होम /न्यूज /तकनीक /क्या है वायरलेस चार्जर और कैसे करता फोन चार्ज? जानिए हर जरूरी बात

क्या है वायरलेस चार्जर और कैसे करता फोन चार्ज? जानिए हर जरूरी बात

फोन में कॉपर की कॉइल होती है जो वायरलेस चार्जिंग को सपोर्ट करता है.

फोन में कॉपर की कॉइल होती है जो वायरलेस चार्जिंग को सपोर्ट करता है.

वायरलेस चार्जिंग अब ट्रेंड में है. धीरे धीरे यूजर्स इसे अपना रहे हैं, इस्तेमाल करने से पहले ये जानना बहुत जरूरी है कि य ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

वायरलेस चार्जिंग से फोन को चार्ज करने के लिए इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन का इस्तेमाल किया जाता है.
इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन हवा में इलेक्ट्रिक एनर्जी को रिलीज करता है जिसकी मदद से फोन चार्ज होता है.
वायरलेस चार्जिंग के कारण फोन अधिक गर्म होता है इसलिए वायर चार्ज ज्यादा बेहतर है.

नई दिल्ली. टेक्नोलॉजी एक ऐसी चीज है जो लगातार अपडेट होती रहती है. अगर मोबाइल फोन की बात करें तो हमने इस बदलाव को महसूस किया है. एक छोटे से बटन वाले फोन से लेकर हाथ जितना बड़ा फोन तक का फासला हम सभी ने तय किया है. वहीं मोबाइल फोन के चार्जिंग की बात करें तो पहले एक पतले पिन का चार्जर होता था जिसे A टाइप चार्जर नाम दिया गया, फिर बी टाइप और अब सी टाइप चार्जर वाले फोन भी मार्केट में उपलब्ध हैं.

इन तीनों टाइप के बाद मार्केट में चार्जर का एक और टाइप है वो है वायरलेस चार्जर. वायरलेस चार्जिंग के बारे में आपने जरूर सुना होगा. अब नए नए फोन में ये फैसिलिटी दी जा रही है. लोगों को ये देखकर बहुत आश्चर्य होता है कि बिना वायर के फोन चार्ज कैसे होता है. आज हम आपको इसी के बारे में बताने वाले हैं कि वायरलेस चार्जर कैसे काम करता है.

कैसे काम करता है वायरलेस चार्जर
वायरलेस चार्जिंग अब ट्रेंड में है. धीरे धीरे यूजर्स इसे अपना रहे हैं, इस्तेमाल करने से पहले ये जानना बहुत जरूरी है कि ये चार्जर कैसे काम करता है. दरअसल वायरलेस चार्जिंग से मोबाइल फोन को चार्ज करने के लिए एक खास तरह की डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है. इसे इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन करते हैं. इसका ये मतलब है कि इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन हवा में इलेक्ट्रिक एनर्जी को रिलीज करता है. इस एनर्जी से ही फोन चार्ज होता है.

यह भी पढ़ें- काम की बात! क्या है iOS वर्जन की Passkeys? पासवर्ड से कितनी हैं अलग?

फोन कैसे चार्ज होता है
जैसे कि इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन को ऑन करने पर वे चारों तरफ मैग्नेटिक फील्ड तैयार करती है. उसी तरह मोबाइल फोन में कॉपर की कॉइल होती है, जो वायरलेस चार्जिंग को सपोर्ट करती है. मैग्नेटिक फील्ड मोबाइल फोन की कॉपर कॉइल से कनेक्ट होती है. मैग्नेटिक फील्ड से इलेक्ट्रिक एनर्जी तैयार होती है और इससे फोन की बैटरी चार्ज होने लगती है.

क्या वायरलेस चार्जिंग से फोन पर असर पड़ता है
वायरलेस चार्जिंग के कारण फोन अधिक गर्म होता है. कई फोन इस गर्माहट को बर्दाश्त नहीं कर पाते हैं तो ऐसे में फोन खराब होने के चांसेस बढ़ जाते हैं. इसलिए वायरलेस चार्जर के मुकाबले वायर चार्जर अधिक फायदेमंद है.

Tags: Tech news hindi, Tech News in hindi, Technology

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें