Instagram, Youtube के 23.5 करोड़ यूज़र्स का डेटा खतरे में! लीक हो गई फोटो, फोन नंबर और अड्रेस

Instagram, Youtube के 23.5 करोड़ यूज़र्स का डेटा खतरे में! लीक हो गई फोटो, फोन नंबर और अड्रेस
Instagram, Youtube और TikTok के 23.5 करोड़ यूज़र्स का डेटा लीक हो गया है

रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि लीक हुए डेटा में मौजूद हर पांच रिकॉर्ड में से एक में यूज़र का फोन नंबर, अड्रेस, प्रोफाइल नेम, फुल रियल नाम, प्रोफाइल फोटो, अकाउंट डिस्क्रिप्शन के साथ फॉलोअर्स की संख्या और लाइक्स के सारी डीटेल भी मौजूद हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2020, 11:51 AM IST
  • Share this:
गूगल के यूट्यूब, (Youtube) फेसुबक के इंस्टाग्राम (instagram) और बाइटडांस के टिकटॉक (TikTok) को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है. पता चला है कि इन तीनों प्लैटफॉर्म के करीब 23.5 करोड़ यूज़र्स का डेटा लीक हो गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, यूज़र्स के पर्सनल प्रोफाइल (personal profile) के डेटा को डार्क वेब पर बेच दिया गया है. प्रो-कंज्यूमर वेबसाइट Comparitech के सिक्योरिटी रिसर्चर ने कहा इस डेटा ब्रीच के पीछे ‘unsecured data’ है. फोर्ब्स की रिपोर्ट में सिक्यॉरिटी रिसर्चर्स के हवाले से कहा गया है कि लीक हुआ डेटा अलग-अलग डेटासेट्स पर पहुंच चुका है.

इनमें से जो दो सबसे खास डेटा सेट हैं उन पर लगभग 10 करोड़ यूज़र्स का डेटा सेव है. इसमें उन यूज़र्स के भी प्रोफाइल हैं जिन्हें इंस्टाग्राम से हटा दिया गया है. तीसरा सबसे बड़ा डेटा सेट 4.2 करोड़ टिकटॉक यूज़र्स का था, इसके बाद लगभग 40 लाख डेटा सेट YouTube यूज़र्स की प्रोफाइल थी. रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि इनमें मौजूद हर पांच रिकॉर्ड में से एक में यूज़र का फोन नंबर, अड्रेस, प्रोफाइल नेम, फुल रियल नाम, प्रोफाइल फोटो, अकाउंट डिस्क्रिप्शन के साथ फॉलोअर्स की संख्या और लाइक्स के सारी डीटेल भी मौजूद हैं.

(ये भी पढ़ें- Samsung के इन 7 धांसू स्मार्टफोन्स पर पाएं भारी छूट! शुरुआती कीमत 7,699 रुपये)



Comparitec के एडिटर Paun Bischoff ने कहा कि स्पैमर्स और साइबर क्रिमनल्स के लिए ये जानकारियां काफी काम की हैं, जिससे वह फिशिंग कैंपेन चलाते हैं. रिसर्चर्स के मुताबिक लीक डेटा के पीछे डीप सोशल नाम की एक कंपनी का हाथ है, जिसने 2018 में फेसबुक और इंस्टाग्राम यूजर्स के प्रोफाइल को स्क्रैप करने के बाद बैन कर दिया था. हालांकि कंपैरिटेक की रिपोर्ट में कहा गया है कि सोशल डेटा ने डीप सोशल के साथ किसी भी तरह के कनेक्शन से इनकार कर दिया है.
कंपैरिटेक ने बताया कि डेटा मार्केटिंग कंपनी सोशल डेटा ने रिपोर्ट किए जाने के बाद अनसिक्यॉर्ड डेटा बेस को बंद कर दिया था. इस महीने की शुरुआत में ही ShinyHunters नाम के हैकर ग्रुप ने 18 कंपनियों के 38.6 करोड़ यूज़र्स के डेटा की चोरी की थी.  ब्लीपिंग कंप्यूटर की मानें को शाइनी हंटर्स ने इस डेटाबेस को एक फोरम पर अपलोड कर दिया था जहां से कोई भी फ्री में डाउनलोड कर सकता था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज