अपना शहर चुनें

States

गूगल सर्च पर लीक हुए WhatsApp यूज़र्स के फोन नंबर, बढ़ गया हैकिंग और स्पैम का खतरा

WhatsApp यूज़र्स का फोन नंबर पब्लिक सर्च में आ गया है.
WhatsApp यूज़र्स का फोन नंबर पब्लिक सर्च में आ गया है.

वॉट्सऐप (WhatsApp) में एक और बड़ी खामी का पता चला है. अगर आप वॉट्सऐप को अपनी PC वेब ब्राउज़र पर इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपका कॉन्टैक्ट पब्लिकली गूगल सर्च स्क्रोल में आ सकता है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2021, 4:12 PM IST
  • Share this:
वॉट्सऐप (WhatsApp) इस समय काफी चर्चा में चल रहा है. कंपनी की प्राइवेसी पॉलिसी की डिबेट अभी चल ही रही थी कि अब वॉट्सऐप एक और नए विवाद में घिरा दिख रहा है. पता चला है कि वॉट्सऐप अब पब्लिक सर्च में अब प्राइवेट नंबर्स की इंडेक्सिंग कर रहा है. यूज़र्स के नंबर गूगल पर ओपेन सर्च में वॉट्सऐप Web URL के रेजल्ट के रूप में मौजूद हैं. इसका मतलब ये हुआ कि अगर आप वॉट्सऐप को अपनी PC वेब ब्राउज़र पर इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपका कॉन्टैक्ट पब्लिकली गूगल सर्च स्क्रोल में आ सकता है. इससे यूज़र्स के स्पैम और साइबर अटैक जैसे झांसे में फंसने का जोखिम रहता है.

इंडिपेन्डेंट साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखक राजाहरिया ने न्यूज़18 को कंफर्म किया है कि गूगल पर पब्लिक नंबर की लिस्टिंग मौजूद है. न्यूज़18 ने खुद वेरिफाई किया है कि यूज़र्स के WhatsApp के Web URL नंबर बड़ी संख्या में पब्लिक डोमेन गूगल पर इंडेक्स हुए हैं. इससे किसी भी यूज़र को आपके कॉन्टैक्ट का एक्सेस मिल सकता है.





(ये भी पढ़ें- WhatsApp Privacy Policy: लोगों की नाराज़गी से डरा WhatsApp! पहली बार खुद का स्टेटस लगाकर दी सफाई)
गूगल पर प्राइवेट नंबर के लीक को लेकर न्यूज़18 से बातचीत के दौरान राजाहरिया ने दावा किया कि वॉट्सऐप गूगल के लिंक को इंडेक्स न करने वाले इंस्ट्रक्शन के लिए ऑटोमेटेड इंस्ट्रक्शन फाइल का इस्तेमाल कर रहा है. इससे अभी भी एक निरंतर गोपनीयता मुद्दा प्रतीत होता है. कुछ यूज़र्स ने न्यूज़18 को बताया कि उन्हें अनजान लॉगइन OTP मिले हैं, जिसका मतलब ये हुआ कि अनऑथराइज़ यूज़र्स उनकी  वॉट्सऐप अकाउंट का ऐक्सेस लेने की कोशिश कर रहे हैं.

Group Links भी हो चुकी है लीक
इससे पहले WhatsApp ग्रुप के मैसेज गूगल पर लीक हो गए थे, ऐसे में कोई भी गूगल पर WhatsApp group सर्च करके आपके चैट को पढ़ सकता था और आपके निजी ग्रुप को जॉइन भी कर सकता था. WhatsApp की इस गलती की वजह से लोगों के वॉट्सऐप ग्रुप के सभी नंबर्स भी सार्वजनिक हो गए थे, जिसपर WhatsApp ने सफाई भी दी.

(ये भी पढ़ें- BSNL का धांसू प्लान! एक बार रिचार्ज करके पूरे साल करें अनलिमिटेड बातें, मिलेगा 2GB डेटा भी)

WhatsApp ने इसपर कहा कि वह अपने यूज़र्स और ग्रुप इनवाइट्स की गूगल इंडेक्सिंग को रोकने के लिए ज़रूरी कदम उठा रहा है. WhatsApp ने गूगल से ऐसी चैट को सार्वजनिक नहीं करने के लिए कहा है और यूज़र्स को सार्वजनिक रूप से एक्सेसिबल वेबसाइटों पर ग्रुप चैट लिंक साझा नहीं करने की सलाह दी है.

आपको बता दें कि गूगल ने प्राइवेट वॉट्सऐप ग्रुप चैट्स के लिए इनवाइट लिंक को इंडेक्स किया था, जिसका मतलब है कि कोई भी आसानी से सर्च कर विभिन्न प्राइवेट चैट ग्रुप में शामिल हो सकता है. इंडेक्स वॉट्सऐप ग्रुप चैट लिंक को अब गूगल से हटा दिया गया है. वॉट्सऐप के प्रवक्ता ने बताया कि मार्च 2020 से WhatsApp ने सभी डीप लिंक पेजों पर नोइंडेक्स टैग (noindex tag) को शामिल किया है, जो उन्हें इंडेक्सिंग से बाहर कर देगा. वॉट्सऐप के प्रवक्ता ने कहा कि हमने गूगल को अपनी फीडबैक दी है कि इन चैट्स को इंडेक्स नहीं करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज