्ट टीम ने कहा, 'हम लोगों का ट्विटर खाता सुरक्षित रखने के लिये फिलहाल एसएमएस या टेक्स्ट के जरिये ट्वीट करने की सुविधा को बंद कर रहे हैं.' कंपनी ने कहा कि वह इस समस्या के लिए लॉन्ग टर्म समाधान खोज रही है.



ट्विटर ने कहा कि टू-फैक्टर ऑथेन्टिकेशन को और ज्यादा बेहतर बनाने की ज़रूरत है ताकि इस तरह से मिसयूज़ को रोका जा सके. हालांकि ट्विटर ने भरोसा दिलाया है कि जल्दी ही इसे रिऐक्टिवेट कर दिया जाएगा. और आगे से लॉन्ग टर्म स्ट्रैटेजी पर काम किया जाएगा.
Loading...

दरअसल, पिछले दिनों ट्विटर (Twitter) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जैक डोर्सी (Jack Dorsey) का अकाउंट हैक हो गया था. और उस अकाउंट से कई आपत्तिजनक ट्वीट किए गए थे. हैकर ने इन ट्वीट के ज़रिए जैक पर नस्ली टिप्पणी की और उनके मुख्यालय में बम होने की अफवाह भी उड़ाई. अकाउंट हैक होने का पता चलने के बाद ये ट्वीट डिलीट कर दिए गए थे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 3:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...