अपना शहर चुनें

States

WhatsApp का भारतीय और यूरोपीय यूज़र्स के साथ अलग बर्ताव चिंताजनक- दिल्ली हाईकोर्ट से बोला केंद्र

 वाट्सऐप का सिर्फ भारतीय यूज़र्स के लिए पॉलिसी में बदलाव एक चिंता का विषय है.
 वाट्सऐप का सिर्फ भारतीय यूज़र्स के लिए पॉलिसी में बदलाव एक चिंता का विषय है.

वॉट्सऐप यूज़र्स को फेसबुक की बाकी कंपनियों के साथ डेटा शेयर करने के संबंध में कोई ऑप्शन नहीं दे रही है, और भारतीय यूज़र्स के लिए ऐसा ‘एकतरफा’ तरीके से प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव करना चिंताजनक है. 

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 2:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने सोमवार को दिल्ली उच्च न्यायालय से कहा कि वाट्सऐप (WhatsApp) द्वारा निजता नीति (Privacy Policy) को लेकर भारतीय और यूरोपीय यूज़र्स से अलग-अलग व्यवहार उसके लिए चिंता का विषय है और वह इस मामले को देख रही है. केंद्र सरकार ने उच्च न्यायालय से कहा कि ये भी चिंता की बात है कि सोशल नेटवर्किंग प्लैटफॉर्म वाट्सऐप पर भारतीय यूज़र्स के लिए ‘एकतरफा’ तरीके से प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव किया जा रहा है. अतिरिक्त सॉलिसीटर जनरल चेतन शर्मा ने सरकार की इस राय से न्यायमूर्ति संजीव सचदेव की अदालत को अवगत कराया जो फेसबुक के स्वामित्व वाले वाट्सऐप द्वारा लाई गई निजता नीति के खिलाफ एक वकील द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई कर रही थी.

सुनवाई के दौरान शर्मा ने अदालत से कहा कि भारतीय उपयोगकर्ताओं को फेसबुक की बाकी कंपनियों के साथ डेटा शेयर करने के संबंध में ऑप्शन नहीं देना, प्रथमदृष्टया ऐसा लगता है कि वाट्सऐप यूज़र्स के साथ ‘स्वीकार करो या सेवा नहीं देंगे’ की नीति पर चल रहा है.

(ये भी पढ़ें- Jio का धांसू प्लान! एक बार रिचार्ज करा कर पूरे साल करें फ्री अनलिमिटेड कॉलिंग, मिलेगा ढेरों डेटा)



उन्होंने कहा, ‘वाट्सऐप द्वारा उपयोकर्ताओं को समझौते के लिए मजबूर करने का सामाजिक प्रभाव पड़ सकता जिससे सूचना की निजता एवं सूचना सुरक्षा का हित प्रभावित हो सकते हैं.’ शर्मा ने कहा कि सरकार पहले ही इस मामले को देख रही है और वाट्सऐप से कुछ जानकारी लेने के लिये संपर्क किया गया है. वॉट्सऐप की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने अदालत को बताया कि पत्र प्राप्त हुआ है और जवाब दिया जाएगा. इसके बाद अदालत ने मामले की सुनवाई एक मार्च के लिए सूचीबद्ध कर दिया.
लगातार सफाई दे रहा है वॉट्सऐप
जानकारी के लिए बता दें कि वॉट्सऐप अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव को लेकर काफी चर्चा में है. वॉट्सऐप ने यूज़र्स को नई पॉलिसी को एक्सेप्ट करने के लिए 8 फरवरी तक का समय दिया था, हालांकि लोगों का रिएक्शन देखते हुए कंपनी ने फिलहाल इसे टाल दिया है. कुछ यूज़र्स इस अपडेट से नाखुश हो रहे हैं और टेलीग्राम, सिग्नल जैसे दूसरे प्लेटफॉर्म पर शिफ्ट हो रहे हैं. लोगों के नेगेटिव कमेंट को देखते हुए वॉट्सऐप लगातार सफाई दे रहा है.
(इनपुट-भाषा से)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज