IMMERSIVE: WhatsApp मैसेज से मौत तक

झारखंड से तमिलनाडु और असम से गुजरात तक ये मैसेज जंगल कि आग की तरह फैल रहे हैं. इसकी वजह से अभी तक 22 निर्दोष लोगों की हत्या की जा चुकी है.

News18Hindi
Updated: June 28, 2018, 5:38 PM IST
IMMERSIVE: WhatsApp मैसेज से मौत तक
WhatsApp के मैसेज से पिछले कुछ महीनों में 22 लोगों की जान चली गई.
News18Hindi
Updated: June 28, 2018, 5:38 PM IST
WhatsApp पर फारवर्ड किए जाने वाले मैसेज देश के अलग-अलग हिस्सों में हिंसा भड़का रहे हैं. WhatsApp के मैसेज से पिछले कुछ महीनों में 22 लोगों की जान चली गई. WhatsApp के ये मैसेज कहां से आए, कोई नहीं जानता. किसने सबसे पहले भेजा, अभी भी ये गुत्थी सुलझी नहीं है.

झारखंड से तमिलनाडु और असम से गुजरात तक ये मैसेज जंगल कि आग की तरह फैल रहे हैं. इसकी वजह से अभी तक 22 निर्दोष लोगों की हत्या की जा चुकी है. WhatsApp अफवाहों को फैलाने के लिए एक बड़ा जरिया बन गया है. मौजूदा समय में इस ऐप के 200 मिलियन ऐक्टिव यूजर्स हैं. यही यूजर्स WhatsApp की गुमनाम दुनिया से आई इस तरह की फेक न्यूज का शिकार होते हैं.

Alt News के को-फाउंडर प्रतीक सिन्हा ने कहा, "जो लोग इस तरह की अफवाहें फैला रहे हैं उनका पता नहीं लगाया जा सकता क्योंकि वे WhatsApp ग्रुप में हैं. मुझे लगता है कि उन्होंने WhatsApp ग्रुप में अफवाहों को फैलाना इसलिए शुरू किया क्योंकि यहां किसी का पता लगाना बहुत कठिन है. जैसे ही अफवाह एक जगह से फैलनी शुरू होती है, यह किसी आग की तरह हर जगह फैलती चली जाती है. जब किसी को यह मैसेज मिलता है तो वह दूसरे को इसे WhatsApp पर भेज देता है या अपने Facebook में डाल देता है. इस तरह से यह किसी बीमारी की तरह फैलता है."

पढ़ें पूरी रिपोर्ट- एक मैसेज, 22 मौत
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर