अपना शहर चुनें

States

सावधान! स्पैम और साइबर अटैक जैसे झांसे में फंसा सकती है WhatsApp की ये बड़ी खामी

WhatsApp यूज़र्स के फोन नंबर गूगल सर्च पर इंडेक्स हो गए हैं.
WhatsApp यूज़र्स के फोन नंबर गूगल सर्च पर इंडेक्स हो गए हैं.

वॉट्सऐप (WhatsApp) यूज़र्स के नंबर Google पर ओपेन सर्च में WhatsApp Web URL के रिजल्ट के रूप में मौजूद हैं.  इससे यूज़र्स के स्पैम और साइबर अटैक जैसे झांसे में फंसने का जोखिम रहता है..

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2021, 9:49 AM IST
  • Share this:
वॉट्सऐप (WhatsApp) पिछले कुछ दिनों से अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी (WhatsApp privacy policy) को लेकर विवादों में है. वॉट्सऐप प्राइवेसी पॉलिसी 2021 पर काफी विवाद के बाद वॉट्सऐप ने यूज़र्स को अपनी शर्तों को मानने के लिए तय समय की अवधि भले बढ़ा दी है, लेकिन प्राइवेसी को लेकर यूजर्स को वॉट्सऐप से काफी शिकायतें हैं. अब वॉट्सऐप एक और नए विवाद में घिरा दिख रहा है. पता चला है कि वॉट्सऐप अब पब्लिक सर्च में अब प्राइवेट नंबर्स की इंडेक्सिंग कर रहा है. बता दें कि अपने हालिया प्राइवेसी पॉलिसी बदलावों को लेकर वॉट्सऐप को भारत सहित वैश्विक स्तर पर आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है.

इस बीच खुलासा हुआ है कि यूज़र्स के नंबर गूगल पर ओपेन सर्च में वॉट्सऐप Web URL के रिजल्ट के रूप में मौजूद हैं. इसका मतलब ये हुआ कि अगर आप वॉट्सऐप को अपनी PC वेब ब्राउजर पर इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपका कॉन्टैक्ट पब्लिकली गूगल सर्च स्क्रोल में आ सकता है.





(ये भी पढ़ें- बेहतरीन मौका! बेहद सस्ते में खरीदें Realme का 64 मेगापिक्सल 4 कैमरे वाला फोन, मिलेगी 6GB RAM)
इससे यूज़र्स के स्पैम और साइबर अटैक जैसे झांसे में फंसने का जोखिम रहता है. न्यूज 18 के मुताबिक, भारत में स्मैकर द्वारा वॉट्सऐप OTP URL का इस्तेमाल कर लोगों को ऑनलाइन ठगी का शिकार बना रहे हैं. न्यूज 18 के अनुसार, इन वॉट्सऐप OTP URL को संशोधित करना काफी आसान है. जानकारों को कहना है कि इसके जरिए स्कैमर द्वारा वित्तीय घोटाले, ब्लैकमेल और कई अन्य नापाक गतिविधियों को अंजाम दिया जा सकता है.

साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर से हुई बातचीत
इंडिपेंडेंट साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजाहरिया ने न्यूज 18 को कंफर्म किया है कि गूगल पर पब्लिक नंबर की लिस्टिंग मौजूद है. इसके साथ ही न्यूज़18 ने खुद वेरिफाई किया है कि यूज़र्स के वॉट्सऐप के Web URL नंबर बड़ी संख्या में पब्लिक डोमेन गूगल पर इंडेक्स हुए हैं. इससे किसी भी यूजर को आपके कॉन्टैक्ट का एक्सेस मिल सकता है.

राजाहरिया ने दावा किया कि वॉट्सऐप गूगल के लिंक को इंडेक्स न करने वाले इंस्ट्रक्शन के लिए ऑटोमेटेड इंस्ट्रक्शन फाइल का इस्तेमाल कर रहा है. इससे अभी भी एक निरंतर गोपनीयता मुद्दा प्रतीत होता है.

(ये भी पढ़ें- BSNL का धांसू प्लान! एक बार रिचार्ज करके पूरे साल करें अनलिमिटेड बातें, मिलेगा 2GB डेटा भी)

कुछ यूजर्स ने न्यूज़ 18 को बताया कि उन्हें अनजान लॉगइन OTP मिले हैं, जिसका मतलब ये हुआ कि अनऑथराइज यूज़र्स उनकी WhatsApp अकाउंट का ऐक्सेस लेने की कोशिश कर रहे हैं. बता दें कि इससे पहले वॉट्सऐप ग्रुप के मैसेज गूगल पर लीक हो गए थे, ऐसे में कोई भी गूगल पर वॉट्सऐप ग्रुप सर्च करके आपके चैट को पढ़ सकता था और आपके निजी ग्रुप को जॉइन भी कर सकता था. वॉट्सऐप की इस गलती की वजह से लोगों के वॉट्सऐप ग्रुप के सभी नंबर्स भी सार्वजनिक हो गए थे, जिसपर वॉट्सऐप ने सफाई भी दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज