क्या होगा अगर दुनियाभर में ठप हो जाए इंटरनेट? 2 दिन में होगा इतने करोड़ डॉलर का नुकसान

ICRIER की रिपोर्ट के मुताबिक 2012-17 के बीच इंटरनेट सेवा बंद होने के कारण भारत को करीब 3 अरब डॉलर का नुकसान हुआ था.

Abhishek Srivastav | News18Hindi
Updated: October 12, 2018, 6:54 PM IST
क्या होगा अगर दुनियाभर में ठप हो जाए इंटरनेट? 2 दिन में होगा इतने करोड़ डॉलर का नुकसान
क्या हो अगर ठप हो जाएगा इंटरनेट
Abhishek Srivastav | News18Hindi
Updated: October 12, 2018, 6:54 PM IST
अगर आपकी जिंदगी भी स्मार्टफोन और इंटरनेट के इर्द-गिर्द चलती है, तो अगले दो दिन आपके लिए मुश्किल भरे हो सकते हैं. Russia Today की रिपोर्ट के मुताबिक, इंटरनेट यूजर्स को अगले 48 घंटों के दौरान नेटवर्क फेल्योर का सामना करना पड़ सकता है. इसकी वजह मेन डोमेन सर्वर और इससे जुड़े नेटवर्क इंफ्रास्ट्रकचर के कुछ समय के लिए बंद रहने को बताया जा रहा है.

Russia Today की रिपोर्ट के मुताबिक, 'द इंटरनेट कॉरपोरेशन ऑफ असाइन्ड एंड नंबर्स' (ICANN) इस अवधि के दौरान मेंटेनेंस से जुड़ा काम करेगी. ICANN क्रिप्टोग्राफिक की (key) को बदलेगी, जो कि इंटरनेट की एड्रेस बुक या डोमेन नेम सिस्टम (DNS) को प्रोटेक्ट करेगी.

इंडियन काउंसिल फॉर रिसर्च ऑन इंटरनेशनल इकनॉमिक रिलेशंस (ICRIER) की रिपोर्ट के मुताबिक, 2012-17 के बीच इंटरनेट सेवा बंद होने से भारत को करीब 3 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है. ऐसे में अगर अगले दो दिन इंटरनेट की सेवाएं बंद होती हैं, तो दुनिया भर में करोड़ों डॉलर का नुकसान हो सकता है. इसके साथ ही और भी कई परेशानियां आ सकती हैं.


बिजनेस पर पड़ेगा असर

अगर इंटरनेट अचानक से बंद होता है तो इसका सीधा असर ऑनलाइन और ऑफलाइन सर्विसेज पर पड़ेगा. इंटरनेट ठप पड़ने से ऑनलाइन बिजनेस ठप हो जाएंगे. इंटरनेट शटडाउन से ई-कॉमर्स कंपनियां जैसे अमेज़न, फ्लिपकार्ट, पेटीएम और ऑनलाइन फ्रीलांसर्स सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे. 2018 में आई ICRIER की रिपोर्ट के मुताबिक, इससे टूरिज्म बिजनेस पर भी असर पड़ेगा, क्योंकि ज्यादातर टूरिज्म बिजनेस ऑनलाइन हो चुके हैं.

ये भी पढ़ेंः अलर्ट! 48 घंटों के लिए दुनियाभर में ठप हो सकता है इंटरनेट, ऑनलाइन ट्रांजेक्शन पर भी होगा असर

कैश की हो सकती है कमी
इन दिनों ज्यादातर बैंक ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को बढ़ावा दे रहे हैं. ऐसे में इंटरनेट के बंद होते ही ऑनलाइन ट्रांजैक्शन ठप हो जाएंगे. दुनिया के अलग-अलग देशों पर भी इसका असर पड़ेगा. इंटरनेट के बिना स्टॉक मार्केट बंद हो जाएंगे. बैंक-टू-बैंक और क्रेडिट ट्रांजैक्शन भी बंद हो जाएंगे. इसका मतलब आप अपने कार्ड के जरिए शॉपिंग नहीं कर सकते हैं और कैश पाना भी मुश्किल हो जाएगा. क्योंकि ज्यादातर बैंक ATM इंटरनेट की मदद से ही चलते हैं.



दूसरी सर्विसेज पर भी असर
इंटरनेट के बंद होने से रोजमर्रा के काम करने वाले लोग भी प्रभावित हो सकते हैं. जिन लोगों का काम इंटरनेट की मदद से चलता है जैसे ऑनलाइन टैक्सी ड्राइवर्स (ओला, उबर जैसी कंपनियों के ड्राइवर), डिलिवरी ड्राइवर्स आदि का काम प्रभावित हो सकता है. इसके अलावा, कुछ और सेवाएं जैसे हॉस्पिटल, रेलवे आदि पर भी असर पड़ सकता है.

ये भी पढ़ेंः Deals Of the Day- इन स्मार्टफोन्स पर मिल रहा है भारी डिस्काउंट, ऐसे उठाएं फायदा

लोगों से टूट सकता है कनेक्शन
अगर इंटरनेट बंद हो जाए, तो टेक्स्ट मैसेजिंग और सेलफोन सर्विसेज भी बंद हो सकती हैं. क्योंकि ये सर्विस भी इंटरनेट की मदद से ही उपलब्ध करवाई जाती हैं. इसके अलावा, कुछ केबल और सैटेलाइट सर्विस भी उपलब्ध नहीं होंगी. हालांकि, अगर आपके पास एंटीना है तो आप ब्रॉडकास्ट टावर्स के जरिए भेजे जा रहे टेलीविजन प्रोग्राम्स को देख सकेंगे. इसके अलावा, सोशल नेटवर्किंग साइट्स जैसे फेसबुक, ट्विटर पर भी लॉगिन नहीं कर पाएंगे. इससे आप फैमिली और फ्रेंड्स से भी संपर्क नहीं कर पाएंगे.



दुनिया की आधी के पास है इंटरनेट कनेक्शन
1995 में दुनिया की एक फीसदी से भी कम आबादी ऑनलाइन थी और इसे सिर्फ पश्चिम में इस्तेमाल किया जाता था. वहीं आज 20 साल से ज्यादा हो चुके हैं और अब करीब दुनिया की आधी आबादी (3.5 बिलियन) के पास इंटनेट कनेक्शन है. इस संख्या में प्रति सेकेंड 10 लोगों का इजाफा हो रहा है.

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर