होम /न्यूज /तकनीक /30 साल पहले भेजा गया था दुनिया का पहला SMS, किसने किस फोन से सेंड किया और क्या था मैसेज? यहां जानें

30 साल पहले भेजा गया था दुनिया का पहला SMS, किसने किस फोन से सेंड किया और क्या था मैसेज? यहां जानें

प्रतीकात्मक तस्वीर.

प्रतीकात्मक तस्वीर.

क्या आपने कभी सोचा है कि पहला SMS क्या रहा होगा, किसने और कब किया गया होगा? आपको बता दें कि इसमें क्रिसमस की शुभकामना द ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

इसे वोडाफोन इंजीनियर नील पापवोर्थ (Neil Papworth) ने कंप्‍यूटर से सेंड किया था.
पहला एसएमएस ऑर्बिटल 901 हैंडसेट ( Orbitel 901 handset) पर भेजा गया था.
SMS टेक्नोलॉजी टेक्स्ट को एलेक्ट्रिकल सिग्नल में कन्वर्ट करती है.

नई दिल्ली. मोबाइल फोन के आने के साथ SMS का भी ट्रेंड तेजी से बढ़ा था. लोग कॉलिंग करने के बजाए टेक्स्टिंग के ज़रिए ही कम्यूनिकेट कर लेते थे. उस समय SMS पैक रिचार्ज का अलग से प्लान पेश किया जाता है, जिसके ज़रिए बहुत कम कीमत में SMS भेजने की अनुमति मिलती थी. उस दौर के लोगों को SMS की अहमियम खूब पता होगी. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि पहला SMS क्या रहा होगा, किसने और कब किया गया होगा?

पता चला है कि पहले SMS को वोडाफोन इंजीनियर नील पापवोर्थ (Neil Papworth) ने कंप्‍यूटर से अपने दूसरी साथी रिचर्ड जारविस (Richard Jarvis) को भेजा था. रिचर्ड जारविस तब कंपनी के डायरेक्‍टर थे. उनको ये एसएमएस ऑर्बिटल 901 हैंडसेट ( Orbitel 901 handset) पर भेजा गया था. अब आपको बताते हैं कि इस मैसेज में आखिर क्या लिखा गया था? आपको बता दें कि इसमें क्रिसमस की शुभकामना दी गई थी. इसमें मेरी क्रिसमस लिखा गया था.

(ये भी पढ़ें- WhatsApp पर कैसे बंद करें Reactions के नोटिफिकेशन? काफी आसान है तरीका

इस मैसेज में 14 कैरेक्टर्स का इस्तेमाल किया गया था. इसे 1992 में भेजा गया था. आपको बता दें कि दुनिया का सबसे पहला टेक्स्ट मैसेज वोडफोन द्वारा भेजा गया था. SMS का कॉन्सेप्ट सबसे पहले 1984 में फ्रेंको-जर्मन GSM सहयोग में फ्रेडेलम हिलरब्रांड और बर्नार्ड घिलेबर्ट द्वारा बनाया गया था.

जार्विस के पास ऑर्बिटेल 901 नाम का बाजार का लेटेस्ट फोन था जिस पर उन्हें ‘मेरी क्रिसमस’ का मैसेज मिला. हालांकि, उन्होंने मैसेज का जवाब नहीं दिया.

(ये भी पढ़ें- बहुत काम की हैं Microsoft Word की ये सीक्रेट टिप्स, काम हो जाएगा आसान)

कैसे काम करती है SMS टेक्नोलॉजी?
SMS टेक्नोलॉजी टेक्स्ट को एलेक्ट्रिकल सिग्नल में कन्वर्ट करती है, और किसी पास वाले टावर को सेंड करती है. फिर उसके बाद वह SMS सेंटर पर पहुंचता है. फिर ये रिसीवर के करीब वाले टावर में पहुंचता है, और आखिर में टावर उस मैसेज को रिसीपिएंट के डिवाइस पर सेंड कर देता है.

Tags: Mobile Phone, Tech news, Tech news hindi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें