WhatsApp यूज़र्स हो जाएं सावधान! आपका अकाउंट चुराने के लिए हैकर्स कर रहे हैं इस तरह की साज़िश, जानें बचने का तरीका

WhatsApp यूज़र्स हो जाएं सावधान! आपका अकाउंट चुराने के लिए हैकर्स कर रहे हैं इस तरह की साज़िश, जानें बचने का तरीका
WhatsApp यूज़र्स हो जाएं सावधान! अकाउंट चुराने के लिए हैकर्स कर रहे हैं साजिश

WhatsApp पर धोखाधड़ी का एक नया मामला समाने आया है. जिसमें व्हाट्सऐप टेक्नोलॉजी टीम के आधिकारिक कम्युनिकेशन सोर्स के रूप में दिखावा करने वाला एक अकाउंट यूज़र्स को उनके वैरिफिकेशन कोड को साझा करने के लिए कह रहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. WhatsApp पर धोखाधड़ी का एक नया मामला समाने आया है. जिसमें व्हाट्सऐप टेक्नोलॉजी टीम के आधिकारिक कम्युनिकेशन सोर्स के रूप में दिखावा करने वाला एक अकाउंट यूज़र्स को उनके वैरिफिकेशन कोड को साझा करने के लिए कह रहा है. इस फर्जी अकाउंट ने  व्हाट्सऐप लोगो को प्रोफाइल पिक्चर के रूप में यूज किया हुआ है जिससे यूजर्स आसानी से बेवकूफ बन सकें. हम आपको बता दें कि WhatsApp टीमें यूज़र्स के साथ किसी भी तरह का संवाद करने के लिए मैसेजिंग ऐप का इस्तेमाल करती ही नहीं हैं. इसके बजाय टीम द्वारा सोशल मीडिया चैनलों का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें ट्विटर या कंपनी के आधिकारिक ब्लॉग शामिल हैं, जो सार्वजनिक घोषणाएं पोस्ट करते हैं.

WABetaInfo ने इस लेटेस्ट स्कैम को उजागर किया
WhatsApp के फीचर्स को ट्रैक करने वाले ब्लॉग WABetaInfo ने इस लेटेस्ट स्कैम को उजागर करने के लिए एक ट्वीट पोस्ट किया, जिसके बाद एक ट्विटर यूज़र Dario Navarro ने यूज़र्स को मिले इस स्कैम मैसेज के बारे में पूछताछ की. नवारो द्वारा साझा किए गए स्क्रीनशॉट के अनुसार, स्कैमर स्पेनिश में एक मैसेज भेजता है और यूज़र्स को उनके फोन पर अकाउंट वैरिफिकेशन के लिए इस्तेमाल होने वाला छह अंकों के फैरिफिकेशन कोड मांगता है, जो यूज़र्स को एसएमएस के जरिए मिलता है.



ये भी पढ़ें:- TikTok को टक्कर देगा ये भारतीय ऐप, 1 महीने में 5 मिलियन लोगों ने किया डाउनलोड

सिक्योरिटी कोड भेजने का उद्देश्य
बता दें कि नए डिवाइस पर व्हाट्सऐप अकाउंट को एक्टिवेट करने के लिए वैरिफिकेशन कोड का इस्तेमाल किया जाता है, जो यूज़र्स को उनके फोन पर SMS के जरिए मिलता है. इस सिक्योरिटी कोड का उद्देश्य मैसेजिंग ऐप पर यूज़र्स के अकाउंट को बुरे कारकों से बचाना है.

हरे रंग का सत्यापित मार्क वाले मेसेज पर ही यकीन करें 
हालांकि जैसा कि WABetaInfo द्वारा बताया गया है कि WhatsApp अपने यूज़र्स को ऐप के जरिए संपर्क नहीं करती है और यदि किसी परिस्थिति में कंपनी यूज़र से संपर्क करती भी है, तो आधिकारिक अकाउंट के नाम के साथ एक हरे रंग का सत्यापित मार्क भी शामिल होगा, जो उसके आधिकारिक अकाउंट होने का संकेत है. इसलिए अपनी सुरक्षा के खातिर आपको ऐसे किसी भी संदेश पर ध्यान नहीं देना चाहिए.

ये भी पढ़ें:- BSNL का 'सबसे लंबी वैलिडिटी' वाला प्रीपेड प्लान, 600 दिनों तक अनलिमिटेड कॉल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading