लाइव टीवी

ब्रिटेन में फैली अफवाह! 5G टेक्नोलॉजी से होता है कोरोना, लोगों ने लगाई टेलीकॉम टावर में आग

News18Hindi
Updated: April 9, 2020, 11:22 AM IST
ब्रिटेन में फैली अफवाह! 5G टेक्नोलॉजी से होता है कोरोना, लोगों ने लगाई टेलीकॉम टावर में आग
5G टेक्नोलॉजी से नहीं होता कोरोना

ब्रिटेन में कई जगहों पर मोबाइल फोन टावर्स (Mobile Towers) को क्षतिग्रस्त किया गया है. बीते दिनों बर्मिंघम और मर्सीसाइड में टेलीकॉम कर्मचारियों से बदसलूकी की गई. ब्रिटेन की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बीटी (British Telecom) के एक मोबाइल टावर में आग लगा दी गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 9, 2020, 11:22 AM IST
  • Share this:
लंदन. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Covid-19) के साथ-साथ दुनियाभर के देश इन दिनों इसको लेकर फैली अफवाहों से भी बहुत परेशान है. ऐसा ही कुछ ब्रिटेन (Britain) में भी हो रहा है. ब्रिटेन में कोरोना संक्रमण (Covid-19) रोकने में लगे अधिकारियों को एक नई मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है. कुछ लोगों ने संक्रमण फैलने के लिए 5G  टेक्नोलॉजी को जिम्मेदार ठहराया है. सोशल मीडिया पर लोग धमकी दे रहे है. इसके अलावा कुछ नागरिक तो मोबाइल इंजीनियरों को धमकी दे रहे हैं और 5 जी मास्ट जला रहे हैं. मोबाइल कनेक्टिविटी (Mobile Conectivity) की अहम सुविधाओं को नुकसान पहुंचाने से अब यहां के कम्युनिकेशन नेटवर्क पर खतरा पैदा हो रहा है. कैबिनेट मंत्री माइकल गोव ने इन बातों का खंडन किया है. उन्होंने इसे मूर्खतापूर्ण और खतरनाक बताया है.

सोशल मीडिया पर 5G को कोरोना से जोड़ने की साजिश की बात कहने वाली पोस्ट्स की भरमार है. लेकिन अब गूगल और कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने इन वीडियो और इससी जुड़ी चीजों को डिलिट करने का आदेश दिया है.

गूगल ने कहा है कि वह इस अफवाह को बढ़ावा देने वाले सभी वीडियो को इंटरनेट से हटाएगी. यू ट्यूब से भी वीडियो को हटाया जाएगा. यू ट्यूब ने इस दिशा में कदम उठाया है. ऐसे सभी वीडियो हटाए जा रहे हैं जिसमें यूजर्स को 5 जी और कोरोना के बारे में गलत जानकारी दी गई है.



टावर्स में लगाई आग-  ब्रिटेन में कई जगहों पर मोबाइल फोन टावर्स को नुकसान पहुंचाया गया है. साथ ही, बर्मिंघम और मर्सीसाइड में टेलीकॉम कर्मचारियों से बदसलूकी की गई. ब्रिटेन की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बीटी (British Telecom) के एक मोबाइल टावर में आग लगा दी गई. इससे हजारों लोगों को 2जी, 3जी, 4जी और इंटरनेट कनेक्टिविटी की सुविधा दी जा रही थी. इस टावर से 5 जी कनेक्टिविटी की सुविधा नहीं दी जा रही थी.



5G टेक्नोलॉजी से नहीं होता कोरोना- ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस (NHS- National Health Services) के डॉयरेक्टर स्टीफन पोविस की ओर से जारी बयान में 5G टेक्नोलॉजी से कोरोना की खबर को पूरी तरह से गलत बताया है. उन्होंने कहा कि यह फेक न्यूज है. हकीकत यह है कि मोबाइल फोन नेटवर्क मौजूदा समय में हम सभी के लिए जरूरी है. इसे नुकसान पहुंचाने से स्वास्थ्य सेवाओं पर असर पड़ सकता है.

(ये भी पढ़ें-Jio का बेहद सस्ता प्लान! 100 रुपये से कम में महीने भर करें फ्री कॉलिंग, मिलेगा 3GB डेटा)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मोबाइल-टेक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 9, 2020, 10:40 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading