MSME के लिए Walmart ने लॉन्च किया डिजिटल लर्निंग प्लेटफॉर्म 'वृद्धि'

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

वॉलमार्ट (Walmart) ने भारत के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSME) के लिए 'वॉलमार्ट वृद्धि सप्लायर डेवलेपमेंट प्रोग्राम' (Walmart Vriddhi Supplier Development Program) लॉन्च किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 7:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वॉलमार्ट (Walmart) ने भारत के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSME) के लिए 'वॉलमार्ट वृद्धि सप्लायर डेवलेपमेंट प्रोग्राम' (Walmart Vriddhi Supplier Development Program) लॉन्च किया है. इस प्रोग्राम में इंटरैक्टिव ऑनलाइन प्रशिक्षण अनुभव, व्यक्तिगत सलाह और प्रोत्साहन यानी पर्सन्लाइज्ड मेंटरिंग शामिल है. इस प्रोग्राम के अंतर्गत एमएसएमई को वे टूल्स उपलब्ध करवाए जाएंगे जिससे वे नई टेक्नोलॉजी को अपना कर अपने व्यवसाय का विस्तार कर सकें.

डिजिटल अनुभवों पर जोर
वॉलमार्ट वृद्धि प्रोग्राम को दिसंबर 2019 में वॉलमार्ट इंक ने लॉन्च किया था. इसका लक्ष्य 50 हजार भारतीय एमएसएमई को 'मेक इन इंडिया' अभियान के तहत घरेलू व विदेशी सप्लाई चेन के साथ जोड़ना था. कोविड-19 के कारण महामारी फैलने के बाद इसके स्वरूप में परिवर्तन कर डिजिटल अनुभवों पर ज्यादा बल दिया गया. भविष्य में जब परिस्थितियां थोड़ी अनुकूल हो जाएंगी तो वृद्धि इंस्टीट्यूट्स के माध्यम से इन उद्यमों को डिजिटल व व्यक्तिगत प्रशिक्षण उपलब्ध करवाए जाएंगे.

इंटरैक्टिव लर्निंग एक्सपीरियंस 
ई-इंस्टीट्यूट-आधारित वृद्धि प्रोग्राम एमएसएमई को शिक्षण और मूल्यांकन उपकरणों के मिश्रण के साथ ऑनलाइन मॉड्यूल के माध्यम से आसानी से उपयोग होने वाला इंटरैक्टिव लर्निंग एक्सपीरियंस प्रदान करता है. वृद्धि उद्यमशीलता यात्रा एमएसएमई को व्यवसाय प्रबंधन, उद्यम विकास, ग्राहक केंद्रित सेवाओं, सर्वोत्तम प्रथाओं के निर्माण, जिम्मेदार सोर्सिंग आदि कई और प्रमुख पहलुओं के संबंध में आवश्यक जानकारियों व ज्ञान ये लैस करती है.



खुले बाजार में भी बिक्री का विकल्प
वॉलमार्ट इंटरनेशनल की प्रेज़िडेंट जुडिथ मेक्केना के अनुसार, ''वॉलमार्ट वृद्धि एमएसएमई के सामने यह यह विकल्प देता है कि वे वॉलमार्ट की सप्लाई चेन में भी बिक्री कर सकते हैं या खुले बाजार में भी. वे अपनी यात्रा में जहां भी हैं और विकास को लेकर उनकी जो भी आकांक्षाएं हों, इस कार्यक्रम का खुलापन इसे अनूठा बनाता है तथा हम जो भी कर रहे हैं उसके केंद्र में सप्लायर यानी आपूर्तिकर्ता को स्थापित करता है. आज डिजिटल के बढ़ते प्रभाव के दौर में हम ज्यादा उद्यमियों को अपनी क्षमताओं के विकास में मदद कर रहे हैं, हम उन्हें ऐसे टिकाउ व्यवसायों के निर्माण में भी मदद कर रहे हैं जो उनके समुदायों के लिए मूल्यवान हैं.''

फ्लिपकार्ट समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कल्याण कृष्णमूर्ति के अनुसार, ''भारत जब 'न्यू नॉर्मल' यानी 'नए सामान्य' के साथ तारतम्य बैठाने का प्रयास कर रहा है, ऐसे में डिजिटल रूपांतरण व्यवसायों को मजबूत करने का रास्ता है. भारत सरकार की डिजिटल इंडिया को लेकर की गई पहल के अनुरूप ही हम भारतीय एमएसएमई के डिजिटीकरण में मदद करना चाहते हैं ताकि वे तेज गति व लचीलेपन के साथ बाजार में हो रही घटनाओं व चुनौतियों पर अपनी प्रतिक्रिया दे सकें, अपने ग्राहकों को बेहतर सेवाएं दे सकें तथा अपने व्यवसाय का विस्तार कर सकें. फ्लिपकार्ट व वॉलमार्ट वृद्धि तथा अन्य कार्यक्रमों पर काम कर रहे हें ताकि एमएसएमई के लिए वाकई कुछ बेहतर बदलाव लाए जा सकें तथा भारत के स्थायी आर्थिक विकास में योगदान दिया जा सके.''

वॉलमार्ट वृद्धि का पहला संपूर्ण-डिजिटल ई-संस्थान शुरू में पानीपत, सोनीपत और कुंडली में एमएसएमई के लिए खुला रहेगा. योग्य एमएसएमई अंग्रेजी और हिंदी दोनों में आईओएस और एंड्रॉयड पर उपलब्ध मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से डिजिटल प्रशिक्षण अनुभव का उपयोग कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज