लाइव टीवी

इंतज़ार खत्म! Xiaomi, Oppo और Vivo ने मिलाया हाथ, एंड्रॉयड यूज़र्स को दी Apple की तरह ये धांसू सर्विस

News18Hindi
Updated: January 4, 2020, 9:40 AM IST
इंतज़ार खत्म! Xiaomi, Oppo और Vivo ने मिलाया हाथ, एंड्रॉयड यूज़र्स को दी Apple की तरह ये धांसू सर्विस
जानें क्या है एंड्रॉयड यूज़र्स के लिए यह खास सर्विस, जिससे फाइल ट्रांसफर करना बहुत आसान हो जाएगा...

जानें क्या है एंड्रॉयड यूज़र्स के लिए यह खास सर्विस, जिससे फाइल ट्रांसफर करना बहुत आसान हो जाएगा...

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2020, 9:40 AM IST
  • Share this:
फोन बनाने वाली तीन चाइनीज़ कंपनियां एक ऐसी सर्विस ला रही हैं, जिसका शायद हर एंड्रॉयड यूज़र (android user) को इंतज़ार है. ओप्पो (Oppo),  वीवो (Vivo) और शियोमी (Xiaomi) एंड्रॉयड फोन (Android Phone) के बीच फाइल ट्रांसफर (File transfer) करने के लिए फास्ट मोड (Fast Mode) लाने की तैयारी में हैं. इसके लिए तीनों कंपनियों ने हाथ मिलाया है. पिछले साल इन तीनों कंपनियों ने इस बात की घोषणा की थी कि वह एक साथ ‘Inter-Transfer Alliance Group’ वेंचर लाने पर काम कर रही हैं.

इस वेंचर का हिस्सा होने के साथ शियोमी, ओप्पो और वीवो ‘Peer-to-Peer Transmission Alliance’ का हिस्सा होगा, जिससे इनके डिवाइसेज़ को ऐपल Airdrop की तरह फास्ट फाइल ट्रांसफर टेक्नोलॉजी मिलेगी.

(ये भी पढ़ें-Airtel दे रहा है iPhone 11 Pro Max जीतने का मौका, 7 जनवरी तक है ऑफर)



काफी समय से चल रही बीटा टेस्टिंग के बाद अब यह फास्ट फाइल ट्रांसफर टेक्नोलॉजी का स्टेबल वर्जन ग्लोबली रोलआउट हो गया है.

क्या है यह नई सर्विस
इस टेक्नोलॉजी के तहत इन ब्रांड्स के स्मार्टफोन्स बिना किसी थर्ड पार्टी ऐप के आपस में 20 MB/s की स्पीड से आपस में फाइल ट्रांसफर कर सकेंगे. इससे यूज़र्स को बिना किसी परेशानी के मीडिया ट्रांसफर एक्सपीरिएंस मिलेगा. यह कई फाइल फॉर्मेट्स को सपोर्ट करेगा, जिसमें फोटोज़, वीडियोज़, गाने और डाक्यूमेंट्स शामिल हैं.(ये भी पढ़ें- बुरी खबर! 31 जनवरी के बाद से इस ऐप का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे भारतीय यूज़र्स) 



यह टेक्नोलॉजी फास्ट पेयरिंग और ट्रांसफर स्पीड के लिए ब्लूटूथ और Wifi P2P के कॉम्बिनेशन का इस्तेमाल करेगी, तो ऐसे में ध्यान रहे कि आपके फोन में Wifi और Bluetooth दोनों Enable हो.

(ये भी पढ़ें- करोड़ों मोबाइल यूज़र्स के लिए बड़ी खबर! फोन में बिना नेटवर्क के भी कर सकते हैं कॉल, जानें कैसे)

जानकारी के मुताबिक यह टेक्नोलॉजी पहले फोन में फरवरी 2020 में देखने को मिलेगी, जिसके बाद ही पता चलेगा कि यह Apple के Airdrop की तरह आरान से काम करती है या नहीं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गैजेट्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 4, 2020, 9:01 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर