अब मोबाइल को सुरक्षित करना हुआ आसान! न रहेगा टूटने का डर न रहेगी चोरी की टेंशन, कराएं मोबाइल इंश्योरेंस- जानिए सबकुछ

मोबाइल इंश्योरेंस
मोबाइल इंश्योरेंस

फेस्टिव सीजन में अकसर मार्केट जानें पर हमें पूरे टाइम डर लगा रहता है कि कही कोई हमारा फोन चोरी ना कर ले. इस डर को दूर करने के लिए आप मोबाइल इंश्योरेंस करा सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे होता है मोबाइल इंश्योरेंस और क्या हैं इसके फायदे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 6:11 AM IST
  • Share this:
आजकल मोबाइल चोरी होना या गुम हो जाना आम बात हो गई है, आये दिन इस तरह के केस सुनने में आते रहते हैं. फेस्टिव सीजन के आते ही इस तरह की घटनाएं ज्यादा हो जाती हैं. फेस्टिव सीजन में मार्केट जब हम शॉपिंग के निकलते हैं तो सबसे बड़ी समस्या फोन के टूटने, चोरी होने या खो जाने की बनी रहती है. इस तरह के हादसे की वजह से यूज़र्स को तगड़ा नुकसान हो सकता है. लेकिन अगर आप अपने फोन का इंश्योरेंस करवा लें तो ऐसे हादसे होने पर भी आपको चिंता करने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी. हालांकि फोन गूम होने दुख तो होता है पर नुकसान नहीं होता.

आइए जानते हैं कैसे करवा सकते हैं मोबाइल इंश्योरेंस
बता दें कि मोबाइल इंश्योरेंस भी आपके लाइफ इंश्योरेंस, हेल्थ इंश्योरेंस, कार इंश्योरेंस जैसा ही होता है. इसमें आप अपने फोन का किसी कंपनी से इंश्योरेंस करवा सकते हैं, जिसके लिए कंपनी आपसे एक तय रकम (प्रीमियम) लेती है और उसके बदले आपके फोन को सुरक्षा देती है. जैसे अगर फोन खो जाए, चोरी हो जाए या डैमेज वगैरह हो जाए, तो कंपनी आपको ऐसी स्थिति में भुगतान करेगी.

ये भी पढ़ें: लावा ने लॉन्च किया दुनिया का पहला कॉन्टैक्टलेस थर्मामीटर वाला 'Lava Pulse 1' स्मार्टफोन, कीमत 2000 रु से भी कम
इतना होता है मोबाइल इंश्योरेंस का प्रीमियम


अगर आप भी अपने नए फोन के लिए मोबाइल इंश्योरेंस लेने की सोच रहे हैं तो याद रखें कि इसे फोन खरीदने के पांच दिन के अंदर ही ले सकते हैं. आमतौर पर इंश्योरेंस कंपनियां फोन का एक साल का ही इंश्योरेंस करती हैं. अगर उससे ज्यादा का करवाते हैं तो वो एक्सटेनडेंट वारंटी होता है. आप इंटरनेट पर जाएंगे तो आपको मोबाइल इंश्योरेंस करने वाली दर्जनों कंपनियां मिल जाएंगी. आप अपनी सुविधानुसार कंपनी का चुनाव कर सकते हैं. जितना महंगा फोन होगा प्रीमियम उतना ही ज्यादा होगा. मान लीजिए आपका फोन 6 हज़ार से 10 हज़ार के बीच है तो प्रीमियम 600 से 700 के बीच हो सकता है.

जरुरी डाक्यूमेंट्स
मोबाइल फोन के लिए क्लेम करने के लिए ग्राहक को बीमा कंपनी को कुछ जरुरी डाक्यूमेंट्स देने होते हैं. इनमें से कुछ डाक्यूमेंट्स में फ़ोन की मूल रसीद, फ़ोन का सीरियल नंबर और बीमा पॉलिसी नंबर शामिल हो सकते हैं. लापता फोन के मामले में, आपको FIR दर्ज करने और क्लेम फाइल करते समय इसकी कॉपी जमा करने की आवश्यकता होती है.

ये भी पढ़ें: डेटिंग ऐप Tinder में आया फेस-टू-फेस वीडियो चैट फ़ीचर, जानिए कैसे कर सकेंगे यूज

मोबाइल बीमा क्या कवर के फायदे
एक मोबाइल बीमा मोबाइल को विभिन्न प्रकार के नुकसान के लिए कवर देता है.
स्मार्ट फोन की चोरी या लूट के मामले में.
घटना की सूचना देने के 48 घंटे के भीतर खोए या खराब फोन को बदल देना या मरम्मत करना.
अचानक नुकसान से सुरक्षा.
मरम्मत के लिए मोबाइल फोन की डोर स्टेप पिक और ड्रॉप सुविधा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज