WhatsApp के एन्क्रिपटेड मैसेज भी नहीं हैं सेफ, हो सकता है हैक

WhatsApp के एन्क्रिपटेड मैसेज भी नहीं हैं सेफ, हो सकता है हैक
एक्सटरनल स्टोरेज में सेव की हुई फाइलों में मैलवेयर का अटैक हो सकता है. इंटरनल स्टोरेज सिर्फ उसी ऐप द्वारा ऐक्सेस किया जा सकता है जबकि एक्सटर्नल स्टोरेज को दूसरे ऐप भी ऐक्सेस कर सकते हैं.

एक्सटरनल स्टोरेज में सेव की हुई फाइलों में मैलवेयर का अटैक हो सकता है. इंटरनल स्टोरेज सिर्फ उसी ऐप द्वारा ऐक्सेस किया जा सकता है जबकि एक्सटर्नल स्टोरेज को दूसरे ऐप भी ऐक्सेस कर सकते हैं.

  • Share this:
अगर आपको लगता है कि वॉट्सऐप या टेलीग्राम जैसे एनक्रिप्टेड मैसेजिंग ऐप की फाइलें पूरी तरह से सुरक्षित हैं तो आप गलत सोच रहे हैं. सिमेंटेक के रिसर्चर्स ने बताया कि इन ऐप से सेव की गई फाइलों पर भी अटैक हो सकता है. वर्ज की रिपोर्ट के अनुसार इस तरह की फाइलों को या तो इंटरनल स्टोरेज या एक्सटर्नल स्टोरेज में सेव किया जाता है. एक्सटरनल स्टोरेज में सेव की हुई फाइलों में मैलवेयर का अटैक हो सकता है. इंटरनल स्टोरेज सिर्फ उसी ऐप द्वारा ऐक्सेस किया जा सकता है जबकि एक्सटर्नल स्टोरेज को दूसरे ऐप भी ऐक्सेस कर सकते हैं.



इस तरह के अटैक को 'मीडिया फाइल जैकिंग' कहते हैं और इन फाइलों पर ऐक्सेस पाने के लिए किसी हैकर को सिर्फ एक मलीशस ऐप की ज़रूरत होती है. यहां तक कि कोई हैकर किसी आउटगोइंग मल्टीमीडिया मैसेज को भी यूज़र्स के बिना जानकारी के बदल सकता है.




द वर्ज के मुताबिक वॉट्सऐप के प्रवक्ता ने कहा कि इसके स्टोरेज सिस्टम में बदलाव करने से मीडिया फाइल को ठीक से शेयर नहीं किया जा सकेगा और नई प्रिवेसी पॉलिसी लानी पड़ेगी. उन्होंने कहा कि मीडिया स्टोरेज को लेकर वॉट्सऐप अभी तक की सबसे बेहतर प्रेक्टिस को फॉलो करता है.

(ये भी पढ़ें- पानी में डूब रहा था शख्स, Apple Watch ने ऐसे बचा ली जान)
(ये भी पढ़ें- WhatsApp पर फोटो भेजने या डाउनलोड करने में होती है परेशानी तो अपनाएं ये तरीके)


 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज