भारत में कब आ रहा 5G नेटवर्क? यूज़र्स को अब और कितना करना होगा इंतज़ार, यहां जानें डिटेल

जानें भारत में 5G नेटवर्क आने में कितना समय लग सकता है.

जानें भारत में 5G नेटवर्क आने में कितना समय लग सकता है.

अगर आप भी काफी समय से 5G नेटवर्क का इंतज़ार कर रहे हैं तो ये जाने लें कि भारत में 5G आने को लेकर एक्सपर्ट्स क्या कह रहे हैं...क्या है 5G को लेकर प्लानिंग.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 11:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. काफी समय से 5G नेटवर्क का इंतज़ार करने वालों के लिए बड़ी खबर है. दूरसंचार उद्योग (Telecom industry) के विशेषज्ञों का कहना है कि भारत में 5जी नेटवर्क (5G Network) तीन महीने में लगाया जा सकता है, लेकिन ये सीमित क्षेत्रों में ही होगा. उन्होंने कहा कि इस प्रौद्योगिकी को समर्थन के लिए ऑप्टिकल फाइबर (optical fibre) आधारित ढांचा अभी तैयार नहीं है. नोकिया इंडिया (Nokia India) के प्रमुख विपणन एवं कॉरपोरेट मामले अमित मारवाह ने कहा कि भारत को 5जी सेवाओं के नेटवर्क पर निर्णय लेना होगा, अन्यथा वह अगली पीढ़ी की प्रौद्योगिकी का लाभ लेने से चूक जाएगा. मारवाह ने कहा, ‘यदि हम जल्द 5जी शुरू नहीं करते हैं, तो संभवत: चूक जाएंगे.

5जी ऑपरेटरों के लिए पैसा बनाने को बिक्री चैनल नहीं है. यह देश और दुनिया में नए आर्थिक मूल्य के सृजन के लिए समय की जरूरत है.’ दूरसंचार निर्यात संवर्द्धन परिषद के चेयरमैन संदीप अग्रवाल ने इस बात पर जोर दिया कि 5जी में स्थानीय स्तर पर विनिर्मित उपकरणों का इस्तेमाल होना चाहिए. उन्होंने कहा कि सुरक्षा उद्देश्य से इसका नियंत्रण भारत के पास होना चाहिए.

(ये भी पढ़ें- बेहद सस्ता हुआ Realme का 6000mAh बैटरी वाला बजट स्मार्टफोन, 9 हज़ार से भी कम है कीमत)

दूरसंचार क्षेत्र कौशल परिषद के अरविंद बाली ने कहा कि देश समूची प्रौद्योगिकी खुद नहीं बना सकता. उसे दूसरों का समर्थन लेने की ज़रूरत होगी. उन्होंने कहा कि उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना भारत को आत्मनिर्भर बनाने तथा रोजगार के अवसरों के सृजन की दृष्टि से सही दिशा में एक कदम है.
5G के लिए Airtel और Qualcomm ने मिलाया हाथ

देश में 5G सर्विस जल्द देने के लिए पिछले महीने दो बड़ी टेक कंपनियों ने हाथ मिला लिया है. भारती एयरटेल ने भारत में 5 जी सेवाओं में तेजी लाने के लिए क्वालकॉम टेक्नोलॉजीज के साथ साझेदारी की है. कंपनी ने बाजार नियामकों को भेजी एक जानकारी में यह सूचना दी.

(ये भी पढ़ें- भारत के सबसे किफायती 5G स्मार्टफोन को पहले से और भी सस्ते में खरीदने का मौका, मिलेगी 30W डार्ट चार्जिंग)



एयरटेल और क्वालकॉम संयुक्त रूप से 5G फिक्स्ड वायरलेस एक्सेस नेटवर्क विकसित करने के लिए भी काम करेंगी. इसके बाद घर के इंटरनेट नेटवर्क को अपग्रेड किया जाएगा. इसमें मौजूदा ब्रॉडबैंड इन्फ्रास्ट्रक्चर को अपग्रेड करके गीगाबिट क्लास होम वाई-फाई नेटवर्क की पेशकश दी जाएगी. माना जा रहा है कि घर पर तेज इंटरनेट के जरिए एयरटेल दूसरी टेलीकॉम कंपनियों को पछाड़ देगा. यह सर्विस नए 5G नेटवर्क पर दूरदराज के क्षेत्रों में अंतिम मील इंटरनेट कनेक्टिविटी सेवाओं को अपग्रेड करने में मदद करेगी.

(इनपुट-भाषा से)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज