Women Special: इंस्टाग्राम पर अब महिला यूजर्स को नहीं होगी कोई परेशानी! पढ़ें ये दिशा-निर्देश

Instagram

Instagram

सोशल मीडिया सशक्तिकरण कर सकता है और हमारे सामने ऐसे अनगिनत तरीके हैं जिसके जरिए महिलाएं रचनात्मक ढंग से स्वयं को इंस्टाग्राम (Instagram) पर अभिव्‍यक्‍त कर रही हैं. वे समर्थन के लिए एक इकोसिस्टम का निर्माण कर रही हैं और अपने जुनून को एक जीवनशैली में भी बदल रही हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. सोशल मीडिया सशक्तिकरण कर सकता है और हमारे सामने ऐसे अनगिनत तरीके हैं जिसके जरिए महिलाएं रचनात्मक ढंग से स्वयं को इंस्टाग्राम (Instagram) पर अभिव्‍यक्‍त कर रही हैं. वे समर्थन के लिए एक इकोसिस्टम का निर्माण कर रही हैं और अपने जुनून को एक जीवनशैली में भी बदल रही हैं. पिछले साल ऐसे कई उदाहरण हमारे पास हैं जैसेकि- #SareeChallenge, #DontRushChallenge, #RedDotChallenge और #ActAgainstAbuse, #ChallengeAccepted. हालांकि, इन सबके बीच हेट स्पीच, ट्रोलिंग और डायरेक्ट मैसेज में नकारात्मक टिप्पणियां किसी व्यक्ति के ऑनलाइन अनुभव को खराब करने वाली हो सकती हैं.

ऐसे में इन 9 टूल्स की मदद से महिलाएं खुद को इंस्टाग्राम पर सुरक्षित रख सकती हैं.

  1. प्राइवेट अकाउंट: अपने अकाउंट को प्राइवेट अकाउंट में बदलने से आप यह नियंत्रित कर सकती हैं कि कौन आपके द्वारा पोस्ट किए गए कंटेंट को देख सकता है. प्राइवेट अकाउंट के जरिए आप किसी फॉलोअर्स को ब्लॉक किए बिना हटा सकती हैं. प्राइवेट अकाउंट होने की स्थिति में कोई भी व्यक्ति आपके कंटेंट को नहीं देख सकता हैं, जिसे उन्होंने अप्रूव नहीं किया है. इसके अतिरिक्त आप फॉलोअर्स को हटा सकते हैं, यह चुन सकते हैं कि कौन आपकी पोस्ट पर टिप्पणी कर सकता है। इसके साथ ही आप "शो एक्टिविटी स्टेटस" को ऑफ कर सकते हैं, और इसकी वजह से आपके किसी मित्र को आपके ऑनलाइन होने का पता नहीं चलेगा.

  2.  टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन: टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन के जरिए आप अपने अकाउंट के सिक्यॉरिटी लेवल को बढ़ा सकते हैं. इस फीचर के कारण जब आप किसी अज्ञात डिवाइस के जरिए अपने प्रोफाइल में लॉग इन करते हैं तो आपको एक एसएमएस सिक्योरिटी कोड की जरूरत होती है. यदि आप टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन को एक्टिवेट कर चुके हैं तो आपको प्रत्येक बार लॉग इन करने के दौरान एक विशेष लॉगिन कोड दर्ज करना होगा या लॉग इन प्रयास की पुष्टि करनी होगी. इस वजह से जब किसी अज्ञात डिवाइस से लॉग इन की कोशिश होगी तो आपको पता चल जाएगा. टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन को एक्टिवेट करने की कई विधियां हैं, जिसका उपयोग आप अपने इंस्टाग्राम अकाउंट में कर सकते हैं. टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन की प्रक्रिया आरंभ करने के लिए इनमें से किसी एक को चुनें:>>अपने मोबाइल फोन से मैसेज (एसएमएस) कोड भेजें.
    >>थर्ड पार्टी ऑथिंटिकेशन एप्‍प (जैसे ड्युओ मोबाइल या गूगल ऑथिंटिकेटर) से लॉग इन कोड.


    >> टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन का इस्तेमाल करने के लिए आपको इनमें से किसी एक का चयन करना होगा.

  3. करीबी दोस्तों के साथ साझा करें अपनी स्टोरी: आप इंस्टाग्राम पर करीबी दोस्तों की एक लिस्ट बना सकती हैं और उन्हीं के साथ अपनी स्टोरी साझा कर सकती हैं. आप इनमें से किसी को हटा सकती हैं या नए दोस्तों को जोड़ सकती हैं. सबसे अच्छी बात यह है कि ऐसा करने के दौरान संबंधित व्यक्ति को किसी तरह का कोई नोटिफिकेशन भी नहीं जाएगा.

  4. कमेंट को फिल्टर करें: इंस्टाग्राम आपको यह नियंत्रित करने की सुविधा देता है कि आप यह तय कर सकें कि कौन सा कमेंट ऑफेंसिव (आक्रामक) या डराने-धमकाने वाला है. ऐप में ऐसे कई बिल्ट फीचर्स हैं जो स्वत: ही आक्रामक शब्दों और फ्रेज एवं डराने-धमकाने वाली टिप्पणियों को हटा देता है. आप भी चाहें तो ऐसे शब्दों और इमोजी की सूची बना सकती हैं, जिन्हें आप अपने कमेंट सेक्शन में नहीं देखना चाहती हैं। इसके लिए आपको पोस्ट के कमेंट कंट्रोल सेक्शन में ‘फिल्टर्स’ का इस्तेमाल करना होगा.

  5. आपको कौन टैग या मेंशन कर सकता है, इसका चुनाव करें: टैग्स और मेंशन का इस्तेमाल कर किसी को डराया-धमकाया या उसे निशाना बनाया जाता है. इसलिए इंस्टाग्राम ने नए कंट्रोल को लॉन्च किया है जिसकी मदद से आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि कौन आपको टैग या मेंशन करे. आप इसके तहत प्रत्येक व्यक्ति, केवल वह व्यक्ति जिसे आप फॉलो करती हैं या कोई भी आपको टैग या मेंशन नहीं करे का विकल्प चुन सकती हैं.

  6. जिसे आप अपना पोस्ट नहीं दिखाना चाहती तो उसे ब्लॉक करने की सुविधा: अगर आपके पास अपना प्राइवेट अकाउंट नहीं है तो भी आप यह तय कर सकती हैं कि इंस्टाग्राम पर कौन आपको देख और फॉलो कर सकता है. ब्लॉकिंग टूल की मदद से ऐसा किया जा सकता है. किसी अकाउंट को ब्लॉक करने के लिए अकाउंट प्रोफाइल में जाएं और ऊपर दाहिनी तरफ मेन्यु में  ‘.......’ ओपन करें और फिर ‘ब्लॉक यूजर’ पर क्लिक करें.

  7. प्रतिबंधित करना: आप सेटिंग में प्राइवेसी टैब के जरिए किसी के कमेंट पर लेफ्ट स्वाइप करने पर रोक लगा सकते हैं या फिर आप किसी प्रोफाइल के साथ भी ऐसा कर सकते हैं जिसे आप प्रतिबंधित करना चाहती हैं. एक बार प्रतिबंधित किए जाने के बाद आपके किसी पोस्ट पर उस व्यक्ति के द्वारा किए गए कमेंट, जिसे आपने प्रतिबंधित किया है, सिर्फ उसे ही दिखाई देगा. ‘सी कमेंट’ टैप कर आप कमेंट्स को देख सकती हैं और उसे अप्रूव कर सकती हैं या फिर डिलीट कर सकती हैं. आपको प्रतिबंधित अकाउंट की तरफ से किए गए कमेंट के बारे में कोई नोटिफिकेशन नहीं मिलेगा.

  8. आपको कौन मैसेज कर सकता है, इसके लिए डीएम कंट्रोल: जिनके पास क्रिएटर या बिजनेस अकाउंट है, उनके पास यह चुनने का विकल्प होता है कि कौन उन्हें डीएम (डायरेक्ट मैसेज) कर सकता है.

  9. किसी भी दुर्व्यवहार, डराने-धमकाने , उत्पीड़न या नकल की रिपोर्ट करें: यदि आपको कुछ संदिग्ध या ऐसा पोस्ट दिखाई देता है जो आपको लगता है कि हमारे दिशानिर्देशों का उल्लंघन करता है तो इसकी रिपोर्ट करें. कोई भी व्यक्ति इंस्टाग्राम पर प्रोफाइल/अकाउंट से किए गए पोस्ट, कमेंट, डीएम, लाइव्स, स्टोरीज, आइजीटीवी, और रील्‍स तक की सामग्री के बारे में रिपोर्ट कर सकता है.


ये भी पढ़ें-  Microsoft लाया कमाल का फीचर, ग्रुप मीटिंग या बातचीत को तुरंत कर सकेंगे ट्रांसक्रिप्शन और ट्रांसलेशन, जानें कैसे करेगा यह काम?

आइए जानते हैं कैसे :
>> कमेंट को रिपोर्ट करने के लिए लेफ्ट स्वाइप करें और एरो को टैप करें.
>> किसी पोस्ट विशेष या अकाउंट को रिपोर्ट करने के लिए मेन्यु में ‘......’ पर क्लिक करें और ‘रिपोर्ट’ करें.
>>आप ऑनलाइन यह फॉर्म भरकर भेज सकते हैं. आपके फॉर्म की इंस्टाग्राम टीम समीक्षा कर यह निर्णय लेगी कि कमेंट, पोस्ट या अकाउंट को ब्लॉक किया सकता है या नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज